Home वूमेन ख़बरें अरेंज मैरिज बनी सुंदरता का पैमाना? 90 प्रति महिलाएं रिजेक्शन की...

अरेंज मैरिज बनी सुंदरता का पैमाना? 90 प्रति महिलाएं रिजेक्शन की शिकार


अरेंज मैरिज सुंदरता का पैमाना बनती जा रही है? जानें

‘इंडिया ब्यूटी टेस्ट’ नाम के इस सर्वे में 1057 महिलाओं ने भाग लिया। स्टडी में यह बात सामने आई कि 68 प्रति महिलाओं को रिजेक्शन (ठुकराए जाने) की वजह से आत्म सम्मान और आत्म विश्वास को काफी ठेस पहुंची।

  • News18Hindi
  • आखरी अपडेट:27 फरवरी, 2021, 2:05 PM IST

अरेंज मैरिज (पारंपरिक विवाह) में अक्सर गोरी दुल्हनें पसंद की जाती हैं। टाइम्स ने एक ब्यूटी ब्रांड की स्टडी का हवाला देते हुए यह रिपोर्ट छापी है। इस स्टडी में यह बात सामने आई कि कई महिलाओं की पतली, लंबी और गोरी ‘के पैमाने के कारण उनके शरीर को लेकर भ्रम की शिकार हो जाती हैं।

‘इंडिया ब्यूटी टेस्ट’ नाम के इस सर्वे में 1057 महिलाओं ने भाग लिया। स्टडी में यह बात सामने आई कि 68 फीसदी महिलाओं को रिजेक्शन (ठुकराए जाने) की वजह से आत्म सम्मान और आत्म विश्वास को काफी ठेस पहुंची और 74 फीसदी महिलाओं ने माना कि यह अरेंज मैरिज में उनपर खूबसूरत दिखने की काफी हद तक थी। साथ ही इतनी ही महिलाओं ने माना कि सुन्दरता के पैमाने पर खरा न उतर पाने के कारण उन्हें रिजेक्शन का सामना करना पड़ा।

यह भी पढ़ें: प्यार की तलाश में लोग हैं! क्या शादी से उठ गया है विश्वास?

ऑनलाइन मौजूद आंकड़ों पर अगर नज़र डालें तो भारत में होने वाली 90 प्रतिशत शादियां अरेंज मैरिज (पारंपरिक विवाह) ही हैं। और यहां जो मैच है वह या तो लोग द्वारा आसानी से जाते हैं या किसी वेबसाइट या कंपनी द्वारा। यहां पर मैच मेकिंग का फॉर्मूला भी खूबसूरती की तरह त्वचा का रंग, लम्बाई और वजन में ही होता है। स्टडी में मैचमेकर्स वेबसाइट / कंपनी और लोगों की गहराई से पड़ताल की गई है। जैसे, अगर किसी लड़की के छोटे बाल हैं तो 1000 मामले में केवल 1 या 2 के ही चुने जाने के अवसर हैं। ऐसे ही एक मैच मेकर ने बताया कि एक मामले में छात्रवृत्ति वर की मां का कहना था- लड़की गोरी होनी चाहिए, चेहरा गोल होना चाहिए, नाक लम्बा होना चाहिए, लंबे बाल होने चाहिए। खिंचाव फेस (वी शेप फेस) बिलकुल नहीं चलेगा।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments