Home देश की ख़बरें अस्त हुआ देश का सितारा: हिम के लौह द्वार माइकल किंडो का...

अस्त हुआ देश का सितारा: हिम के लौह द्वार माइकल किंडो का निधन; 1975 का विश्व कप जीतने वाली टीम के लिए खिलाड़ी थे


  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • हॉकी के आयरन गेट माइकल किंडो ने आयु 76 में मृत्यु हो गई; 1975 में हॉकी विश्व कप जीतने वाली टीम के प्रमुख खिलाड़ी

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राउलकेला25 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

माइकल किंडो सेना में अपनी सेवा दे चुके थे। (फाइल फोटो)

1975 में हॉकी विश्व कप जीतने वाली टीम के अहम खिलाड़ी रहे माइकल किंडो का गुरुवार को निधन हो गया। वे अर्जुन अवार्ड से सम्मानित थे। राउरकेला के IGH अस्पताल में उन्होंने शाम 3 बजे आखिरी सांस ली। किंडो हॉकी के दिग्गज खिलाड़ियों में शुमार थे। वह कई ऐतिहासिक जीत जीतने वाली टीम का हिस्सा रही। उन्हें हिल का आयरन गेट कहा जाता था।

आंतरिक टोपी में किंडो का सफर

  • 1975 विश्वकप में स्वर्ण पदक विजेता भारतीय हॉकी टीम के सदस्य
  • 1972 ऑल्ट का कांस्यल
  • 1971 विश्व कप में कांस्य पदक
  • 1973 विश्व कप में रजत पदक
  • 1973 में ही एशियन गेम, एशिया कप, कॉमनवेल्थ गेम सहित दुनिया के सभी बड़े प्रतियोगिता में किंडो ने भारतीय टीम का मुकाबला किया था।

झारखंड के रहने वाले थे, सेना में नौकरी करते हुए टीम में पहुंचे
माइकल किंडो का जयंम झारखंड के सिमडोंग जिले के कुरडेग ब्लॉक में आने वाले बैघमा गांव में हुआ था। वे सेना में नौकरी करते हुए भारतीय टीम तक पहुंचे थे। सेना से रिटायरमेंट के बाद सेल राउरकेला में वे हिल की ट्रेनिंग देते थे। यहां उन्हें प्रशिक्षण लेने वाले कई खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर पर अच्छे मुकाम बना चुके हैं।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments