Home वूमेन ख़बरें आपको भी आता है जियादा गुस्सा? इन 6 टिप के साथ...

आपको भी आता है जियादा गुस्सा? इन 6 टिप के साथ मदद करें


गुस्सा नियंत्रक करने के लिए आवश्यक कुछ बदलाव हैं। चित्र: एंड्रिया-पियाक्वाडियो / Pexels

धड़ से कई बार संबंध (संबंध) भी टूट जाते हैं, तो वहाँ यह हमारी सेहत (स्वास्थ्य) के लिए भी हानिकारक है। ऐसे में अपने फर (गुस्से) को नियंत्रित करने के लिए खुद में कुछ बदलाव करना होगा।

कई बार अपने मन का काम न होने पर हमें बहुत गुस्सा (गुस्सा) आता है। या जब अपने पार्टनर (साथी) से किसी बात पर कहासुनी हो जाए तब भी गुसासा कंट्रोल करना मुश्किल होता है। लेकिन यह गुस्सा हमें कई तरह से नुकसान पहुंचा सकता है। धड़ से जहां कई बार संबंध (संबंध) टूट जाते हैं तो वहीं यह हमारी सेहत (स्वास्थ्य) के लिए भी हानिकारक है। वहीं जिन लोगों को ज्यादा गुस्सा आता है, वे अवसाद, अनिद्रा, सिरदर्द और भूख न लगना जैसी परेशानियों का शिकार भी हो सकते हैं। इसलिए बेहतर है कि फर को नियंत्रक करने के लिए खुद में कुछ बदलाव करें। ये टिप आपके गुस्से को नियंत्रित करने में काफी मददगार हो सकती हैं-

सकारात्मक दिशा में सोच
जब बहुत तेज गुस्सा आया तो किसी की सकारात्मक दिशा में सोचने की कोशिश करें। कौन क्या कह रहा है, किसने कहा इस सब पर धयान न लेट। इससे आपका गुस्सा शांत हो जाएगा।

ये भी पढ़ें – वर्क प्लेस पर चाहते हैं चाहे इंप्रेशन हो, तो आपके लिए बहुत काम के हैं ये टिप हैंऐसे करें कंट्रोल

कई बार गुस्सा संबंध के बीच दीवार खड़ी करने और उनके टूटने का सबब भी बन सकता है। इसलिए इससे दूरी बनाएं और जब एंगर आए तो यह कंट्रोल करने के लिए मन ही मन 10 से लेकर 1 तक उलटी गिनती गिनें।

शांत रहें और गहरी सांस लें
फर में हार्ट बीट काफी बढ़ जाता है। ऐसे में गहरी सांस लें जिससे आपके सभी इंदियों को आराम मिले। इससे दिमागी तनाव कम होगा और आपको गुस्सा ओवर करने में मदद मिलेगी।

गहराई से सोच
एक बार जब आपने अपने फर पर थोड़ा नियंत्रण कर लिया तो शांत दिमाग से सोचें कि मुद्दा क्या था, गलती किसकी थी और अब आगे क्या करना चाहिए। इससे फायदा यह होगा कि आपको पूरे मामले में अपनी गलती भी समझ में आ जाएगी।

कुछ सतर्कता खुद के साथ बिताए
जब गुस्सा आया तो कुछ देर खुद के साथ बिताए यानी अकेले रहो और गुस्से का कारण तलाशने की कोशिश करो। याद रखिए फेर से हम अपना नुकसान करते हैं। इसलिए इसे दूर करने में पूर्ण ध्याना लगता है।

ये भी पढ़ें – विलियमसन के साथ खेलने के लिए दोस्ति का पुनरावृत्ति, बढ़ेगी निकटता

अच्छी नींद जरूर लें
कई बार गुस्सा आने के पीछे अधूरी नींद भी जिम्मेदार हो सकती है। कई बार नींद पूरी न होने की वजह से बात-बात पर हम चिड़चिड़ाते हैं और खीज दूसरों पर निकालते हैं। इसलिए बेहतर है कि अच्छी नींद लें। (अस्वीकरण: इस लेख में दी गई जानकारी और सूचना सामान्य जानकारी पर आधारित हैं। हिंदी न्यूज़ 18 इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments