Home मध्य प्रदेश इंदौर में उत्साह का टीका: वैक्सीन लगवाने 1 घंटा पहले पहुंचे बुजुर्ग,...

इंदौर में उत्साह का टीका: वैक्सीन लगवाने 1 घंटा पहले पहुंचे बुजुर्ग, कई अस्पतालाें में भीड़ उमड़ी, पीसी सेठी में पुलिस ने संभाला मोर्चा, टीके की तय संख्या में ही पूरी तरह से हुई।


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इंदौर39 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

टीका लगवाने के लिए इस प्रकार से बुजुर्ग अस्पताल में लाइन लगाकर बैठे हुए।

कोविड -19 टीकाकरण कार्यक्रम के तहत तीसरे चरण में अब 60 साल से अधिक उम्र और गंभीर बीमारी से पीड़ित 45 साल से ज्यादा लोगों को टीका लगाया जा रहा है। बुधवार सुबह 9 बजे से जिले के 12 केंद्रों पर वैक्सीनेशन का काम शुरू हुआ। लेकिन केक लगवाने को लेकर बुजुर्गों में उत्साह इतना ज्यादा है कि वे एक घंटे पहले ही अस्पताल पहुंचकर लाइन में लग गए। कई अस्पतालों में तो ऐसी स्थिति हो रही है कि भीड़ इतनी बढ़ गई है कि पुलिस ने मोर्चा संभाला और बुजुर्गों को समझने की कोशिश की। इसके पहले सोमवार को 10 केंद्रों पर कुल 1357 लोगों को टीके लगाए गए थे।

सुबह से ही बुजुर्ग टीका लगवाने अस्पताल पहुंच गए थे।

सुबह से ही बुजुर्ग टीका लगवाने अस्पताल पहुंच गए थे।

बुधवार सुबह एमवाय, पीसी सेठी, भंडारी अस्पताल सहित 12 केंद्रों पर वैक्सीनेशन का काम शुरू हुआ। कोरोना के एक बार फिर से बढ़ते प्रकोप को देखते हुए बुजुर्ग बड़ी संख्या में वैक्सीनेशन के लिए पहुंच रहे हैं। शासकीय अस्पतालों में जहाँ नि: शुल्क शुल्क लगाया जा रहा है। वहीं, निजी अस्पतालों में इसके लिए 250 रुपए चार्ज किए जा रहे हैं। सुबह-सुबह एमवाय हो, पीसी सेठी अस्पताल हो, वर्मा यूनियन हो या फिर भंडारी अस्पताल हो। हर जगह पर हाउस फुल नजर आए। यहां पर टीका लगवाने पहुंचे बुजुर्गों को संभालना मुश्किल हो रहा था। पीसी सेठी में जहां दो जवानों ने व्यवस्था संभाली। वहीं, भंडारी अस्पताल में स्टाफ ने मोर्चा संभाला। उनका कहना था कि सुबह पहले घंटे में ही 250 से 300 लोगों को लगवाने पहुंच गए थे। इसमें से कुछ पंजीकरण करवाकर आए थे तो कुछ बिना पंजीकरण के ही थे। उन्हें बड़ी मुश्किल से समझाकर घर छोड़ दिया गया।

वर्मा यूनियन के बाहर लंबी कतार देखने को मिली।

वर्मा यूनियन के बाहर लंबी कतार देखने को मिली।

आधार कार्ड और बीमारी की पर्ची जारी रखना
कोविंद वैक्सीन 60 प्लस और गंभीर बीमारी वालों को लगाया जा रहा है। ऐसे में टीका लगवाने आ रहे लोग अपने साथ आधार कार्ड और बीमारी के दस्तावेज भी लेकर आ रहे हैं। यहां पर जो डायबिटिज, हार्ट या किडनी जैसी बीमारी से पीड़ित हैं, उन्हें टीका लगाया जा रहा है। सीएमएचओ डॉ। प्रवीण जड़िया ने बताया कि बुधवार को दो केंद्र बढ़ाकर 12 कर दिए गए हैं। टीके को लेकर बुजुर्गों में खासा उत्साह देखा जा रहा है। बड़ी संख्या में लोगoc लगवाने आ रहे हैं। सभी को बारी आने पर टीका लगाया जाएगा। अस्पताल के संसाधन के अनुसार टीका लगाने की संख्या निर्धारित की गई है। कहीं, 250 तो कहीं 500 की संख्या निर्धारित की गई थी। हालांकि बुधवार का तय की गई संख्या तो दोपहर होते-होते पूरी हो गई थी। इसके बाद भक्ति के बारे में फिर से संख्या बढ़ाई गई। वर्मा संघ में तो दोपहर में ही लगभग 500 बुजुर्गों को लगवा चुके थे। वहीं, भंडारी में 250 बुजुर्गों को टीका लगाया गया था।

डॉ।  मनोज भटनागर ने पूछालाल चुरिया अस्पताल में टीका लगाया गया।

डॉ। मनोज भटनागर ने पूछालाल चुरिया अस्पताल में टीका लगाया गया।

केंद्र की जरूरत है
जिले में 60 साल से अधिक और को-मोर्बडाइन (एक से अधिक रोग वाली स्थिति) वाले लोगों की संख्या साढ़े आठ लाख मानी जा रही है। गौरतलब है कि लगभग 70 हजार हेल्थ वर्कर्स और एयरलाइन वर्कर्स का टीकाकरण करने में डेढ़ महीने का समय लगा दिया जाता है। अब उन्हें दूसरा डोज लगाया जा रहा है। इसके बाद सीनियर सिटीजंस को भी बुस्टर डोज की बारी आएगी। इसके लिए टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाना होगी। दूसरे दिन भी बुजुर्गों में टीका लगवाने को लेकर ना केवल जागरूकता नजर आई, बल्कि उत्साह भी नजर आया।

भारती शुक्लाके लगवाने के बाद रसीद दिखाती हुईं।

भारती शुक्लाके लगवाने के बाद रसीद दिखाती हुईं।

ऐसे करें पंजीकरण
हितग्राही ओपन इंस्टर्स के माध्यम से स्वयं के मोबाइल में COWIN-2.0 एप्स डाउनलोड कर सीधा पंजीकरण कर सकते हैं। को विभाजित टीकाकरण केंद्रों में वैक्सीनेशन ऑनलाइन पंजीकरण रिजर्व स्लॉट और ओपन स्लॉट के माध्यम से किया जाएगा। शासकीय स्वास्थ्य सुविधाओं में टीकाकरण मुफ्त रहेगा और निजी अस्पतालों में अधिकतम 250 रुपये प्रति व्यक्ति भुगतान करना होगा।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments