Home देश की ख़बरें इटावा: पंचायत चुनाव से पहले लंबे समय से जमी अफसरों को हटाने...

इटावा: पंचायत चुनाव से पहले लंबे समय से जमी अफसरों को हटाने की मांग, कांग्रेस ने लगाए आरोप


सेंडेकटिक फोटो।

पंचायत चुनाव 2021: उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव की आहट के साथ ही कई तरह के आरोप और प्रत्यारोपों का दौर चल रहा है। कांग्रेस ने इटावा में वर्षों से जमे अधिकारियों को हटाने की उठाई मांग।

इटावा। उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव (यूपी पंचायत चुनाव) की आहट के साथ ही कइयों तरह के आरोप और प्रत्यारोपों का दौर चल पड़ा है। कहीं अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग तो कहीं तीन तीन चार चार साल से जमे अधिकारियों को हटाने की मांग की जा रही है। समाजवादी गढ़ इटावा से भी एक ऐसी ही माँग सामने आयी है, जिसमें ऐसा कहा जा रहा है कि तीन और चार साल से सभी अधिकारियों को निष्पक्ष चुनाव के मद्देनर तत्काल प्रभाव से बचा लिया जाए। यह मांग कांग्रेस पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष उदयभान सिंह यादव ने की है।

कांग्रेस नेता यादव ने राज्य निर्वाचन आयुक्त के नाम पर अपने पत्र में इस बात का जिक्र किया है कि इटावा में निष्पक्ष चुनाव के लिए पिछले तीन चार वर्षों से जमे हुए अधिकारियों को पंचायत चुनाव से पहले चुना जाना बेहद जरूरी है। उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की कभी भी घोषणा हो सकती है। पंचायत चुनाव से संबंधित मतदाता सूची, आरक्षण प्रकिया चल रही है, जिसमें कई अधिकारियों की ड्यूटी लगाई जाती है, लेकिन जनपद में कुछ ऐसे प्रशासन और पुलिस के अधिकारी हैं, जो 3-4 सालो से फस चुके हैं और उनमें भी पंचायत चुनाव कार्य शामिल हैं: किया जा रहा है।

उदयभान ने ये तर्क दिए

उदयभान ने तर्क दिया है कि राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देश के अनुसार भी तीन साल से अधिक समय से तैनात अधिकारी पंचायत चुनाव से अलग चलेंगे। इसके बावजूद जनपद में अधिकारियों को पंचायत चुनाव में लगाया गया है। नियमों के मुताबिक इनका जनपद से बाहर तबादला होना चाहिए और जब तक तबादला हो जाए तो चुनाव कार्य से पृथक रख दिया जाए। उन्होंने कहा कि इटावा में अभी तक पंचायत चुनावों से जुड़े कई अफसर वर्षों से यहां पर जमे हैं, उन अधिकारियों को पंचायत चुनाव कार्य से दूर रखने के लिए तबादले किए जाएं। इसलिए पंचायत चुनाव की निष्पक्षता और विस्तार बना रहा। साथ ही पंचायती राज अधिनियम का जो उद्देश्य है उसका अनुपालन संभव है।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments