Home ब्लॉग इनवेस्टमेंट इन जीबीपी: डिजिटल गोल्ड में निवेश करने से पहले इस पर...

इनवेस्टमेंट इन जीबीपी: डिजिटल गोल्ड में निवेश करने से पहले इस पर लगने वाले टैक्स और कितने पैसे लगाना चाहिए


  • हिंदी समाचार
  • व्यापार
  • सोना ; डिजिटल गोल्ड; सोने में निवेश; गोल्ड ईटीएफ; डिजिटल गोल्ड में निवेश करने से पहले टैक्स और कितना पैसा होना चाहिए

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्लीकुछ ही पल पहले

  • कॉपी लिस्ट

हमारे देश में गोल्ड में निवेश करने वाले लोगों को काफी पसंद है। चीन के बाद भारत दुनिया में सोने का सबसे बड़ा बाजार है। सोने में निवेश को एक सुरक्षित इन्वेस्टमेंट के तौर पर देखा जाता है। आज कल लोग डिजिटल गोल्ड में काफी निवेश कर रहे हैं। अगर आप भी इन दिनों डिजिटल गोल्ड में निवेश करने का प्लान बना रहे हैं तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।

कहां करना है निवेश इसका ध्यान रखें
डिजिटल गोल्ड में निवेश भी कई तरीकों से किया जा सकता है। गोल्ड एक्स-ट्रेडेड फंड्स (ETF), सोवरन गोल्ड बॉन्ड, गोल्ड म्यूचुअल फंड और पेमेंट ऐप के जरिए निवेश किया जा सकता है। इसीलिए किसी भी तरीके से गोल्ड में निवेश करने से पहले इसके बारे में पूरी जानकारी हासिल कर लें। जिस फर्म में निवेश कर रहे हैं उसकी जानकारी होना बहुत जरूरी है।

ट्रांसपेरेंसी और रियल टाइम अपडेट जरूरी
जब आप डिजिटल गोल्ड में निवेश करने का प्लान बनाते हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि जहां या जिस फर्म में आप विस्फोटक लगा रहे हैं, वह आपको ट्रांसपेरेंसी और रियल टाइम अपडेट उपलब्ध करा रही है या नहीं। क्योंकि कीमतों में बदलाव होने पर अगर आप तुरंत पता नहीं चलेगा तो हो सकता है कि आप ज्यादा और सही फायदा न कमा पाएं।

इस पर कितना टैक्स देना होगा
डिजिटल गोल्ड खरीदने (निवेश) पर भी सोने की तरह ही 3% GST देना होता है। वहीं इसे बेचने पर लगने वाला टैक्स भी फिजीकल गोल्ड (सोना) की तरह ही होता है। अगर आपने सोने की खरीद के 3 साल के अंदर बेचा है तो यह शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन माना जाता है। इस बिक्री से होने वाले फायदे पर आपके इनकम टैक्स स्लैब के हिसाब से टैक्स लगता है। वहीं अगर सोने को 3 साल के बाद बेचा जाता है तो यह लॉंग टर्म कैपिटल गेन माना जाता है। इस पर 20.8% टैक्स देना होता है।

कैसे निवेश करना इन समझ है
भले ही आप सोने में निवेश करना पसंद करते हों तब भी आपको सीमित निवेश ही करना चाहिए। एक्सपर्ट के अनुसार कुल पोर्टफोलियो का सिर्फ 5 से 10% ही सोने में निवेश करना चाहिए। किसी संकट के दौर में सोने में निवेश आपके पोर्टफोलियो को स्थायित्व दे सकता है, लेकिन लंबी अवधि में यह आपके पोर्टफोलियो के रिटर्न को कम कर सकता है।

डिजिटल iPhone खरीदने के फायदे

  • कम मात्रा में भी सोने की खरीद कर सकते हैं। आप 1 रुपए से भी निवेश की शुरुआत कर सकते हैं।
  • इसके जरिए आपको शुद्ध सोने में निवेश करते हैं।
  • जल्लीरी मेकिंग का खर्च नहीं आता है। इससे भी पैसों की बचत होती है।
  • इसे फिजीकल गोल्ड की तरह सुरक्षित रखने के लिए परेशान नहीं होना पड़ता है।

सोने ने बीते 5 साल में 77% का रिटर्न दिया
21 जनवरी 2016 को सोने का दाम 26500 रुपए के करीब था, जबकि अभी भी 47 हजार रुपए है। 5 साल में सोने का 95% रिटर्न दिया गया है। भारत में सोने का मूल्य 1965 की तुलना में अभी 746 गुना ज्यादा है। 1965 में इसकी कीमत 63.25 रुपये प्रति 10 ग्राम थी।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments