Home मध्य प्रदेश उज्जैन में गुंडा अभियान: ड्रग्स तस्करी की काली कमाई से बनाए आलीशान...

उज्जैन में गुंडा अभियान: ड्रग्स तस्करी की काली कमाई से बनाए आलीशान घरों पर चला गया प्रशासन का हथौड़ा


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

उज्जैन15 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

मकान ढहाने की कार्रवाई के दौरान रो रही सुनील की पत्नी को ढांढसत्ं महिलाएं हैं

  • तस्कर सुनील और मकबूल के मकान ढहाए गए

उज्जैन में गुंडों और माफियाओं के खिलाफ लगातार चल रही कार्रवाई के तहत रविवार को मादक पदार्थों के तस्कर सुनील गुप्ता उर्फ ​​छन्ना और मकबूल के मकान ढहाए गए। सुनील के खिलाफ शहर के विभिन्न थानों में 28 और मकबूल पर 14 अपराध दर्ज हैं। वर्तमान समय में दोनों अपराधी मादक पदार्थों के व्यापार में जेल में बंद हैं। कार्रवाई के दौरान किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात था।

सुनील की पत्नी ने मकान के कागजात दिखाए, पुलिस बोली- एक मंजिल ही तोड़ देगी

सुनील का आलिहान तीन मंजिला मकान हतनगंज मंडी थाना क्षेत्र के पंचक्रोशी मार्ग स्थित तिरुपति एवेन्यू में स्थित है। पुलिस ने तीसरी मंजिल ही तोड़ा। सीएसपी ने बताया कि तीसरी मंजिल का निर्माण नगर निगम की बिना परमीशान के बनाया गया था। इसलिए सिर्फ तीसरी मंजिल को ही तोड़ा गया। सुनील की पत्नी ने अधिकारियों को मकान के कागजात दिखाए लेकिन पुलिस ने कहा कि जो अवैध निर्माण उसी को तोड़ा जाएगा। कार्रवाई के दौरान सुनील की पत्नी और उसके अन्य रिश्तेदार मौके पर मौजूद रहे।

अचानक छत पर पहुंची सुनील की बेटी, दौड़ी पुलिस के पीछे

प्रशासन की कार्रवाई से क्षुब्ध सुनील की बेटी अचानक छत पर चढ़ गई। पुलिस भी उसके पीछे दौड़ी। तीसरी मंजिल की छत से उसे उतारा गया। हालांकि वह नीचे उतरने के बाद भी काफी प्रभावित महसूस कर रही थी। मकान टूटता देख सुनील की पत्नी रो रोई। उसे जानने वाले उसके आंसू पोछते रहे और दिलासा देते रहे।

जेसीबी से मकबूल के मकान को ध्वस्त कर दिया गया

जेसीबी से मकबूल के मकान को ध्वस्त कर दिया गया

मकबूल के घर के साथ कारखाने भी तोड़ा

मादक पदार्थों की तस्करी में लिपट मकबूल के अमरपुरा स्थित मकान के अलावा प्रशासनिक अमले ने मकान से सटे उसके लोहे के कारखाने को भी ध्वस्त कर दिया। कार्रवाई के समय उसके परिवार को कोई भी सदस्य मौजूद नहीं था।

इस तरह से धंधा होता था

मकबूल के घर के सामने बिजली का लोहा का खंभा है। जिसे स्मैक की पुड़ियाने होती थी वह खंभे पर दो बार टन-टन की आवाज करती थी। आवाज सुनते ही मकबूल की पत्नी मकान से एक झोला लटकाती है। ग्राहक वहाँ पैसे रखता है फिर उसे पुड़िया मिलती है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments