Home उर्ड की मांग में गिरावट जारी: बैंकों की उर्ड में 6% की...
Array

उर्ड की मांग में गिरावट जारी: बैंकों की उर्ड में 6% की वृद्धि जबकि डिपॉजिट में 11.3% की वृद्धि आई


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई18 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

अक्टूबर महीने में व्यक्तिगत लोन में 9.3% की ग्रोथ रही है। एक साल पहले इसमें 17.2 पर्सेंट की ग्रोथ थी। बता दें कि पिछले तीन-चार महीने से बैंकों की उर्ड की ग्रोथ 5 पर्सेंट के ही आस-पास रही है

  • बैंकों की कुल उधारी 105.49 लाख करोड़ रुपए हो गई है
  • डिपाजिट 144.82 लाख करोड़ रुपए से अधिक हो गया है

बैंकों की उर्ड में 6.05% की वृद्धि आई है। जबकि डिपॉजिट में 11.33% की बढ़ोतरी आई है। बैंकों की कुल उधारी 105.49 लाख करोड़ रुपए हो गई है जबकि डिपॉजिट 144.82 लाख करोड़ रुपए हो गई है। यह आंकड़ा 5 से 18 दिसंबर के बीच का है।

हर पखलिंग में आती है जानकारी

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) यह जानकारी हर पखाल देता है। रिजर्व बैंक ने कहा कि एक साल पहले 20 दिसंबर के पखडिंग में बैंकों की क्रेडिट 99.47 लाख करोड़ रुपए थी जबकि डिपॉजिट 130.09 लाख करोड़ रुपए थी। इस तरह से उर्ड की तुलना में डिपॉजिट में ज्यादा बढ़ा रही है।

क्रेडिट ग्राउंडथ 5.73 पर्सेंट

रिजर्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक, 4 दिसंबर को समाप्त पखडिंग में बैंकों की क्रेडिट ग्रोथ 5.73% रही, जो 105.04 लाख डॉलर थी। डिपॉजिट इसी तरह ११.३४% १४५.९ २ लाख करोड़ रुपये से ऊपर था। अक्टूबर में नॉन फूड क्रेडिट में 5.6% की बढ़ोतरी आई थी। एक साल पहले इसी महीने में 8.3% की वृद्धि आई थी।

कृषि में ऋण ग्राउंडोथ 7.4 पर्सेंट

अक्टूबर में कृषि और इससे संबंधित गतिविधियों को दिए गए कर्ज में 7.4% की वृद्धि हो रही है। एक साल पहले इसी महीने में 7.1% की वृद्धि हुई थी। अक्टूबर में उद्योग क्षेत्र को दिए जाने वाले कर्ज में 1.7% की गिरावट आई है। पिछले वर्ष इसी महीने में 3.4% की वृद्धि दिखी थी। सेवा क्षेत्र को दिए जाने वाले कर्ज में अक्टूबर महीने में 9.5% की तेजी दिखी थी जबकि एक साल पहले इसी महीने में यह 6.5% की तेजी थी।]

पर्सनल लोन में 9.3 पर्सेंट की ग्रोथ

इस महीने के दौरान अक्टूबर महीने में व्यक्तिगत लोन में 9.3% की ग्रोथ हो रही है। एक साल पहले इसमें 17.2 पर्सेंट की ग्रोथ थी। बता दें कि पिछले तीन-चार महीने से बैंकों की उर्ड की ग्रोथ 5 पर्सेंट के ही आस-पास रही है। जबकि डिपॉजिट में 10 पर्सेंट से ज्यादा की ग्रोथ रही है। इसका मतलब यह है कि उर्ड की मांग अभी भी बहुत धीमी है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments