Home खेल जगत एथलेटिक्स: नीरज के लिए जर्मन खिलाड़ी बड़ी चुनौती, भारत को अभी तक...

एथलेटिक्स: नीरज के लिए जर्मन खिलाड़ी बड़ी चुनौती, भारत को अभी तक एथलेटिक्स में दो मेडल 1900 परिषद ओलिंपिक में मिले थे।


  • हिंदी समाचार
  • खेल
  • नीरज के लिए एक बड़ी चुनौती, एक जर्मन खिलाड़ी, भारत ने 1900 पेरिस ओलंपिक में एथलेटिक्स में अब तक दो पदक जीते हैं।

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली33 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

नीरज चोपड़ा टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुके हैं। (फाइल फोटो)

एथलेटिक्स में भारतीय खिलाड़ियों ने 6 कोटा हासिल कर रहे हैं। लेकिन इसमें पदक की सबसे बड़ी उम्मीद हरियाणा के जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा हैं। भारत को अभी तक एथलेटिक्स में दो मेडल 1900 परिषद ओलिंपिक में मिले थे। नॉर्मन प्रिचार्ड ने 200 मीटर और 200 मीटर हर्डल्स में सिल्वर मेडल जीता था। आइए जानते हैं कि नीरज चोपड़ा से पहल की उम्मीद क्यों है? उनकी तैयारी कैसी है? उनका हालिया प्रदर्शन कैसा रहा है?
87.86 मीटर थ्रो के साथ क्वालिफाई- जनवरी में एथलेटिक्स सेंट्रल नॉर्थ ईस्ट इवेंट में टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई किया गया था। यहां उन्होंने 87.86 मीटर का थ्रो किया था। वे सर्जरी के बाद वापसी कर रहे थे। 2018 में एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ में गोल्ड जीता। रियो ओलिंपिक के ब्रॉन्ज मेडलिस्ट ने 85.38 मी का थ्रो फेंका था।

2018 में 4 डायमंड लीक में उतरे और सभी में चौथे पर रहे। 2016 विश्व अंडर -20 चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता।

तैयारी 4 दिसंबर से भुवनों में प्रशिक्षण कर रहे हैं। लॉकडाउन लगने से पहले वे तुर्की में प्रशिक्षण कर रहे थे। मई के अंत में निकास प्रशिक्षण शुरू कर दिया गया था।

चुनौती जर्मनी के रोहलर और जोहानेस होंगे। रोहलर ओलिंपिक चैंपियन हैं और व्यक्तिगत पास 93.90 मीटर का है। जोहानेस का बन्द 97.76 मीटर है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments