Home मध्य प्रदेश कांग्रेस का वाम के साथ: पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के गढ़ में एनएसयूआई...

कांग्रेस का वाम के साथ: पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के गढ़ में एनएसयूआई नेताओं सहित कई लोग भाजपा में शामिल हैं


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दल बदल जाता है5 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

नगरीय निकाय चुनाव से पहले नेताओं के एक पार्टी से दूसरी पार्टी में आने जाने का क्रम शुरू हो गया है। सोमवार को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के गढ़ पडवाड़ा में एनएसयूआई नेताओं सहित कई लोगों को भाजपा में शामिल किया गया।

  • प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा बोले गांधी जी के नाम का उपयोग करने वालों ने उनके लिए क्या किया?

नगरीय निकाय चुनाव से पहले नेताओं के एक पार्टी से दूसरी पार्टी में आने जाने का क्रम शुरू हो गया है। सोमवार को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के गढ़ पडवाड़ा में एनएसयूआई नेताओं सहित कई लोगों को भाजपा में शामिल किया गया। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा सोमवार को छिंदवाड़ा प्रवास पर रहे। इस दौरान एनएसयूआई के नेताओं सहित कई अन्य लोगों ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा के समक्ष एनएसयूआई के नेताओं, कार्यकर्ताओं और अन्य लोगों ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने पार्टी में सभी का स्वागत करते हुए उन्हें जीत दी। भाजपा की अनुकरण ग्रहण करने वालों में एनएसयूआई के प्रदेश महासचिव दारा जुनेजा, जिला कांग्रेस महासचिव लवली मक्कड़, पूर्व एनएसयूआई सचिव सोमू सेंगर, संतोष पटेल, डॉ। मालवी, पी। रमेश नायडू, मेघराज पटेल, दुर्गेश पवार, सुरेन्द्र रिवेयर यादगार, जेपी श्रीवास, पंकज मालवी, संदीप पटेल, श्री दीपक पटेल, श्री पप्पू पटेल, श्री किशनलाल, अरुण खेरिया, दशरथ बनवानी, गोल्डी तिवारी, महेन्द्र सिंह ठाकुर, राहुल साहक श्रीवास्तव, राकेश द्विवेदी, जितेन्द्र पिपले, हित सहारे, पवन विन्जाडे, शुभम मालवी, राजकुमार विन्जाडे, बबलू मरद, पिंटू मण्डराह, मन मंगरे, मोंटी मालवी, संजय मालवी शामिल हैं।

छिंदवाड़ा में हुए घोटालों के पीछे जो भी है, उसे बख्शा नहीं जाएगा

छिंदवाड़ा आकर मुझे पता चला कि कमलनाथ सरकार के समय यहां किन बोर्ड का बहुत बड़ा घोटाला हुआ है। किन बोर्ड के लिए 12 करोड़ के टेंडर हुए और 9 करोड़ का पेमेंट कर दिया गया। पांच सौ करोड़ का डीएमएफ घोटाला हुआ। उनके अलावा सिंचाई घोटाला हुआ। ये घोटालों के पीछे कौन है? क्या टेंडर दिया गया और पेमेंट किया गया? इन घोटालों से आपको फायदा हुआ, इन सवालों के जवाब तो जांच से मिल जाएंगे, लेकिन इतना तय है कि इन घोटालों के लिए जो भी जिम्मेदार हैं, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। हम सरकार से भी इस संबंध में बात करेंगे। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने सोमवार को छिंदवाड़ा में पत्रकार वार्ता के दौरान कही। गांधी जी के नाम का उपयोग करने वालों ने उनके लिए क्या किया?

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments