Home देश की ख़बरें कांग्रेस में कलह बढ़ी: अधीर रंजन चौधरी ने कहा- भाजपा की भाषा...

कांग्रेस में कलह बढ़ी: अधीर रंजन चौधरी ने कहा- भाजपा की भाषा बोलने वाले आनंद शर्मा, इधर .. जम्मू-कश्मीर में आजाद के खिलाफ हुआ प्रदर्शन


  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • पी 23 मोदी पर जी 23 इवेंट और आजाद के रिमार्क्स के बाद, जम्मू-कश्मीर कांग्रेस चीफ ने दिल्ली में वरिष्ठ नेतृत्व से मुलाकात की। कांग्रेस गतिरोध जारी रखने के लिए, नेतृत्व की स्थिति का आकलन करते हुए हरियाणा में अब जी 23 योजना कार्यक्रम

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली16 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

आनंद शर्मा और गुलाम नबी आजाद सहित कांग्रेस के 23 नेता पार्टी के तौर तरीकों पर सवाल उठा चुके हैं। इन नेताओं ने दो दिन पहले जम्मू-कश्मीर में बैठक की थी। फोटो वहीं की है।

पांच राज्यों में चुनावी बिगुल बजने के साथ ही कांग्रेस में एंडर्कलह बढ़ती जा रही है। एक तरफ जी -23 यानी पार्टी की नीतियों के खिलाफ आवाज उठाने वाले कांग्रेस के ही 23 नेता कोई न कोई बयान दे रहे हैं, तो दूसरे गुट के नेता उनका विरोध कर रहे हैं। ताजा विवाद जी -23 के आनंद शर्मा और गुलाम नबी आजाद से जुड़ा है। शर्मा के एक बयान पर कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने पलटवार करते हुए उन पर भाजपा की सांप्रदायिकता वाली भाषा बोलने का आरोप लगा दिया। वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद के खिलाफ जम्मू में पार्टी कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी कर और पुतला जलाकर विरोध प्रदर्शन किया है।

पश्चिम बंगाल में कांग्रेस के भारतीय सेक्युलर (ISF) के साथ गठबंधन करने पर सोमवार को आनंद शर्मा ने सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि ऐसा करना कांग्रेस की मूल विचारधारा, गांधीवाद और नेहरू के सेकुलरिज्म के खिलाफ है। शर्मा के इस बयान के खिलाफ कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने मोर्चा खोला दिया है।

चौधरी ने शर्मा को उनके फैक्ट जानने की नसीहत देते हुए मंगलवार को सोशल मीडिया पर लिखा, ‘पश्चिम बंगाल में सीपीआई (एम) के नेतृत्व वाले वाम मोर्चा सेक्युलर गठबंधन को लीड कर रही है। कांग्रेस इसका अंदरुनी हिस्सा है। हमने भाजपा की सांप्रदायिक और बांटने वाली पॉलिटिक्स को हराने का संकल्प लिया है। लेकिन शर्मा भाजपा की भाषा बोलकर भी खुश करना चाहते हैं। ‘

चौधरी ने आगे कहा, ‘कांग्रेस को अपने हिस्से की पूरी कोशिशें मिली हैं। लेफ्ट क्यू अपने हिस्से की पेंट्स नए बने ISF को अलॉट कर रहा है। जो लोग भाजपा की जहरीली सांप्रदायिकता के खिलाफ लड़ना चाहते हैं, उन्हें कांग्रेस को स्वीकार करना चाहिए। ‘

उधर, जम्मू में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने गुलाम नबी आजाद के खिलाफ नारेबाजी की और आजाद का पुतला जलाया। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि कांग्रेस ने आजाद को हमेशा सम्मान दिया, लेकिन आज जब पार्टी को मदद की जरूरत है तो वे भाजपा से दोस्ती दिखा रहे हैं।)

फोटो जम्मू में आजाद के खिलाफ प्रदर्शन करते कांग्रेस वर्कर्स की है।  उन्होंने कहा कि आजाद डीडीसी चुनाव के प्रचार के लिए नहीं आए और अब प्रधानमंत्री की तारीफ कर रहे हैं।

फोटो जम्मू में आजाद के खिलाफ प्रदर्शन करते कांग्रेस वर्कर्स की है। उन्होंने कहा कि आजाद डीडीसी चुनाव के प्रचार के लिए नहीं आए और अब प्रधानमंत्री की तारीफ कर रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर कांग्रेस के अध्यक्ष आजाद की शिकायत पर दिल्ली पहुंचे
दो दिन पहले जम्मू-कश्मीर में जी -23 सम्मेलन और आजाद के बयानों से नाराज जम्मू कश्मीर कांग्रेस के अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर शिकायत करने दिल्ली पहुंच गए हैं। मीर ने यहां संगठन के प्रभारी केसी वेणुगोपाल, राज्य के प्रभारी रजनी पाटिल और पार्टी के शीर्ष नेताओं से मुलाकात कर मौजूदा हालात के बारे में बताया। बताया जाता है कि मीर यहां राहुल गांधी से भी मुलाकात करेंगे। सूत्रों के मुताबिक, मीर ने कहा है कि आजाद के बयान से जम्मू कश्मीर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं में काफी नाराजगी है।

अब हरियाणा में जी -23 नेताओं की बैठक
जम्मू कश्मीर के बाद अब हरियाणा में कांग्रेस के जी -23 नेताओं की बैठक हो सकती है। बताया जा रहा है कि इन लोगों ने जम्मू-कश्मीर में सफल आयोजन के बाद हरियाणा में भी इस घटना को योजना बनाने शुरू कर दिया है। ये बैठक कुरुक्षेत्र में हो सकती है। इन सभी परिस्थितियों पर कांग्रेस की टॉप लीडरशिप नजर बनी हुई है। सोनिया गांधी जी -23 समूह में शामिल नेताओं पर कोई कार्रवाई नहीं करना चाहते हैं, इसलिए हर कोई संभलकर इस मुद्दे का हल निकालने में जुट गया है।

कांग्रेस का G-23 क्या है, यह क्या चाहता है?
कांग्रेस हाईकमान से नाराज इन 23 सीनियर नेताओं के गुट को जी -23 के नाम से जाना जाता है। में उन्होंने पिछले साल सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखकर पार्टी के तौर-तरीकों पर सवाल उठाए थे। सूत्रों के मुताबिक जी -23 नेताओं में हाल ही में राज्यसभा से रिटायर हुए गुलाम नबी आजाद के साथ हुए सलोक को लेकर भी नाराजगी है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments