Home उत्तर प्रदेश कालिंजर दुर्ग के जंगलों में आग लगी

कालिंजर दुर्ग के जंगलों में आग लगी


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

* सिर्फ ₹ 299 सीमित अवधि की पेशकश के लिए वार्षिक सदस्यता। जल्दी से!

ख़बर सुनता है

कालिंजर / अतर्रा। ऐतिहासिक दुर्ग कालिंजर में शुक्रवार को सुबह जंगल में आग लग गई। परिसर में मीलों दूर तक गर्मी से सूख चुके पौधे और झाड़ियों ने आग को विकराल रूप दे दिया। यहां शुरू की गई बूटियों और अन्य कीमती पेड़ों को भी चपेट में ले लिया गया। मुख्यालय से आई फायर ब्रिगेड टीमें देर रात तक आग बुझाने में जुटी रही। वर्तमान में पूरी तरह से नियंत्रण नहीं पाया गया है।
मुख्य अग्निशमन अधिकारी अनूप सिंह चार फायर टैंकर गाड़ियों के साथ यहां पहुंच गए। नरैनी बीडीओ और कालिंजर के निवर्तमान प्रधान ने पानी के टैंकरों की व्यवस्था की है। पूरा दिन की मशक्कत के बाद भी देर रात तक आग धधक रही थी। उधर, अतर्रा ग्रामीण के मजरा सीताराम पुरवा में कमल कुमार वर्मा के कच्चे घरों में शुक्रवार को दोपहर शुरू आग से 10 हजार रुपये सहित गृहस्थी और दो बकरियां जल बने। लेखपाल प्रिंस शुक्ला भी मौके पर पहुंचे। उच्चाधिकारियों को सूचना देने की बात कही।

कालिंजर / अतर्रा। ऐतिहासिक दुर्ग कालिंजर में शुक्रवार को सुबह जंगल में आग लग गई। परिसर में मीलों दूर तक गर्मी से सूख चुके पौधे और झाड़ियों ने आग को विकराल रूप दे दिया। यहां शुरू की गई बूटियों और अन्य कीमती वृक्षों को भी चपेट में ले लिया गया। मुख्यालय से आई फायर ब्रिगेड टीमें देर रात तक आग बुझाने में जुटी रही। वर्तमान में पूरी तरह से नियंत्रण नहीं पाया गया है।

मुख्य अग्निशमन अधिकारी अनूप सिंह चार फायर टैंकर गाड़ियों के साथ यहां पहुंच गए। नरैनी बीडीओ और कालिंजर के निवर्तमान प्रधान ने पानी के टैंकरों की व्यवस्था की है। पूरा दिन की मशक्कत के बाद भी देर रात तक आग धधक रही थी। उधर, अतर्रा ग्रामीण के मजरा सीताराम पुरवा में कमल कुमार वर्मा के कच्चे घरों में शुक्रवार को दोपहर शुरू आग से 10 हजार रुपये सहित गृहस्थी और दो बकरियां जल बने। लेखपाल प्रिंस शुक्ला भी मौके पर पहुंचे। उच्चाधिकारियों को सूचना देने की बात कही।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments