Home देश की ख़बरें कोरोना वैक्सीनेशन का ट्रायल: 2 जनवरी को पूरे देश में वैक्सीन का...

कोरोना वैक्सीनेशन का ट्रायल: 2 जनवरी को पूरे देश में वैक्सीन का प्रसाद रन होगा, फिर भी चार राज्यों में तैयारियां जायसी थे


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली17 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

हर राजधानी में तीन पॉइंट पर ड्राई रन किया जाएगा। कुछ प्रशिक्षण के जिले में भी शामिल होंगे, जहां पहुंचना मुश्किल होता है। इस कवायद के जरिए सरकार अपनी मशीनरी की तैयारियां पूछनाना चाहती है।

2 जनवरी को पूरे देश में कोरोना वैक्सीन का अनुवाद रन (ट्रायल) किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को हाईलेवल बैठक में ये फैसला लिया। बीते 28 और 29 दिसंबर को चार राज्यों में यह ट्रायल किया गया था। इसके अंतर्गत पंजाब, असम, आंध्र प्रदेश और गुजरात के दो-दो जिलों में वैक्सीनेशन के लिए उपकरण की तैयारी को परखा था।

केंद्रीय स्वास्थ्य सेक्रेटरी राजेश भूषण की अध्यक्षता में वैक्सीनेशन की तैयारियों की समीक्षा के लिए यह बैठक की गई थी। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई बैठक में सेक्रेटरी (स्वास्थ्य), नेशनल हेल्थ मिशन के एमडी और राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों के हेल्थ सेंटर्रेटर्स शामिल हुए।

बैठक के बाद सरकार ने बताया कि सभी राज्यों और केंद्र प्रशासित राज्यों में अनुवाद रन किया जाएगा। ट्रायल के लिए सभी राजधानियों में तीन पॉइंट तय किए जाएंगे। कुछ राज्यों के राज्यों के जिलों को भी इसमें शामिल किया जाएगा, जहां तक ​​वैक्सीन पहुंचाना मुश्किल हो सकता है। केंद्र सरकार ने सभी राज्यों से कहा है कि वे इस ट्रायल के लिए पर्याप्त इंतजाम करें।

क्या है?

अब तक सरकार सिर्फ बच्चों और गर्भवती महिलाओं को ही वैक्सीनेट करती रही है। इसके लिए भी अलग-अलग राज्यों में सप्ताह का एक दिन तय होता है। यह पहला मौका है जब देश में वयस्क आबादी को भी वैक्सीनेट किया जाएगा। इस कारण से वैक्सीनेशन ड्राइव के लिए सरकारी कंप्यूटर की तैयारी देखने के लिए केंद्र सरकार ने रन रन कर रही है।

इसमें राज्यों में कोल्ड चेन से वैक्सीनेशन की जानकारी तक वैक्सीन लाने-ले जाने की प्रक्रिया परखी जाएगी। इसी तरह वैक्सीनेशन गाइड पर किस तरह की दिक्कतें आ सकती है, यह भी पता लगाने की कोशिश होगी।

ऐसी ओखी पूरी तरह से पूरी हो जाएगी
ड्राई रन में कोविन (सह-विजेता) पर आवश्यक डेटा एंट्री होगी। ऑनलाइन प्लेट प्रदर्शन पर वैक्सीन ऑफर, टेस्टिंग की रिसीप्ट और आवंटन, टीम मेंबर्स की नियुक्ति, वैक्सीनेशन सर्च पर मॉक ड्रिल की निगरानी होगी।

कोविड -19 वैक्सीन के लिए कोल्ड स्टोरेज और ट्रांसपोर्टेशन अरेंजमेंट्स की रियल-टाइमिंग इसमें शामिल है। वैक्सीनेशन सूचियों पर भीड़ के प्रबंधन के साथ ही फिजिकल डिस्टेंसिंग को भी देखा जा रहा है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments