Home देश की ख़बरें कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में जानिए सरकार की बड़ी तैयारी

कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में जानिए सरकार की बड़ी तैयारी


नई दिलवाली कोरोनावायरस महामारी (कोरोनावायरस) के खिलाफ टीकाकरण (टीकाकरण) का दूसरा चरण आज से शुरू हो गया है। इस चरण में 60 साल से ज्यादा उम्र और गंभीर बिमारियों से पीड़ितों का भी टीकाकरण होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी आज कोविक्लाइन का पहला डोज लिया। इस बीच, कोविन ऐप और पोर्टल को लेकर कुछ लोगों में भ्रम भी दिख रहा है। जिसे केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉक्‍टर हर्षवर्धन ने दूर करने की कोशिश की है।

डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा कि देश में ऐसे कई लोग हैं जो बुकिंग की कठिनाइयों का सामना नहीं कर सकते। ऐसे लोगों के लिए एक सप्ताह के अंदर सिस्टम को सुवचनवंत किया जाएगा। अभी तक कोविन ऐप में किसी तरह की दिक्क्त सामने नहीं आई है। उन्होंने कहा कि हमने राज्य सरकारों को कुछ छूट दी है। अगले कुछ दिनों में वॉक-इन सिस्टम को सुव्यवस्थित किया जाएगा। इसके लिए एक प्रावधान किया गया है। बुकिंग के माध्यम से अपॉइंटमेंट लेने के बाद निश्चित संख्या में लोग वैक्लेसनेशन सेंटर जा सकते हैं।

बता दें कि अब सुप्रीम कोर्ट के जजों और उनके परिवार के सदस्स का भी टीकाकरण होगा। सुप्रीम कोर्ट के जजों का कल से कोरोनाकैज़ेशन शुरू होगा। पीएम मोदी सहित कई प्रमुख नई संस्थाओं और मंत्रियों ने आज कोरोना का टीका लगवाया है।

छह राज्यों में कोविद -19 के मामलों में वृद्धि, भारत में इलाजरत रोगियों की कुल संख्या 1,68,627 हुईमहाराष्ट्र, केरल, पंजाब, कर्नाटक, तमिलनाडु और गुजरात में विभाजित -19 के मामलों में वृद्धि हुई है और पिछले 24 घंटों में सामने आए 15,510 नए मामले में 87.25 प्रतिशत इसी राज्यों से हैं। यह जानकारी सोमवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी। मंत्रालय ने कहा कि भारत में कोरोनावायरस संक्रमण का इलाज करा रहे लोगों की कुल संख्या बढ़ने से 1,68,627 पहुंच गई है, जो संक्रमण के कुल मामलों का का 1.52 प्रतिशत है। मंत्रालय ने बताया कि देश में संक्रमण का इलाज कर रहे लोगों की कुल संख्या का 84 प्रतिशत पांच राज्यों में है।

भारत में इलाजरत रोगियों में 46.39 प्रति रोगी महाराष्ट्र में है, इसके बाद केरल का स्थान है, जहां 29.49 प्रतिशत लोग संक्रमण का इलाज करते हैं। मंत्रालय ने बताया, ’15 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में एक हजार से अधिक इलाजरत रोगी हैं। केरल और महाराष्ट्र दो ऐसे राज्य हैं जहां को विभाजित -19 के इलाजरत रोगियों की संख्या 10 हजार से अधिक है, जबकि शेष 13 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में इलाजरत रोगियों की संख्या एक हजार से दस हजार के बीच है। ‘

मंत्रालय ने बताया कि ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका और जेसन जैसे सार्स-कोव -2 के मामलों की संख्या देश में 213 तक हो गई है। पिछले 24 घंटे में 15,510 नए मामले सामने आए हैं। महाराष्ट्र में सर्वाधिक 8293 मामले, जबकि केरल में 3254 और पंजाब में 579 नए मामले सामने आए। केंद्र उन राज्यों के लगातार संपर्क में है, जहां संक्रमण के इलाजरत रोगियों की संख्या ज्यादा है और जहां संक्रमण के नए मामले बढ़ रहे हैं। इसने कहा, ‘आठ राज्यों में रोजाना नए मामलों की संख्या बढ़ रही है।’

अभी तक 2,92,312 सत्रों के माध्यम से लाभार्थियों को टीके के 1,43,01,266 खुराक दिए जा चुके हैं। इनमें से पहली खुराक और दूसरी खुराक भी शामिल है। मंत्रालय ने बताया, ‘को विभाजित -19 टीकाकरण का अगला चरण आज से उन लोगों के लिए शुरू हुआ है जिनकी उम्र 60 वर्ष से अधिक है और ऐसे लोगों के लिए भी शुरू हुआ है, जिनकी उम्र 45 वर्ष से अधिक है लेकिन वे दूसरे अन्य गंभीर हैं बीमारियों से पीड़ित हैं। ‘ मंत्रालय ने बताया कि नए ठीक हुए मामलों में 85.07 प्रतिशत छह राज्यों में हैं। इसके अलावा पिछले 24 घंटों में 106 लोगों की मौत हुई है। पिछले 24 घंटे में 20 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोनावायरस से किसी की मौत नहीं हुई है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments