Home देश की ख़बरें कोरोना वैक्सीनेशन 2.0: आम लोगों के लिए दूसरे फेज का टीकाकरण आज...

कोरोना वैक्सीनेशन 2.0: आम लोगों के लिए दूसरे फेज का टीकाकरण आज से शुरू; सह-विन पोर्टल और आरोग्य सेतु ऐप पर पंजीकरण कर सकते हैं


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली5 घंटे पहले

देशभर में कोरोना संक्रमण के खिलाफ वैक्सीनेशन का दूसरा फेज सोमवार से शुरू हो गया है। इस फेज में 60 साल से अधिक और 45 साल से ज्यादा उम्र के गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों को शामिल किया जा रहा है। जिनकी आयु 1 जनवरी 2022 को 60 वर्ष की होगी, वे भी इस बारॉक लगवाएंगे। इसके लिए को-विन 2.0 पोर्टल के साथ ही आरोग्य सेतु पर पंजीकरण भी शुरू हो गया है।

गंभीर बीमारी का सर्टिफिकेट दिखाना होगा, सरकार ने फॉर्मेट जारी किया है
जिन लोगों की उम्र 60 साल या उससे अधिक है, उन्हें पंजीकरण और वैक्सीनेशन के जब आईडी कार्ड के साथ रखना होगा। 45 से 60 साल के जिन लोगों को गंभीर बीमारी है, उन्हें मेडिकल सर्टिफिकेट दिखाना होगा। सरकार ने इसके लिए डिक्लरेशन फॉर्मेट के साथ इस क्राइटेरिया में आने वाली 20 बीमारियों की लिस्ट भी जारी कर दी है। इस फॉर्म को डॉक्टर से सर्टिफाई करवाना होगा।

9 पॉइंट्स में वैक्सीनेशन की पूरी जानकारी …

लगे लगेगी वैक्सीन
तीसरे फेज में 60 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लगेगी। इसके साथ ही 45 से 60 वर्ष की उम्र के ऐसे लोगों को भी वैक्सीन लगेगी, जो गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं। जिनकी आयु 1 जनवरी, 2022 को 60 वर्ष होगी, वह भीॉक लगवाएगी। केंद्र सरकार का आकलन है कि लगभग 27 करोड़ लोग इस परियोजना में आते हैं। पहली डोज लेने वाला 29 वें दिन दूसरा डोज के लिए भी इसी पोर्टल पर बुकिंग करा सकता है, लेकिन अगर कोई लाभार्थी पहले डोज की बुकिंग रद्द करता है तो उसकी दोनों डोज की बुकिंग रद्द हो जाएगी।

कितना पैसा चुकाना होगा?
लगभग 12 हजार सरकारी अस्पताल और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में टीका मुफ्त लगेगा। वहीं, प्राथमिक अस्पतालों में वैक्सीनेशन के लिए 250 रुपए का भुगतान करना होगा। इसमें 150 रुपए टीके के लिए और 100 रुपए सर्विस चार्ज होगा।

क्या वैक्सीन का चुनाव कर सकते हैं?
नहीं है। इस समय टीकाकरण अभियान में भारत बायोटेक की स्वदेशी वैक्सीन- कोवैक्सिन और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्ड का इस्तेमाल हो रहा है। वैक्सीन का चुनाव करने की अनुमति नहीं होगी। जो उपलब्ध रहेगा, वही वैक्सीन लगाई जाएगी।

किस तारीख को वैक्सीन लगवानी है, क्या यह चुन सकते हैं?
हाँ। लोग यह चुन सकते हैं कि किस दिन वैक्सीन लगवानी है और किस केंद्र पर। इसका विकल्प उन्हें कोविन प्लेटफॉर्म पर पंजीकरण के समय ही मिलेगा।

कितने केंद्र पर वैक्सीन लगेगी?
लोग अपने घर के पास के केंद्र पर अपॉइंटमेंट ले सकते हैं। वर्तमान में सरकारी अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों में ही वैक्सीनेशन हो रहा है। ये करीब 12 हजार हैं। आयुष्मान भारत में एमैनल्ड अस्पताल या CGHS हॉस्पिटल्स भी शामिल होंगे, जो 12,000 हैं। इस तरह कुल 24 हजार लोकेशों पर वैक्सीनेशन होगा।

एक फोन पर कितना पंजीकरण हो सकता है?
वैक्सीनेशन में भाग लेने के लिए खुद का स्मार्टफोन होना जरूरी नहीं है। आप किसी और के भी स्मार्टफोन का इस्तेमाल कर सकते हैं। एक मोबाइल फोन से चार अपॉइंटमेंट के लिए जा सकते हैं।

क्या पंजीकरण के लिए अलग से ऐप डाउनलोड करना होगा?
नहीं है। इसकी कोई जरूरत नहीं है। आप कोरोना वैक्सीनेशन में भाग लेने के लिए आरोग्य सेतु ऐप पर पंजीकरण कर सकते हैं। इसके लिए जल्द ही इसमें नई सुविधा जुड़ने वाला है। कोविन (सह-विजेता) ऐप के वेब पोर्टल (काउइन.जीओवी) के साथ ही आईवीआरएस और कॉल सेंटर भी पंजीकरण करेंगे। भारत के 6 लाख गांवों में स्थित लगभग 2.5 लाख कॉमन सर्विस सेंटर (सेवा केंद्र) पर भी पंजीकरण होगा।

क्या बिना पंजीकरण के वैक्सीनेशन हो सकेगा?
हाँ। जिस तरह से ट्रेन में बिना रिजर्वेशन के भी सीट मिलती है, उसी तरह वैक्सीन भी सेंटर पर जाकर लगवा सकते हैं। यह तभी होगा, जब कोई वैकेंसी रहती है। यह राज्य सरकारें तय करेंगी कि किसी केंद्र की कैपेसिटी के लिहाज से असीमित और साप्ताहिक का अनुपात क्या रहेगा।

वैक्सीनेशन के समय क्या रखना होगा?
जिन लोगों की उम्र 60 वर्ष या उससे अधिक है, उन्हें अपना आईडी कार्ड साथ रखना होगा। पंजीकरण और वैक्सीनेशन के जब भी। 45 से 60 वर्ष के लोगों को सर्टिफिकेट पेश करना होगा, जो साबित करेगा कि वे गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। यह सर्टिफिकेट डॉक्टर से भरवाना करेंगे।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments