Home कैरियर कोरोना संकट के बीच भारत ने रचा एक और इतिहास, बना दुनिया...

कोरोना संकट के बीच भारत ने रचा एक और इतिहास, बना दुनिया का 5वां सबसे बड़ा शहद उत्पादक देश


आइए जानें मधुमक्खी पालन के बारे में…

भारत ने विश्व के पांच सबसे बड़े शहद उत्पादक देशों में स्थान बनाया है. देश में शहद का उत्पादन 2005-06 की तुलना में 242 प्रतिशत बढ़ गया है.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    August 29, 2020, 11:36 PM IST

नई दिल्ली. किसानों (Farmer Income) की आय बढ़ाने के लिए सरकार मधुमक्खी पालन (Honey Production in India) को बढ़ावा दे रही है. साथ ही,   सरकार ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत मधुमक्खीपालन को और बढ़ावा देने के लिए 500 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है. देश में मधुमक्खीपालकों की मेहनत से, विश्व में शहद के पांच सबसे बड़े उत्पादकों में भारत का नाम शुमार हुआ है.

मधुमक्खीपालन के प्रशिक्षण के लिए चार मॉड्यूल बनाये गये हैं, जिसके माध्यम से देश में 30 लाख किसानों को प्रशिक्षण दिया गया है और उन्हें अन्य सहायता भी उपलब्ध कराई गयी है. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने हाल में कहा था कि मधुमक्खीपालन को बढ़ावा देने के लिए गठित समिति की सिफारिशों के आधार पर भी सरकार आगे काम कर रही है.

आइए जानें मधुमक्खी पालन के बारे में…

मधुमक्खी पालन का व्यापार कृषि के साथ साथ होने वाला व्यापार है. इस व्यापार की सहायता से आपको सीजन के तौर पर अच्छा लाभ प्राप्त हो सकता है. आप चाहे तो इस व्यापार को आरम्भ करने के लिए सरकार से आर्थिक मदद भी प्राप्त कर सकते हैं. इस व्यापार के लिए आपको मधुमक्खी पालन सम्बंधित जानकारियाँ प्राप्त करने की आवश्यकता होती है.

अगर आप इस स्‍कीम के तहत हनी प्रोसेसिंग प्‍लांट लगाना चाहते हैं तो कमीशन की ओर से आपको 65 फीसदी लोन दिलाया जाता है और खादी ग्रामोद्योग आपको 25 फीसदी सब्सिडी भी देता है यानी कि आपको केवल 10 फीसदी पैसा लगाना पड़ता है.

खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (KVIC) के मुताबिक, आप 20 हजार किलोग्राम सालाना शहद बनाने वाला प्‍लांट लगाना चाहते हैं तो इस पर लगभग 24.50 लाख रुपये का खर्च आएगा. इसमें से आपको लगभग 16 लाख रुपये का लोन मिल जाएगा, जबकि मार्जिन मनी के रूप में 6.15 लाख रुपये मिल जाएंगे और आपको अपनी ओर से केवल लगभग 2.35 लाख रुपये लगाने होंगे.

केवीआईसी का कहना है कि अगर आप सालाना में 20 हजार किलोग्राम शहर तैयार करते हैं, जिसकी कीमत 250 रुपये प्रति किलोग्राम है, इसमें से 4 फीसदी वर्किंग लॉस को भी शामिल कर लिया जाए तो आपकी सालाना बिक्री 48 लाख रुपये होगी. इसमें से सभी खर्च जो लगभग 34.15 लाख रुपये होगा को कम कर दिया जाए तो आपको साल भर में लगभग 13.85 लाख रुपये की आमदनी होगी. यानी कि आप हर महीने 1 लाख रुपये से ज्यादा कमाई कर सकते हैं.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments