Home उत्तर प्रदेश कोरोना संक्रमण में कमी पर हाईकोर्ट ने जताई संतोष, कहा- अभी गाइड...

कोरोना संक्रमण में कमी पर हाईकोर्ट ने जताई संतोष, कहा- अभी गाइड लाइन का कॉकिंग से कराटे पालन करते हैं


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

* केवल ₹ 299 सीमित अवधि की पेशकश के लिए वार्षिक सदस्यता। जल्दी से!

ख़बर सुनकर

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण में आ रही कमी और कम मौतों पर संतोष जताया है। कोर्ट का कहना है कि ऐसा पुलिस की ककिंग व फेस पहनने के कारण संभव हुआ। लेकिन अभी गाइड लाइन का कड़ाई से पालन जारी रखने के लिए कहा है, क्योंकि संक्रमण में दोबारा उठ हो सकती है।
संक्रमण निवारण के उपायों की व्याख्या करने कर न्यायमूर्ति सिद्धार्थ वर्मा और न्यायमूर्ति अजित कुमार की खंडपीठ ने कहा कि लोग सामान्य जीवन की ओर बढ़ रहे हैं। दैनिक कार्य पर होने वाले हैं।

साथ ही कोविड गाइड लाइंस को भूल रहे हैं। जिसका पालन अब बहुत जरूरी है। कोर्ट ने पुलिस को निर्देश दिया है कि वह नियमों का उल्लंघन करने वालों से पीड़ित वसूलना जारी रखे। यह भी देखा कि शादी समारोह सहित कहीं भी भीड़ न एकत्र होने पाए। इसका उल्लंघन करने पर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। जो स्कूल खुल रहे हैं उनमें कोरोना गाइड लाइन का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाएगा। वकीलों की हड़ताल के चलते केस की सुनवाई चेंबर में हुई। कोर्ट ने अखबारों की खबरों को भी संज्ञान में लिया।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण में आ रही कमी और कम मौतों पर संतोष जताया है। कोर्ट का कहना है कि ऐसा पुलिस की ककिंग व फेस पहनने के कारण संभव हुआ। लेकिन अभी गाइड लाइन का कड़ाई से पालन जारी रखने के लिए कहा है, क्योंकि संक्रमण में दोबारा उठ हो सकती है।

संक्रमण निवारण के उपायों की व्याख्या करने कर न्यायमूर्ति सिद्धार्थ वर्मा और न्यायमूर्ति अजित कुमार की खंडपीठ ने कहा कि लोग सामान्य जीवन की ओर बढ़ रहे हैं। दैनिक कार्य पर होने वाले हैं।

साथ ही कोविड गाइड लाइंस को भूल रहे हैं। जिसका पालन अब बहुत जरूरी है। कोर्ट ने पुलिस को निर्देश दिया है कि वह नियमों का उल्लंघन करने वालों से पीड़ित वसूलना जारी रखे। यह भी देखा कि शादी समारोह सहित कहीं भी भीड़ न एकत्र होने पाए। इसका उल्लंघन करने पर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। जो स्कूल खुल रहे हैं उनमें कोरोना गाइड लाइन का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाएगा। वकीलों की हड़ताल के चलते केस की सुनवाई चेंबर में हुई। कोर्ट ने अखबारों की खबरों को भी संज्ञान में लिया।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments