Home देश की ख़बरें कोविद -19 वैक्सीनेशन के दूसरे चरण के पहले दिन देश के 4...

कोविद -19 वैक्सीनेशन के दूसरे चरण के पहले दिन देश के 4 लाख से ज्यादा लोगों को दी गई पहली डोज


नई दिल्ली। भारत में कोरोनावायरस टीकाकरण (कोरोनावायरस टीकाकरण) का दूसरा चरण सोमवार से शुरू हो गया है। पहले दिन ही देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (पीएम नरेंद्र मोदी) सहित देश के कई बड़े लोगों ने नोटबंदी की। वैक्सीनेशन के पहले दिन ही देश के 4 लाख 27 हजार 072 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज दी गई। इसी के साथ ही 16 जनवरी से अब तक देश में को विभाजित -19 रोधी वैक्सीन की 1 करोड़ 47 लाख 28 हजार 569 खुराकें दी जा चुकी हैं। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू उन शीर्ष नेताओं में शामिल हैं जिन्होंने सोमवार को टीकाकरण अभियान के अगले चरण की शुरुआत के साथ ही कोरोनावायरस टीके की पहली खुराक ली। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटलेक और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, विदेश मंत्री एस जयशंकर और राकांपा अध्यक्ष राय पवार ने भी टीका लगाया।

देश में स्वास्थ्य कर्मियों और कोविड -19 के खिलाफ मोर्चे पर लगे कर्मियों के लिए 16 जनवरी से शुरू होने वाले टीकाकरण कार्यक्रम को आगे बढ़ाया गया। रेटेड के गवर्नर कलराजिश और टीएम के गवर्नर बनवारीलाल पुरोहित ने भी दावा किया। सिंह केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने भी टीका लगाया। हालांकि पंजीकरण सुबह 9 बजे खुला लेकिन प्रधानमंत्री अपनी पहली खुराक लेने के लिए सुबह ही दिल्ली में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) पहुंचे। उन्होंने सभी लोगों से अपील की कि वे वेक लें।

ये भी पढ़ें- पीएम मोदी ने लगवायी कोरोना वैक्सीन, साथ ही कई महत्वपूर्ण संदेश भी दे दिए

मोदी ने सुबह 7.06 बजे ट्वीट किया, ” एम्स में विभाजित -19 टीके की पहली खुराक ली। हमारे डॉक्टरों और वैज्ञानिकों ने कोविद -19 के खिलाफ वैश्विक लड़ाई को मजबूत करने के लिए जिस तरह से कम समय में काम किया है वह उस शरणरण है। ” उन्होंने कहा, ” मैं जो भी पात्र हैं उन सभी से टीका लेने की अपील करता है। हूँ। एकसाथ, हमें भारत को को विभाजित -19 मुक्त बनाने की जरूरत है। ’’ अधिकारियों ने कहा कि पूर्व में वायरस से विकृत होने वाली शाह ने भी टीके की पहली खुराक ली। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि दिल्ली के मेदांता अस्पताल के डॉक्टरों ने शाह को टीका लगाया।

उपराष्ट्रपति ने चेन्नई में लगवाया गया
उपराष्ट्रपति ने राजकीय मेडिकल कॉलेज, चेन्नई में टीके की अपनी पहली खुराक ली। नायडू ने ट्वीट करके कहा, ” मैं सभी पात्र लोगों से अपील करता हूं कि वे खुद को केक लगवाएं और कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में शामिल हों। ‘

जयशंकर ने स्वदेशी तौर पर विकसित कोविक्सीन की एक खुराक ली। उन्होंने कहा, ” सुरक्षित महसूस किया, सुरक्षित यात्रा करेंगे। ”

नीतीश कुमार को बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय की मौजूदगी में पटना के आईजीआईएमएस अस्पताल में टीका लगाया गया और उन्होंने लोगों से अपील की कि वे राज्य में को विभाजित -19 में उपचाराधीन मामलों के घटने के मद्देनजर के बारे में अपनी सुरक्षा अहतियात को कम न होने दें। पटनायक नेटेक लेने के बाद कहा, ” हमारे वैज्ञानिकों, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का आभारी हूं कि उन्होंने लोगों को इतने कम समय में उपलब्ध कराया। ”

ये भी पढ़ें- हवाई जहाज की तरह कंट्रोल रूम से संपर्क में बनेगी ट्रेनें

पवार, उनकी पत्नी प्रतिभा पवार और बेटी और सांसद सुप्रिया सुले को महाराष्ट्र के एक निगम अस्पताल में एस्ट्रोगेनेका- ऑक्सफोर्ड की कोविशील्ड टीके की पहली खुराक दी गई।

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने जयपुर के राजभवन में पहली खुराक ली, जबकि तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने चेन्नई में टीका लिया।

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने एम्स दिल्ली में टीका लिया। सिंह ने ट्वीट किया, ” सभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में को -19 मुक्त भारत आंदोलन में शामिल हों। ”

अधिकारियों ने कहा कि द्रविड़ार कशगम के अध्यक्ष के। वीरमणि ने भी चेन्नई के राजीव गांधी सरकारी अस्पताल में टीका लगवाया।

गांधीनगर के एक निजी अस्पताल में टीका लगवाने वालों में गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की पत्नी अंजलि शामिल थे, जिन्होंने कहा कि उन्होंनेके ” यह संदेश देने के लिए लिया है कि लोगों को डरने की जरूरत नहीं है और उन्हें कोरोनावायरस हराने के लिए। फोके लगवाना चाहिए। ”





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments