Home कैरियर क्या है नोएडा को मिला ‘टाउन ऑफ एक्सपोर्ट एक्सीलेंस’ का तमगा, भारत...

क्या है नोएडा को मिला ‘टाउन ऑफ एक्सपोर्ट एक्सीलेंस’ का तमगा, भारत सरकार ने किया है ऐलान


भारत सरकार नो नोएडा को दिया ‘टाउन ऑफ एक्सपोर्ट एक्सीलेंस’ का तमगा

रोजगार और कारोबार के लिहाज से कई बड़े तमगे पहले से ही नोएडा (Noida) की झोली में हैं. आईटी सिटी (IT City) का खिताब भी नोएडा को मिल चुका है, लेकिन नया तमगा केन्द्र सरकार ने दिया है.

नई दिल्ली: रोजगार और कारोबार के लिहाज से कई बड़े तमगे पहले से ही नोएडा (Noida) की झोली में हैं. आईटी सिटी (IT City) का खिताब भी नोएडा को मिल चुका है, लेकिन नया तमगा केन्द्र सरकार ने दिया है. केन्द्र ने नोएडा को टाउन ऑफ एक्सपोर्ट एक्सीलेंस (Town of Export Excellence) घोषित किया है. जैसा की नाम से ही पता चलता है यह तमगा नोएडा के कारोबारियों को एक्सपोर्ट के मिले ऑर्डर के चलते दिया गया है. वो भी ऐसे वक्त में जब भारत ही नहीं दुनिया कोरोना और लॉकडाउन से जूझ रही थी. कारोबारियों का मानना है कि नोएडा को मिले इस खिताब से विदेशी कंपनियों की निगाह नोएडा और यहां बसे कारोबार (Business) पर जाएगी.

इस तमगे के पीछे है रेडीमेड कपड़ों का कारोबार
जानकारों का कहना है कि बेशक केन्द्र सरकार ने सभी तरह के एक्सपोर्ट को देखते हुए नोएडा को टाउन ऑफ एक्सपोर्ट एक्सीलेंस का तमगा दिया है, लेकिन इसके पीछे रेडीमेड गारमेंट की बड़ी इंडस्ट्री है. एक्सपोर्ट के सबसे ज्यादा ऑर्डर रेडीमेड गारमेंट के ही हैं. एक मोटे अनुमान के मुताबिक, नोएडा में इस वक्त 2 हजार से ज्यादा रेडीमेंट गारमेंट की कंपनियां काम कर रही हैं. इन कंपनियों से लाखों लोग जुड़े हुए हैं. इस इंडस्ट्री को नोएडा अपैरल एक्सपोर्ट क्लस्टर (एनएईसी) के नाम से भी जाना जाता है.

यह भी पढ़ें: Gold Price Today: खुशखबरी! अब तक 11000 रुपए सस्ता हो चुका है सोना, चेक करें आज का लेटेस्ट भावयह हैं टाउन ऑफ एक्सपोर्ट एक्सीलेंस का दर्जा मिलने के फायदे

जिन शहरों को टाउन ऑफ एक्सपोर्ट एक्सीलेंस का दर्जा दिया जाता है उन्हें कुछ खास सुविधाएं भी दी जाती हैं. केन्द्र और राज्य सरकारें ऐसे शहरों में उद्योगों को और ज़्यादा बढ़ावा देने के लिए खास पैकेज देती हैं. सबसे ज़्यादा एक्सपोर्ट करने वाली खास इंडस्ट्री को सरकार की ओर से तरजीह मिलती है. कारोबारियों की हर छोटी-बड़ी समस्या पर फौरन सुनवाई होती है. एक्सपोर्ट के लिहाज से इलाके को उसी के अनुसार तैयार किया जाता है.

आर्मी की फायरिंग रेंज के बाद अब भूमाफिया ने बेची वन विभाग की 500 बीघा ज़मीन, हरे पेड़ काटने का आरोप

यह खिताब भी दिला चुकी है गारमेंट इंडस्ट्री
एक थोड़े से वक्त में नोएडा को दूसरी बड़ी कामयाबी मिली है. इसी रेडीमेड गारमेंट इंडस्ट्री के चलते ही नोएडा को यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार एक जनपद-एक उत्पाद (ओडीओपी) योजना के तहत ‘सिटी ऑफ अपैरल’ का खिताब दे चुकी है. अब कारोबारियों को उम्मीद है कि इस नई कामयाबी के बाद केन्द्र सरकार शहर के कारोबार और कारोबारियों को खास सुविधाएं देगी. वहीं यूपी की योगी सरकार कारोबार की तरक्की के लिए ठोस कदम उठाएगी.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments