Home मध्य प्रदेश गुजराती समाज के चुनाव: प्रसाशन ने को विभाजित -19 को देखते हुए...

गुजराती समाज के चुनाव: प्रसाशन ने को विभाजित -19 को देखते हुए लागू कर दिया, 28 फरवरी को होने वाले चुनाव थे


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इंदौर36 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

आदेश की प्रति

प्रशासन ने गुजराती समाज के 28 फरवरी को होने वाले चुनाव पर को विभाजित -19 गाइडलाइन के मद्देनजर प्रतिबंध लगा दिए हैं। एसडीएम रायचौली हब्सी मुनीश सिंह सिकरवारने धारा 144 के तहत आदेश जारी करते हुए गुजराती समाज प्रबंधन समिति को निर्देश दिए हैं कि मतदाताओं की संख्या और कोरोना गाइडलाइन को देखते हुए अधिक स्थान वाली जगह का चयन कर नए सिरे से आवेदन प्रस्तुत करें, तब तक निर्वाचित आगामी आदेश तक रोक रहेगी। इस मामले में सांसद शंकर लालवानी से भी समाज के कुछ लोगों ने मुलाकात की थी, जिसमें पंकज संघवी पर धमकाने और अपने पक्ष में चुनाव करवाने के आरोप भी लगाए गए। वहाँ बढ़ते कोरोना संक्रमण का भी हवाला दिया गया।

गुजराती समाज में संघवी परिवार का सालों से कब्जा रहा है और होने वाले चुनाव में भी संघवी परिवार का वर्चस्व रहता है। पिछले दिनों प्रशासन ने 28 फरवरी को चुनाव करवाने की सहमति दी थी और 1 नसिया रोड पर ये चुनाव अभी रविवार को होने थे। उसके पहले ही भूमाफियाओं की मुहिम शुरू हो गई, जिसमें सुरेन्द्र संघवी, प्रतीक संघवी के खिलाफ भी प्रशासन ने प्राथमिकी दर्ज की है।

एसडीएम द्वारा जारी 144 के आदेश में कहा गया है कि इस चुनाव में लगभग 11086 मतदाता भाग लेते हैं और निर्वाचन के लिए वे अपने परिवार के सदस्यों को भी साथ लाते हैं, जिसके चलते 22 से 25 हजार लोगों की भीड़ जुटने की संभावना है और छोटी जगह पर कोरोना काल में इतनी उपस्थिति आपत्तिजनक है। कई बार गेहमा-गेहमी होने के कारण कानून व्यवस्था की स्थिति निर्मित होने की आशंका है।

लिहाजा तत्काल प्रभाव से आगामी आदेश तक 28 फरवरी के होने वाले गुजराती समाज के चुनाव को प्रतिबंधित किया जाता है। प्रबंधन समिति को कहा गया है कि कोरोना गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए नई जगह के चयन कर नए सिरे से आवेदन प्रस्तुत करे, जिससे दृष्टिकोण कर निर्वाचन के संबंध में उचित निर्णय लिया जा सके। यानी वर्तमान में 28 फरवरी को गुजराती समाज के चुनाव नहीं होंगे। अब नए आवेदन के मुताबिक प्रशासन से उचित निर्णय होगा।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments