Home देश की ख़बरें गुजरात के अंकलेश्वर में मार्मिक घटना: महिला ने तीन बेटियों को जन्म...

गुजरात के अंकलेश्वर में मार्मिक घटना: महिला ने तीन बेटियों को जन्म दिया, तंगी के कारण इलाज नहीं मिला, तीनों की मौत; 4 महीने पहले ही पति का हुआ निधन हुआ था


विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सूरत25 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

बच्चों को लेकर सिविल अस्पताल आ रहा था परिवार

गुजरात के अंकलेश्वर में एक मां की तीन नवजात बच्चियों ने इलाज न मिलने से दम तोड़ दिया। अंकलेश्वर के कसुवावाज गांव में शनिवार सुबह ऊषा नाम की महिला ने 3 बेटियों को जन्म दिया था। बच्चों का वजन कम था और उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। निजी अस्पताल ने जब एक बच्ची को इलाज के लिए मशीन में रखने का खर्च 7500 रुपए बताया, तो आर्थिक तंगी से जूझते परिवार ने उन्हें सूरत के सरकारी अस्पताल ले जाने का फैसला किया। अस्पताल पहुंचने से पहले ही तीनों बच्चों की मौत हो गई।

तीन बेटियों को जन्म देने वाली ऊषा की फाइल फोटो।

तीन बेटियों को जन्म देने वाली ऊषा की फाइल फोटो।

जन्म के महीने में बच्चों का जन्म हुआ
मृतक बेटियों के मामा अजय राठौर ने बताया कि बहन ऊषा ने गर्भ के आठवें महीने में बच्चों को को सौंप दिया था। ऊषा को शुक्रवार को अंकलेश्वर के प्राथमिक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां आज सुबह उषा ने तीन बच्चों को जन्म दिया। लेकिन, तीनों बहुत कमजोर थे और उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। अस्पताल ने हरेक बच्ची को मशीन में रखने का खर्च 7500 रुपए बता दिया था। इसलिए बच्चों को सूरत के सिविल अस्पताल लाया जा रहा था।

पति की मौत के बाद भाई के साथ ही रही थी उषा।

पति की मौत के बाद भाई के साथ ही रही थी उषा।

मां को बच्चों की मौत की खबर नहीं दी गई
सिविल अस्पताल पहुंचते ही ट्रॉमा सेंटर के डॉक्टर्स ने बताया कि तीनों बच्चों की मौत हो चुकी है। यह सुनकर परिवार में मातम छा गया। जबकि, बच्चों की मां अंकलेश्वर के ही अस्पताल में भर्ती है और उसे अब तक बच्चों की मौत की खबर नहीं दी गई है। वर्तमान में बच्चों को सिविल अस्पताल के पोस्टमार्टम कक्ष में रखा गया है।

करीब चार महीने पहले ही पति का निधन हुआ था
अजय राठौर ने बताया कि बहन ऊषा की शादी 7 साल पहले महेश पाटडिया से हुई थी। परिवार में एक 5 साल का बेटा भी है। महेश मजदूरी कर परिवार का भरण-पोषण करता था। लगभग चार महीने पहले ही बीमारी के कारण महेश की मौत हो गई थी।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments