Home देश की ख़बरें गोरखपुर न्यूज़: गोरखपुर के शहीद अशफाक उल्ला खां की रौनक उठाईगी पेंग्विन

गोरखपुर न्यूज़: गोरखपुर के शहीद अशफाक उल्ला खां की रौनक उठाईगी पेंग्विन


गोरखपुर के शहीद अशफाक उल्ला खां चिडिय़ाघर के रौनक उठेगी पेंग्विन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (योगी आदित्यनाथ) के ड्रीम प्रोजेक्ट में से एक गोरखपुर में निर्माणाधीन शहीद अशफाक उल्ला खां प्राणि उद्यान की और रौनक बढ़ेगी। यहां कई जंगली प्राणि मौजूद हैं, लेकिन अब यह पेंग्विन की मौजूदगी के कारण भी चले जाएंगे।

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (योगी आदित्यनाथ) के ड्रीम प्रोजेक्ट में से एक गोरखपुर (गोरखपुर) में निर्माणाधीन शहीद अशफाक उल्ला खां प्राणि उद्यान (अशफाक उल्ला खान चिड़ियाघर) की और रौनक बढ़ेगी। यहां कई जंगली प्राणि मौजूद हैं, लेकिन अब यह पेंग्विन की मौजूदगी के कारण भी चले जाएंगे। शहीद अशफाक उल्ला खां प्राणि उद्यान में पेंग्विन रखने की योजना को साकार रूप दिया जा रहा है, जिसके बाद पेंग्विन की मौजूदगी वाला यह देश का दूसरा दिन हो जाएगा। अभी तक देश में मुम्बई के भायखला स्थित वीरमाता जीजाबाई भोसले उद्यान में ही पेंग्विन हैं। गोरखपुर में हम्बोल प्रजाति की पेंग्विन लाने की तैयारी चल रही है। साथ ही इस जू में जिराफ और इजराइल से दरियाई घोड़ा भी लाया जाएगा।

गोरखपुर का इस चिड़ियाघर के पास खुद का वेट लैंड है। मौजूदा समय में 35 एकड़ से अधिक का वेटलैंड है। जहां एहसान करने वाले विचरण करते हैं। साथ ही चिड़ियाघर के बगल में लगभग 150 एकड़ जमीन पर फर्मवेयर बनाने की योजना भी है। मार्च महीने प्रदेशवासियों को तीसरे प्राणि उद्यान का तोहफा मिल सकता है। गोरखपुर प्राणि और पवन में जानवरों के आने का सिलसिला जारी है। दरियाईघोरा, बाघ, अजगर, डीयर, तेंदुए सहित कई जानवरों को लखनऊ कानपुर के साथ गोरखपुर वन विहार से लाया गया है। इन सभी जानवरों को क्वारंटाइन किया गया है।

प्राणि उद्यान के डॉ। योगेश कुमार का कहना है कि जनवरों को अभी 21 दिन के लिए क्वारंटाइन किया गया है। इस दौरान जानवरों पर नजर रखी जा रही है। अगर उन्हें कोई बिमारी होती है तो इतने दिनों में लक्षण सामने आ जाते हैं, साथ ही जानवरों का परिवेश बदल जाता है और वह एक नया परिवेश में ढलते हैं, इसलिए उन्हें कुछ समय होना चाहिए। इस कारण जब कोई जानवर लाया जाता है तो उन्हें अगल रखा जाता है। प्राणि उद्यान में जहां चिड़ियों की गोलीबारी सुनने के लिए मिलेंगी तो बब्बर शेर, बाघ, तेंदुआ, गैंडा, दर्रा घोड़ा, लकड़बग्घा, भेड़िया, भालू सहित कई अन्य जानवरों की दहाड़ भी सुनाई होगी। इसके लोकार्पण के बाद गोरखपुर की खूबसूरती और बढ़ जाएगी।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments