Home देश की ख़बरें गोरखपुर फर्टिलाइजर कारखाने में नौकरी: पूर्वांचल के युवाओं को गोरखपुर खाद कारखाना...

गोरखपुर फर्टिलाइजर कारखाने में नौकरी: पूर्वांचल के युवाओं को गोरखपुर खाद कारखाना में मिलेंगी 10000 करोड़


नई दिल्ली। गोरखपुर फर्टिलाइजर फैक्ट्री में नौकरी: गोरखपुर में हिंदुस्तान एंड केमिकल लिमिटेड (एचयूआई) के खाद कारखाने की शुरुआत जल्द ही होने जा रही है। ब्वायलर की टेस्टिंग के साथ गैस पाइप लाइन को ठीक करने का काम तेजी से चल रहा है। खाद कारखाना में रेल बिछाने का काम भी आखिरी दौर में है।

10000 से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा
काम पूरा होने के बाद खाद कारखाने, कार्यालय और बिक्री के नेटवर्क के प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से 10 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा। रोजगार वितरण के दौरान पूर्वांचल के युवाओं को भविष्यवाणी दी जाएगी।

एचयू मार्केटिंग के वर्डप्रेस मैनेजर मैनेजर सुबोध दीक्षित के अनुसार पूर्वांचल के साथ ही प्रदेश और देश की आर्थिक समृद्धि और रोजगार देने में यह खाद कारखाना बहुत उपयोगी होगा। साथ ही यहां की नीम कोटेड यूरिया छोटे दाने की और निष्पादन होगा।खाद कारखाना के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी

शिलान्यास: जुलाई २०१६
शिलान्यास किया: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था
कार्यदायी संस्था: टोक्यो जापान
कुल बजट: 7085 करोड़
यूरिया प्रकार: नीम कोटेड
प्रीलिंग टॉवर: 149.5 मीटर ऊंचा

प्रारंभ होने की तिथि: जुलाई 2021
रबर डैम का बजट: 28 करोड़
रोजगार प्रत्यक्ष / अप्रत्यक्ष: लगभग 10 हजार से ज्यादा

इन स्थाई पदों पर निकलने की भर्ती है
असिस्टेंट मैनेजर, इंजीनियर, वाइस प्रेसीडेंट, शेफ मैनेजर, मैनेजर, आफिसर के स्थाई पदों पर भर्तियां निकली हैं। इसके लिए एचयूयू की वेबसाइट पर आवेदन मांगे गए हैं।

भविष्य में साथ ही कंप्यूटर सेवा, आफसाइट्स एंड यूटिलिटीज, यूरिया प्रोडक्ट ब्रांड्सक्ष्क्षलग, तिरुवनंतपुरम, सिविल, एन्वायरमेंट एंड सेफ्टी, मदी, एन्वायरमेंट एंड क्वालिटी कंट्रोल, क्वालिटी एश्योरेंस एंड इंस्पेक्शन, एचआर, फाइनेंस, कंपनी सेक्रेटरी, कांट्रेक्ट्स मैटेरियल और मार्केटिंग पदों की भर्ती। । इसके अलावा यह भी योजना बनाई जा रही है कि अस्थाई पदों पर स्थानीय लोगों की भर्ती की जाए।

बिक्री नेटवर्क के जरिए हजारों रोजगार मिलेंगे
एचयू ढूंढ में मार्केटिनंग का काम देख रहे उमाकांत त्रिपाठी ने जागरण को बताया कि खाद बिक्री के लिए पूर्वांचल में 14 डीलर बनाए जा रहे हैं। हर डीलर के अधीन तकरीबन दो सौ रिटेलर बने हैं। गोरखपुर निर्मित यूरिया की आपूर्ति पूरे उत्तर प्रदेश के साथ बिहार में भी की जाएगी। इस काम में हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा।

ये भी पढ़ें
सरकार्युकरी: 8 वें पास के सिंचाई विभाग में निकली भर्तियां, सैलरी 56000 तक
Sarkari naukri: यूपी में इस हफ्ते आएगी शिक्षकों की 19 हजार से ज्यादा वैकेंसी, देखें डिटेल

28 सौ विकासशील टन यूरिया की हो चुकी है बिक्री
पूर्वांचल के किसानों में खाद की पैठ बनाने के लिए खाद कारखाना प्रबंधन ने पिछले साल मुंबई सेjavla नाम का 28 सौ टन टन यूरिया मंगाया था। इस तरह को गोरखपुर कारखाने के नाम से रिटेलरों को किलोग्राम 260 प्रति 45 किलोग्राम बोरा बेचा गया जिसे किसानो ने हाथो-हाथ खरीद लिया।

अनुमान के हिसाब से खाद कारखाने में रोजाना 3850 टन टन यूरिया का उत्पादन होना है। एचयू पृष्ठ ने किसानों को खाद कारखाने से जोड़ने के लिए टोल फ्री नंबर 18002586807 भी जारी किया है।

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं / प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स / करियर से जुड़ी जॉब अलर्ट, हर खबर के लिए परीक्षाएं- https://hindi.news18.com/news/career/





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments