Home मध्य प्रदेश ग्वालियर-चंबल में सड़क, स्वास्थ्य व खेल पर ध्यान दें: सिंधिया के गढ़...

ग्वालियर-चंबल में सड़क, स्वास्थ्य व खेल पर ध्यान दें: सिंधिया के गढ़ में राहत का बजट, चंबल एक्सप्रेस-वे, हिल का सेंट्रल ऑफ एक्सीलेंस सेंटर, मेडिकल कॉलेज के लिए बजट में प्रावधान


विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गोलमाल करनेवाला31 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

ग्वालियर-चंबल अंचल के लिए चंबल एक्सप्रेस-वे को बजट में रखा गया है, इसके लिए बजट दिया गया है। इससे बनने से व्यापार और रोजगार की संभावा बढ़ेगी

  • बजट में दिखी सिंधिया और शिवराज के बीच अच्छे संबंध की झलक
  • 1000 बिस्तर के अस्पताल के लिए 140 करोड़ का प्रावधान

प्रदेश के बजट 2021-22 में सिंधिया के गढ़ ग्वालियर-चंबल अंचल को राहत देने के लिए तबज्जो मिला है। सिंधिया के गढ़ में चंबल एक्सप्रेस-वे, ग्वालियर में हिल का सेन्टल ऑफ एक्सीलेंस सेंटर, श्योपुर में मेडिकल कॉलेज की योजनाओं को बजट में शामिल करना राहत देने वाला है। साथ ही ग्वालियर शहर के बीच स्वर्ण रेखा नदी के ऊपर से दूषित सड़क को भी बजट में शामिल किया गया है। ये सबसे महत्वपूर्ण चंबल एक्सप्रेस-वे है। यह सिंधिया और केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह की साख के लिए बहुत जरूरी था। चंबल एक्सप्रेस वे का काम शुरू हो चुका है। लोक निर्माण विभाग को बजट बढ़ाकर देने का बजट में प्रावधान किया गया है। साथ ही 250 से ज्यादा आबादी वाले आदिवासी गांव को पीएम सड़क योजना से जोड़ने का फायदा भी अंचल के शिवपुरी और श्योपुर जिलों को होगा। यह आदिवासी बाहुल्य जिले हैं। लगभग 35 गांव की सड़क से जुड जाएगी। यहां विकास और रोजगार की संभावनाएं नजर आ रही हैं।

प्रदेश सरकार ने सत्र 2021-22 के लिए बजट पेश किया है, इसमें कोई नया कर नहीं लगाया गया है

प्रदेश सरकार ने सत्र 2021-22 के लिए बजट पेश किया है, इसमें कोई नया कर नहीं लगाया गया है

मंगलवार को विधानसभा में प्रदेश सरकार ने 2021-22 सत्र के लिए बजट पेश किया। प्रदेश के वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने बजट भाषण पढ़ा और उनके बाद राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के गढ़ मतलब ग्वालियर-चंबल अंचल में उनका आँकड़ा शुरू हो गया। चलिए समझते हैं कि बजट में ग्वालियर- चंबल अंचल को क्या मिला है और कहां निराशा हाथ लगी है।

लोक सेवा जोर कानून में बदलाव होगा; तय समय पर लोगों का काम नहीं हुआ तो सर्टिफिकेट अपने आप जारी हो जाएगा

इनको बजट में प्रावधान मिला

चंबल एक्सप्रेस-वे

  • भिंड से श्योपुर के बीच चंबल की बीहड़ को काटकर बनाए जा रहे चंबल एक्सप्रेस वे अंचल के लिए सबसे बड़ी और महत्वपूर्ण योजना है। बजट में एक्सप्रेस वे के लिए प्रावधान किया गया है। इस एक्सप्रेस वे से बीहड़ में हालात सुधरेंगे। कई गांव जहां अच्छी सड़क नहीं है, वह सीधी हाईवे से जुड़ जाएगी। जिस कारण यहाँ उद्योग, रोजगार का विकास होगा।

हकी सेंट्रल ऑफ एक्सीलेंस सेंटर

  • बजट में जिक्र है कि ग्वालियर में हिल का सेन्ट्रल ऑफ एक्सीलेंस सेंटर ओपनगा। इस केंद्र से राष्ट्रीय खेल हॉकी के विकास और ग्वालियर सहित अंचल के खिलाड़ियों को बढ़ावा मिलेगा। जिससे इस खेल में भविष्य तलाशने वालों को मौका मिलेगा।

श्योपुर में मेडिकल कॉलेज

बजट में प्रदेश में 9 नए मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए प्रावधान किया गया है। जिसमें एक नए मेडिकल कॉलेज अंचल के श्योपुर जिले में खोला जाना है। इससे श्योपुर सहित अंचल में स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार होगा। साथ ही दतिया और शिवपुरी मेडिकल कॉलेज के लिए 348 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

35 से अधिक गाँव पीएम सड़क योजना से जुड़ेंगे

बजट में प्रावधान किया गया है कि ऐसे गांव जिनमें आदिवासी जनसंख्या की आबादी 250 से ज्यादा है। वह सीधी पीएम सड़क योजना से जुड़ जाएगा। ग्वालियर-चंबल अंचल में शिवपुरी और श्योपुर आदिवासी बाहुल्य जिले हैं। उन 35 से ज्यादा गांव वाले इस योजना का फायदा ले सकते हैं। इससे यहां विकास होगा और रोजगार के अवसर बनेंगे।

यहां भी फायदा मिला

  • स्मार्ट सिटी के लिए बजट में प्रावधान किया गया है
  • ग्वालियर में स्वीकृत सड़क को बजट में शामिल किया गया है
  • एक हजार गौशाला बनाई गई होगी इसमें ग्वालियर भी शामिल है
  • एक जिला एक उत्पादक योजना के तहत कोल्ड स्टोरेज बनाए जाएंगे
  • जेएएच में एक हजार बिस्तर के अस्पताल के लिए 140 करोड़ का प्रावधान बजट रखा गया है
  • मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस सीटों को बढ़ाया गया है, ग्वालियर, दतिया को लाभ मिलेगा

यहाँ निराशा मिली

  • चंबल का पानी ग्वालियर लाने की योजना का बजट में कोई उल्लेख नहीं किया गया
  • कोई नया उद्योग या पुराना उद्योग के लिए कोई बजट नहीं मिला
  • ग्वालियर में मेट्रो रेल पर भी कुछ स्पष्ट नहीं कहा गया है
  • कर में कोई कटौती नहीं की है इसलिए जनता को वर्तमान में महंगाई से भी राहत नहीं मिल रही है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments