Home ब्लॉग घरेलू एविएशन इंडस्ट्री की रिपोर्ट: मेट्रो सिटी के मुकाबले छोटे शहरों के...

घरेलू एविएशन इंडस्ट्री की रिपोर्ट: मेट्रो सिटी के मुकाबले छोटे शहरों के टर्मिनल पर पैसेंजर ट्रैफिक बढ़ा, यह को विभाजित -19 से पहले के स्तर पर पहुंच गया


विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली10 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

पैसेंजर ट्रैफिक के साथ-साथ छोटे इंजनों पर दिसंबर 2020 की तरह जनवरी 2021 में भी एयरक्राफ्ट मूवमेंट में उछाल आ रहा है।]

  • 210% के उछाल के साथ असम का तेजपुर टर्मिनल टॉप पर
  • कर्नाटक के कलबुर्गी एयरपोर्ट पर पैसेंजर ट्रैफिक में 72.5% का उछाल

बड़े उद्योग में धीमी रिकवरी के ट्रेंड को पछाड़ते हुए छोटे शहरों के टर्मिनल पर लगातार पैसेंजर ट्रैफिक बढ़ रहा है। जनवरी में इन बंदरगाहों पर यात्री ट्रैफिक को विभाजित -19 से पहले के स्तर को पार कर गया है। जबकि ओवरऑल पैसेंजर ट्रैफिक में वार्षिक आधार पर लगभग 39% की गिरावट आई है।

छोटे टर्मिनल की संख्या 14 हुई

दिसंबर 2020 के मुकाबले अब देश में छोटे बंदरगाहों की संख्या बढ़कर 14 पर पहुंच गई है। इस साल जनवरी में तिरुपति एयरपोर्ट भी एविएशन इंडस्ट्री से जुड़ गया है। एक साल पहले की समान अवधि के मुकाबले इन बंदरगाहों पर ज्यादा फुटफॉल रिकॉर्ड किया गया है। उनके मुकाबले मेट्रो सिटी का कोई भी टर्मिनल एक साल पहले की समान अवधि के आंकड़े तक नहीं पहुंच पाया है।

तेजपुर टर्मिनल के पैसेंजर ट्रैफिक में 210% का उछाल

जनवरी 2021 में असम के तेजपुर टर्मिनल पर पैसेंजर ट्रैफिक में 210% का उछाल आया है। पैसेंजर ट्रैफिक में वृद्धि के मामले में तेजपुर टर्मिनल टॉप पर है। इसके बाद 72.5% के उछाल के साथ कर्नाटक के कलबुर्गी टर्मिनल का नंबर आता है। कलबुर्गी को गुलबर्ग के नाम से भी जाना जाता है। कलबुर्गी टर्मिनल नवंबर 2019 में लॉन्च हुआ था। अभी यहाँ से स्टार एयर और एलायंस एयर ऑपरेशन संचालित हैं। इसके अलावा हिंडन, नासिक और झारसुगड़ा टर्मिनल के ट्रैफिक में भी ग्रोथिंग है।

21 टर्मिनल पर एयरक्राफ्ट मूवमेंट बढ़ा

पैसेंजर ट्रैफिक के साथ-साथ छोटे इंजनों पर दिसंबर 2020 की तरह जनवरी 2021 में भी एयरक्राफ्ट मूवमेंट में उछाल आ रहा है।]कलबुर्गी, कुड़ापा, दीमापुर और गोरखपुर उन बंदरगाहों में शामिल हैं जिन पर सबसे ज्यादा एयरक्राफ्ट मूवमेंट रहा है।

एविएशन इंडस्ट्री के लिए अगले दो महीने काफी महत्वपूर्ण हैं

एविएशन इंडस्ट्री के सीनियर एक्जीक्यूटिव का कहना है कि ट्रैफिक और एयरक्राफ्ट मूवमेंट में वृद्धि से उद्योग का उत्साह बढ़ा है। एविशन इंडस्ट्री के लिए अगले दो महीने काफी महत्वपूर्ण हैं। कुछ शहरों में को विभाजित के मामलों की संख्या में हाल में उछाल आया है। यह देखना होगा कि इसका केंद्र सेंटिमेंट पर क्या असर पड़ेगा? यदि वैक्सीनेशन में वृद्धि होती है तो इससे एविशन इंडस्ट्री को मदद मिलेगी।

ओवरऑल पैसेंजर ट्रैफिक में 39% की गिरावट

छोटे टर्मिनल पर फुटफॉल बढ़ने के बावजूद जनवरी 2021 में घरेलू पैसेंजर ट्रैफिक में 39.50% की गिरावट आई है। डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) के आंकड़ों के मुताबिक, जनवरी 2021 में 77.34 लाख घरेलू यात्रियों ने हवाई सफर किया है। एक साल पहले समान अवधि में 127.83 लाख यात्रियों ने यात्रा की थी। हालांकि, दिसंबर 2020 के 73.27 लाख के मुकाबले जनवरी 2021 में 5.5% की ग्रोथ रही है। मौजूदा समय में एयरलाइंस की तुलना में प्री-कोविड के 80% क्षमता के साथ परिचालन हो रहे हैं।

कोविड -19 के बाद 25 मई से शुरू हुई घरेलू उड़ानें हैं

कोविड -19 के कारण पिछले साल 22 मार्च से घरेलू और आंतरिक उड़ानों पर रोक लगा दी गई थी। लगभग कुछ महीनों तक प्रतिबंध के बाद 25 मई 2020 तक घरेलू उड़ानें शुरू की गई थीं। इसके बाद से लगातार घरेलू उड़ानों में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments