Home उत्तर प्रदेश चीनी का बेहतर विकल्प बन सकता है ग्राम पाउडर

चीनी का बेहतर विकल्प बन सकता है ग्राम पाउडर


ये ग्राम उत्पाद मेले में किए गए प्रदर्शित होंगे।
– फोटो: अमर उजाला ब्यूरो, बरेली

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

* केवल ₹ 299 सीमित अवधि की पेशकश के लिए वार्षिक सदस्यता। जल्दी से!

ख़बर सुनकर

राज्य ग्राम महोत्सव में खीरी का प्रतिनिधित्व करेंगे
लखनऊ में 6 से 7 मार्च तक लगेगी गुड़ उत्पादों की प्रदर्शनी

लखीमपुर खीरी। एक जिला एक उत्पाद योजना में शामिल जनपद का गुड़ लखनऊ में अपना खाता दिखाएगा। दो दिवसीय राज्य ग्राम महोत्सव में जनपद के सात उद्यमी प्रदर्शनी में भाग लेंगे। इस बार ग्राम के पाउडर का स्टालम्प मचा जाएगा, ऐसी संभावना खांडसारी विभाग के अधिकारी जता रहे हैं। उनका कहना है कि सेमारिया निवासी पलजिंदर कौर का यह अनूठा प्रयोग है।
जनपद में चीनी उद्योग के अलावा क्रशर प्लांट और कोल्हू उद्योग भी अपनी जड़ें जमा कर चुके हैं। लगभग दो हजार कोल्हुओं पर गुड़ और राब का उत्पादन किया जा रहा है। लाखों किसानों के साथ ही हजारों मजदूरों को ग्राम उद्योग से रोजगार मिल रहा है। ऐसे में खीरी के ग्राम को राज्य स्तर पर होने वाली प्रदर्शनी में शामिल होने का मौका पहली बार मिलने वाला है।
पिछले वर्ष 2020 में कोरोना संकट के कारण ग्राम युग को संरक्षित कर दिया गया था। इस साल भी फरवरी में त्योहार को एक बार टाला जा चुका है, जिसके बाद नए कार्यक्रम स्थल इंदिरा गांधी सेवा कठौता चौराहा रोड, विभूति खंड गोमतीनगर लखनऊ में 6 और 7 मार्च 2021 को महोत्सव होगा। इसमें जिला उद्योग केंद्र से चयनित उद्यमी बलजीत सिंह निवासी वसेगापुर, न्यूम निवासी गौरिया, अमरदीप सिंह निवासी खमरिया फार्म और चेतनवीर सिंह निवासी मकसोहा अपने गुड़ उत्पादों के स्टाल प्रदर्शनी में लगाए गए।
वहीं खांडसारी विभाग के माध्यम से गुलशेर निवासी शमसेरनगर, मनीष वर्मा निवासी ताजपुर भैठिया और पलजिंदर कौर निवासी सेमारिया भी अपने स्टाल लगाने वाली गुड़ महोत्सव में होगीगी। इसमें सेमारिया निवासी पलजिंदर कौर ने ग्राम पाउडर का उत्पादन शुरू किया है, जिसे चीनी की तरह इस्तेमाल में लाया जा रहा है। विभिन्न तरह की बीमारियों में चीनी के प्रयोग पर डॉक्टरों द्वारा प्रतिबंध लगाने से परेशान लोगों के लिए ग्राम पाउडर उपयोगी साबित हो सकता है।

ब्रांड नाम से ग्राम उत्पादों को बाजार में उतारने की तैयारी

खांडसारी अधिकारी सीएम उपाध्याय ने बताया कि गुड़ उत्पादों को अभी तक ब्रांड नाम से नहीं तैयार किया गया है और न ही रिकॉर्डिंग की व्यवस्था है। इससे पारंपरिक तरीके से ही गुड़ की खपत हो रही है और अन्य राज्यों में भी जनपद से ग्राम सप्लाई किया जाता है। अब कुछ कोल्हू मालिक गुड़ और गुड़ पाउडर की खेती करने की तैयारी कर रहे हैं, जिनके लिए पंजीकरण, लाइसेंस की प्रक्रिया संपन्न की जा रही है। जल्द ही कुछ कारोबारी गुड़ को छानने में ब्रांड नाम से बाजार में उतार सकते हैं, इससे ग्राम उद्योग नई ऊंचाई छू सकते हैं।

राज्य ग्राम महोत्सव में खीरी का प्रतिनिधित्व करेंगे

लखनऊ में 6 से 7 मार्च तक लगेगी गुड़ उत्पादों की प्रदर्शनी

लखीमपुर खीरी। एक जिला एक उत्पाद योजना में शामिल जनपद का गुड़ लखनऊ में अपना खाता दिखाएगा। दो दिवसीय राज्य ग्राम महोत्सव में जनपद के सात उद्यमी प्रदर्शनी में भाग लेंगे। इस बार ग्राम के पाउडर का स्टालम्प मचा जाएगा, ऐसी संभावना खांडसारी विभाग के अधिकारी जता रहे हैं। उनका कहना है कि सेमारिया निवासी पलजिंदर कौर का यह अनूठा प्रयोग है।

जनपद में चीनी उद्योग के अलावा क्रशर प्लांट और कोल्हू उद्योग भी अपनी जड़ें जमा कर चुके हैं। लगभग दो हजार कोल्हुओं पर गुड़ और राब का उत्पादन किया जा रहा है। लाखों किसानों के साथ ही हजारों मजदूरों को ग्राम उद्योग से रोजगार मिल रहा है। ऐसे में खीरी के ग्राम को राज्य स्तर पर होने वाली प्रदर्शनी में शामिल होने का मौका पहली बार मिलने वाला है।

पिछले वर्ष 2020 में कोरोना संकट के कारण ग्राम युग को संरक्षित कर दिया गया था। इस वर्ष भी फरवरी में त्योहार को एक बार टाला जा चुका है, जिसके बाद नए कार्यक्रम स्थल इंदिरा गांधी सेवा कठौता चौराहा रोड, विभूति खंड गोमतीनगर लखनऊ में 6 और 7 मार्च 2021 को महोत्सव होगा। इसमें जिला उद्योग केंद्र से चयनित उद्यमी बलजीत सिंह निवासी वसेगापुर, न्यूम निवासी गौरिया, अमरदीप सिंह निवासी खमरिया फार्म और चेतनवीर सिंह निवासी मकसोहा अपने गुड़ उत्पादों के स्टाल प्रदर्शनी में लगाए गए।

वहीं खांडसारी विभाग के माध्यम से गुलशेर निवासी शमसेरनगर, मनीष वर्मा निवासी ताजपुर भैठिया और पलजिंदर कौर निवासी सेमारिया भी अपने स्टाल लगाने वाली गुड़ महोत्सव में होगीगी। इसमें सेमारिया निवासी पलजिंदर कौर ने ग्राम पाउडर का उत्पादन शुरू किया है, जिसे चीनी की तरह इस्तेमाल में लाया जा रहा है। विभिन्न तरह की बीमारियों में चीनी के प्रयोग पर डॉक्टरों द्वारा प्रतिबंध लगाने से परेशान लोगों के लिए ग्राम पाउडर उपयोगी साबित हो सकता है।

ब्रांड नाम से ग्राम उत्पादों को बाजार में उतारने की तैयारी

खांडसारी अधिकारी सीएम उपाध्याय ने बताया कि गुड़ उत्पादों को अभी तक ब्रांड नाम से नहीं तैयार किया गया है और न ही रिकॉर्डिंग की व्यवस्था है। इससे पारंपरिक तरीके से ही गुड़ की खपत हो रही है और अन्य राज्यों में भी जनपद से ग्राम सप्लाई किया जाता है। अब कुछ कोल्हू मालिक गुड़ और गुड़ पाउडर की खेती करने की तैयारी कर रहे हैं, जिनके लिए पंजीकरण, लाइसेंस की प्रक्रिया संपन्न की जा रही है। जल्द ही कुछ व्यवसाय ग्राम को छानने में ब्रांड नाम से बाजार में उतार सकते हैं, इससे ग्राम उद्योग नई ऊंचाई छू सकते हैं।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments