Home देश की ख़बरें जम्मू और कश्मीर: पाकिस्तानी ड्रग तस्करों की मदद के आरोप में बीएसएफ...

जम्मू और कश्मीर: पाकिस्तानी ड्रग तस्करों की मदद के आरोप में बीएसएफ अधिकारी रोमेश को एनआईए ने गिरफ्तार किया


सोमवार को हुई लंबी लंबी पूछताछ के बाद कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया था। (सांकेतिक चित्र)

बीएसएफ अधिकारी गिरफ्तार: जम्मू-कश्मीर (जम्मू-कश्मीर) के हंदवाड़ा में एनआईए (एनआईए) ने बीएसएफ के असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर रोमेश कुमार पर शिकंजा कसा है। कहा जा रहा है कि ये तस्करों के तार लश्कर-ए-तैयबा और हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़े हैं।

जे। सीमा पार जारी तस्करी (सीमा पार तस्करी) को लेकर नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने बड़ी कार्रवाई की है। तस्करों की मदद करने के आरोप में एनआईए ने सीमा सुरक्षा बल (सीमा सुरक्षा बल) के सहायक उप निरीक्षक को गिरफ्तार किया है। यह कार्रवाई जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा (हंदवाड़ा) में हुई है। कहा जा रहा है कि ये तस्करों के तार लश्कर-ए-तैयबा और हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़े हैं। हालाँकि, इससे पहले भी सुरक्षा व्यवस्था से जुड़े व्यक्ति को तस्करों की मदद के आरोप में गिरफ्तार किया जा चुका है।

जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में एनआईए ने बीएफ के असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर रोमेश कुमार पर शिकंजा कसा है। आतंकवादियों की मदद करने के आरोप में जनवरी 2020 के बाद यह दूसरा गिरफ्तारी है। कुमार के घर पर भी एनआईए ने छापा मारा है। वहीं, एनआईए इससे पहले पुलिस उपाधीक्षक देवेंद्र सिंह को भी गिरफ्तार कर चुका है। उनपर हिजबुल के आंतकों की मदद करने के आरोप लगे थे।

यह भी पढ़ें: पप्पू यादव बोले- हर जिले में पांच और त्रिपाल में शराब की एक दुकान खोली नीतीश सरकार

अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स में प्रकाशित रिपोर्ट्स के मुताबिक, जानकारी बताते हैं कि बारामुल्ला और हंदवाड़ा इलाकों में तस्करों की जांच के लिए नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो में डेप्युटेशन पर तैनात किया गया था। आरोप है कि इस दौरान उनके आतंकी समूहों से जुड़े ड्रग तस्करों के साथ काम करने लगा। खास बात है कि ड्रग तस्करी के आरोपी से पूछताछ के दौरान एनसीबी ने कुमार के बीएसएफ में वापस भेज दिया था।

सोमवार को हुई लंबी लंबी पूछताछ के बाद कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया था। उन्हें मंगलवार को जम्मू की विशेष अदालत में पेश किया गया। यहां से कुमार को दो सप्ताह की हिरासत में भेज दिया गया है। हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार, गोपनियता के आधार पर एक अधिकारी ने बताया कि चार कथित ड्रग तस्करों ने हस्तक्षेप के दौरे कुमार का नाम लिया था। राजधानी दिल्ली में बीएफएफ प्रवक्ता ने कहा कि इस गिरफ्तारी को लेकर और जानकारी बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि आपराधिक मामलों में गिरफ्तार जवान या किसी भी अधिकारी को सस्पेंड किया जाएगा।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments