Home मध्य प्रदेश जीएसटी प्रावधानों के बारे में आज भारत बंद: भोपाल में रात 11...

जीएसटी प्रावधानों के बारे में आज भारत बंद: भोपाल में रात 11 बजे के बाद असर ऑनलाइन; सुबह से आवश्यक सेवाओं की दुकानें खुली हैं


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भोपाल17 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

भारत बंद का सबसे ज्यादा असर पुराने भोपाल पर नजर पड़ेगा। यह पुराना भोपाल का बुलंद बाजार है।

  • कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) और भोपाल के व्यापारी महासंघ ने उठाई मांग

कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) और भोपाल रिफाइनरी महासंघ के जीएसटी के कुछ प्रावधानों के विरोध में आज देश के साथ ही मध्यप्रदेश में बंद है। हालांकि यह स्वेक्ति है, लेकिन इसका असर प्रदेश के पुराने क्षेत्रों के साथ खासतौर पर थोक परिधान व्यापार रहेगा। शुक्रवार को सुबह से आवश्यक चीजों की दुकानें खुली हुई हैं।

भोपाल के व्यापारी महासंघ के महासचिव अनुपम अग्रवाल ने बताया कि हम चाहते हैं कि जीएसटी के कुछ प्रावधानों में बदलाव हो। यह पूरी तरह से बंद रहेगा। हम सड़क पर ना तो निकलेंगे और न ही दुकानों आदि से खुलेंगे। हालांकि अभी भी सुबह से दुकानें बंद रहती हैं, इसलिए 11 बजे के बाद इसका असर दिखने लगेगा।

ये व्यापारियों की मांग है

अग्रवाल ने कहा कि HTTP की धारा 281B और CGST की धारा 83 (3) में फर्जी बिल, गैर-मौजूद विक्रेता, सर्कुलर शनिवार आदि के कारण कर चोरी के मामलों में कर अधिकारी को बैंक खाते और संपत्ति को रोकने का अधिकार दे दिया है। । ऐसे में वह संपत्ति और बैंक खातों को भी दूर कर सकता है।

इसकी मार सबसे ज्यादा ईमानदार व्यापारियों पर पड़ेगी। फर्जी बिलों या गैर कानूनी काम कर रहे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाना चाहिए, लेकिन इस कानून का इस्तेमाल उन करोड़ों व्यापारियों के खिलाफ भी किया जा सकता है, जो ईमानदारी से अपना व्यापार कर रहे हैं।

कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के प्रदेश सचिव विवेक साहू ने कहा कि नागपुर में हुई डाउनलोड के बाद इस बंद को बुलाया गया है। अधिकांश संघ इस बंद के समर्थन में हैं। खाद्य सुरक्षा अधिनियम को लेकर व्यापारियों में जागरूकता होनी चाहिए। व्यापारिक संगठित होकर अपने विरुद्ध होने वाली आवाज़ को बुलंद करेंगे। खाद्य सेफ्टी एक्ट में व्यापारियों के खिलाफ ऐसे बहुत सारे नियम हैं, जिन्हें हल करना बहुत आवश्यक है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments