Home ब्लॉग टैक्स सेविंग टिप्स: 5 साल के लिए एफडी करा कर आप भी...

टैक्स सेविंग टिप्स: 5 साल के लिए एफडी करा कर आप भी बचा सकते हैं टैक्स, ये बैंक दे रहे हैं शानदार ब्याज


  • हिंदी समाचार
  • व्यापार
  • कर बचत; टैक्स सेविंग एफडी; सावधि जमा ; आयकर ; आप 5 साल के लिए एफडी प्राप्त करके कर भी बचा सकते हैं, ये बैंक उत्कृष्ट ब्याज दे रहे हैं

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली4 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

अगर आप इनकम टैक्स छूट का फायदा उठाने के लिए कहीं ऐसी जगह निवेश करने का प्लान बना रहे हैं जहां आपको अच्छा रिटर्न मिला है और आपका भुगतान भी सुरक्षित रहा है तो आप टैक्स सेविंग फ्राइड डिपॉजिट (एफडी) में निवेश कर सकते हैं। इसमें निवेश पर शिशु कानून के सेक्शन 80C के तहत 1.5 लाख रुपये तक टैक्स की छूट ली जा सकती है।

टैक्स सेविंग एफडी क्या है
5 साल की एफडी को टैक्स सेविंग एफडी ने कहा है। इसमें आपको 5 साल के लिए यानी लॉन्ग टर्म के लिए निवेश करना होता है। सभी बैंक टैक्स सेविंग एफडी की सुविधा देते हैं।

टैक्स सेविंग एफडी से जुड़ी खास बातें

  • केवल इंडिविडुअल्स और हिन्दू अनडिवाइडेडेड फैमिली को ही टैक्स सेविंग फ्राइड डिपॉजिट में निवेश पर कर छूट हासिल है।
  • ये डिपोजिट कम से कम पांच साल के लिए किए जाने चाहिए। समय से पहले निकासी और नाकाम डिपॉजिट पर लोन की सुविधा इन पर नहीं मिलती है।
  • पोस्ट ऑफिस में पांच साल के लिए किया जाने वाला निवेश भी शिशु कानून 1961 के सेक्शन 80 (सी) के तहत कर छूट में शामिल है।
  • पोस्ट ऑफ़िस फिएट किए गए डिपाजिट को एक से दूसरे पोस्ट ऑफिस में ट्रांसफर किया जा सकता है।
  • इस तरह का एफडी सिलेज या जॉइंट होल्डिंग में हो सकता है। अगर नाकाम डिपोजित जॉइंट होल्डिंग में है तो शिशु में छूट का फायदा सिर्फ फर्स्ट होटर को मिलेगा।
  • इस तरह के एफडी पर मिलने वाला ब्याज टैक्स फ्री नहीं है और इसे इन्वेस्टर्स की आमदनी में जोड़कर उस हिसाब से टीडीएस कट जाता है (
  • इन डिपॉजिट पर ब्याज मासिक / तिमाही आधार पर मिलता है, जिसे फिर से किया जा सकता है।
  • मैच्योरिटी से पहले निष्कर्षण और इस एफडी पर लोन लेने की सुविधा नहीं होती है।
  • ये जमा 5 साल का लॉक-इन पीरियड रहता है।

टैक्स सेविंग एफडी पर कौन-सा बैंक दे रहा है कितना ब्याज?

बैंक ब्याज दर (%)
आरबीएल बैंक 6.75
यस बैंक 6.75
पोस्ट ऑफिस 6.70
इंडसइंड बैंक 6.50
एक्सिस बैंक ५.५०
आईसीआईसीआई ५.५०
एचडीएफसी ५.५०
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया 5.40
पंजाब नेशनल बैंक ५.३०
बैंक ऑफ इंडिया ५.३०

80 सीसी से क्या है?
पेटेंट कानून का सेक्शन 80C दरअसल इनकम टैक्स कानून, 1961 का हिस्सा है। इसमें उन निवेश माध्यमों का उल्लेख है, जिसमें निवेश कर HTTP में छूट का दावा किया जा सकता है। कई लोग वित्त वर्ष खत्म होने से पहले टैक्स बचाने के लिए निवेश करना शुरू करते हैं।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments