Home मध्य प्रदेश टॉयलेट कम कैफे: उज्जैन में अब 10 रुपए में आप एयरकूलित शौचालय...

टॉयलेट कम कैफे: उज्जैन में अब 10 रुपए में आप एयरकूलित शौचालय का उपयोग कर, कॉफी-चाय मुफ्त मिलेगा


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अजान10 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

स्मार्ट टॉयलेट के उद्घाटन पर मंत्री मोहन यादव और सांसद अनिल फिरोजिया

  • पीसीबीपी मॉडल पर बना है स्मार्ट टॉयलेट
  • अटैविक सीट- खुद ही खुलेगी, फ्लश होगी और बंद हो जाएगी

उज्जैन में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत अब लोगों को एक एेसी सुविधा मिलने जा रही है जहां पर उन्हें ताजजा होने के बाद मुफ्त में कॉफी या चाय पीने को मिलेगी। यह सुनने में थोड़ा अजीब जरूर लग रहा है लेकिन यह सच है। उज्जैन नगर निगम ने एक ऐसे टॉयलेट का निर्माण किया है जहां पर लोगों को 10 रुपए टिकट में दिन में एक बार शौच और दो बार लघुशंका करने के साथ मुफ्त में एक कॉफी या एक चाय या टिकट की कीमत के बराबर खाद्य सामग्री खाने को मिलेगी। यह स्मार्ट टॉयलेट निगम ने नानाखेड़ा बस स्टैंड में बनाया है। यह पीसीपी मॉडल पर बनाया गया है। मध्यप्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ। मोहन यादव, सांसद अनिल फिरोजिया, पूर्व विधायक राजेंद्र भारती, पूर्व महापौर मीना जोनवाल व निगम आयुक्त क्षितिज सिंघल ने स्मार्ट टॉयलेट का लोकार्पण किया। निगमायुक्त ने कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में शहर को उत्कृष्ट स्थान दिलाने और महाकाल मंदिर में देश के कोने-कोने से आने वाले श्रद्धालुओं को सुविधा देने के लिए इस टॉयलेट का निर्माण कराया गया है।

सुबह पांच बजे से रात 10 बजे तक कर सकते हैं

आयुक्त सिंघल ने बताया कि इस टॉयलेट का उपयोग सुबह पांच बजे से रात 10 बजे तक किया जा सकता है। उपयोग करने के लिए 10 रुपए के टिकट लेना होगा। संचालन के लिए 10 साल के लिए भोपाल की एक कंपनी के साथ अनुबंधित किया गया है। इसमें एयरुलिट शौचालय, मूत्रालय और स्नानागार है। उपभोक्ता के साथ ही उक्त 10 रुपये के टिकट से 24 घंटे में कभी भी चाय / कॉफी या खाद्य सामग्री कैफे से ले सकते हैं। यानि कि शौचालय और मूत्रालय के साथ कॉफी या चाय मुफ्त मिलेगी।

अटैविक में शौचालय की सीट, उपकरण से मासिक पास की सुविधा भी है

स्मार्ट टॉयलेट हाउसैटिक है। फिटिंग्स की सीट अपने आप खुल जाती है और उपयोग करने के बाद खुद ही फ्लश होकर बंद हो जाएगी। स्मार्ट शौचालय के उपयोग के लिए मोबाइल उपकरणों से भी मासिक पास की सुविधा रहेगी। इससे आम जनता के साथ ही बस स्टेशन व्यावसायिक क्षेत्र के व्यापारियों को स्वच्छ शौचालय के साथ ही चाय, काफी की सुविधा मिलेगी। प्राप्त हो सकेगी।

दिव्यांगों व महिलाओं के लिए अलग व्यवस्था

स्मार्ट टॉयलेट में महिला, पुरुष और दिव्यांगों के लिए अलग से एक-एक शौचालय का इंतजाम है। टॉयलेट को कैफे के पीछे के हिस्से में बनाया गया है। तो शौचालय का उपयोग करने में किसी को भी झिझक नहीं होगी। स्मार्ट कैफे में चाय काफ़ी के अलावा पानी की बॉटल, बेक के सामान और अन्य खाद्य सामग्री कम से कम रेट्रो पर मिलेंगी। स्मार्ट शौचालय में एसटीपी (सिवेश ट्रीटमेन्ट प्लांट) का प्रावधान है। शौचालय से निकलने वाले साथ को उपचारित किया जा सकेगा। तारों को कभी भी दुर्गंध नहीं रहेगी।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments