Home कैरियर दुनिया को कोविड-19 वैक्सीन सप्लाई करने पर डॉ. हर्षवर्धन बोले-विनिर्माण का बड़ा...

दुनिया को कोविड-19 वैक्सीन सप्लाई करने पर डॉ. हर्षवर्धन बोले-विनिर्माण का बड़ा केन्द्र बन रहा भारत


भारत को विश्व की फार्मेसी कहा जाता रहा है.

COVID-19 India: भारत में विश्व में सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान जारी है और तेज गति से आगे बढ़ रहा है तथा अब तक एक करोड़ से अधिक डोज़ दी गई हैं. उन्होंने यह भी कहा कि भारत को अक्सर विश्व की फार्मेसी कहा जाता रहा है. लेकिन अब वह कोविड-19 वैक्सीन के विनिर्माण का विश्व में बड़ा केन्द्र बनकर उभर रहा है.

नई दिल्ली. केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवारकल्याण मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन (Dr. Harsh Vardhan) ने कोविड-19 महामारी पर नियंत्रण के लिए सरकारी प्रयासों का सराहना की है. भारत कोविड-19 (COVID-19) से संबंधित विभिन्न मानदंडों के अनुरूप बेहतर काम करने में कामयाब रहा है. हमने विश्व भर में लगातार न्यूनतम मृत्यु दर और उच्चतम रिकवरी दर बनाए रखी.

स्वास्थ्य मंत्री ने वैज्ञानिकों के योगदान का उल्लेख करते हुए कहा, कि हमारे वैज्ञानिकों ने बेहतर कार्य किया है और उन्होंने 24 घंटे परिश्रम करते हुए हमें दो वैक्सीन दिए जिन्हें भारत में बनाया गया और इन्हें देश में आपात उपयोग के लिए मंजूरी दी गई है.

भारत में विश्व में सबसे बड़ा टीकाकरण (Vaccine) अभियान जारी है और तेज गति से आगे बढ़ रहा है तथा अब तक एक करोड़ से अधिक डोज़ दी गई हैं. उन्होंने यह भी कहा कि भारत को अक्सर विश्व की फार्मेसी कहा जाता रहा है. लेकिन अब वह कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) के विनिर्माण का विश्व में बड़ा केन्द्र बनकर उभर रहा है.

डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि कोविड-19 (COVID-19) के प्रबंधन के लिए पूरा ध्यान देकर हमारी सरकार ने अन्य आवश्यक स्वास्थ्य सेवाएं सुनिश्चित करने में कोई कमी नहीं आने दी. इस बारे में विभिन्न नीतिगत हस्तक्षेपों  और टेली-मेडिसिन सेवा जैसी प्रौद्योगिकी के उपयोग ने प्रमुख भूमिका निभाई. हमारे ई-संजीवनी प्लेटफॉर्म ने कम अवधि में 10 लाख डॉक्टर-रोगी परामर्श रिकॉर्ड किए.केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जन-आरोग्य योजना (PM-JAY) तथा आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना (Atamnirbhar Swasth Bharat Yojana) जैसे दूरगामी कार्यक्रमों के जरिए अब हम अपनी स्वास्थ्य व्यवस्था की नीतियों में सकारात्मक परिवर्तन कर रहे हैं. राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग, नर्सिंग आयोग विधेयक और संबंधित स्वास्थ्यकर्मी पेशेवर राष्ट्रीय आयोग विधेयक से नई सोच को आकार मिल रहा है.

उन्होंने कहा कि भारत में मेडिकल कॉलेजों के विस्तार और स्वास्थ्य ढांच के पुनर्गठन के लिए महत्वाकांक्षी योजनाएं बनाई गई हैं. हम निरंतर देश में स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाने की व्यवस्था को अत्यंत सक्रिय बनाने के लिए काम कर रहे हैं.

केन्द्रीय मंत्री ने भारतीय मूल के चिकित्सकों के वैश्विक संघ (GAPIO) द्वारा आयोजित वैश्विक भारतीय चिकित्सक कांग्रेस को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संबोधित किया.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments