Home उत्तर प्रदेश देवरिया पहुंची मिस इंडिया रनरअप: मान्या सिंह का गांव में फूल बरसाकर...

देवरिया पहुंची मिस इंडिया रनरअप: मान्या सिंह का गांव में फूल बरसाकर स्वागत हुआ, अपने स्कूल में छात्रों से कहा- सपने देखना न देखा जाए


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

देवरिया43 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

मिस इंडिया रनरअप बनने के बाद मान्या सिंह पहली बार देवरिया आई थी। इस दौरान उनका जोरदार स्वागत हुआ।

  • मान्या सिंह विक्रम विशुनपुर गांव की रहने वाली, मां ने कहा- बच्चों का सहारा बनना चाहिए

फेमिना मिस इंडिया की रनरअप मान्या सिंह बुधवार को अपने गृह जनपद देवरिया पहुंचीं। जहां उनका जगह-जगह फूल-मालाओं से स्वागत किया गया। एक तरफ जहां मान्या इतनी बड़ी उपलब्धि हासिल करने के बाद पहली बार अपने गांव पहुंची थीं तो लोग उन्हें बीच पाकर काफी खुश नजर आए। वह अपने कॉलेज में भी गई, जहां से उन्होंने हाईस्कूल पास किया था। कॉलेज में मान्या ने बच्चों को खूब पढ़ाई कर आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया।

मान्या सिंह का पुष्पवर्षा से हुआ स्वागत।

मान्या सिंह का पुष्पवर्षा से हुआ स्वागत।

कोई भी बात नामुमकिन नहीं: मान्या सिंह
मान्या सिंह देवरिया में विक्रम विशुनपुर गांव की रहने वाली हैं। रामपुर गौनरिया चौराहे पर लोगों ने उन पर पुष्प वर्षा कर उनका स्वागत किया। इसके बाद वे लोहिया इंटर कॉलेज गए। जहां वे बच्चों से हाथ जोड़कर उन्हें गले से लगाए। मान्या सिंह ने लोहिया इंटर कॉलेज से दसवीं की परीक्षा पास की थी। मान्या ने कहा कि शिक्षा एक ऐसी शस्त्र है, जो पूरी जिंदगी आपके साथ रहने वाला है। इसलिए पढ़ाई पर ध्यान दें और सपने देखें और। मेहनत करना। कोई बात नहीं नामुमकिन नहीं है। खुद पर भरोसा रखने वाला रख, यही मैंने किया और आज यहां पर हूं।

बेटी पर पुष्पवर्षा देख अभिभूत हुई माँ
इस दौरान बेटी मान्या को लोगों से मिल रहे स्नेह को देखकर उनकी मां मनोरमा देवी काफी खुश नजर आईं। उन्होंने कहा कि हम खुले नज़र से सपने देख रहे हैं। भगवान करे वह और ऊंचाई तक पहुंचे। हमारी आर्थिक स्थिति खराब थी। लेकिन बच्चों से यह कभी नहीं कहना चाहिए कि हम गरीब हैं। मेरे पास पैसा नहीं है ऐसा कहने से बच्चे टूट जाते हैं। बच्चों का सहारा बनना चाहिए। मैंने भी वही किया है।

मान्या सिंह ने अपने स्कूल के बच्चों को मेहनत से पढ़ने की प्रेरणा दी।

मान्या सिंह ने अपने स्कूल के बच्चों को मेहनत से पढ़ने की प्रेरणा दी।

बच्चे बोले- पढ़ाई में गरीबी नहीं आती
वहीं स्कूल के बच्चों का कहना है कि मान्या दीदी हमारे लिए एक प्रेरणा हैं। उन्हें यही सिखाया गया है कि पढ़ाई में गरीबी का कोई मतलब नहीं है। वहीं स्कूल प्रबंधक अनिल सिंह ने कहा कि हम मान्या को इसीलिए स्कूल लाए हैं कि बच्चो में उत्साह होगा। मेरी स्कूल से निकली बहन आगे रही है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments