Home देश की ख़बरें देश में नए कोरोना के मरीज बढ़े: ब्रिटेन की उड़ानों पर रोक...

देश में नए कोरोना के मरीज बढ़े: ब्रिटेन की उड़ानों पर रोक 7 जनवरी तक बढ़ाई गई, कोरोना का नया तनाव अब तक 20 मरीजों को मिला


  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • यूके कोरोनावायरस भारत तनाव नवीनतम समाचार अपडेट | कोरोनोवायरस स्ट्रेन के लिए 20 यूके रिटर्न्स टू इंडिया टेस्ट पॉजिटिव

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली30 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

देश में ब्रिटेन में मिले खतरनाक कोरोनावायरस से पीड़ित रोगियों की संख्या 20 हो गई है। बुधवार को 13 नए मरीज मिले। ये किस प्रदेश से हैं यह साफ नहीं हो पाया है। कल मिले सात रोगियों में से 1-1 यूपी, टीएम, आंध्रप्रदेश और तेलंगाना, जबकि तीन कर्नाटक के हैं। इस बीच सरकार ने ब्रिटेन जाने वाली आने वाली उड़ानों पर रोक 7 जनवरी तक बढ़ा दी है। पहले 22 दिसंबर की आधी रात से 31 दिसंबर तक यह रोक लगाई गई थी।

किस अस्पताल की जांच में, कितने मरीजों में नई स्थिति मिली

लैब कुल टेस्ट किस्सों में नया तनाव मिला
एनसीडीसी दिल्ली 14 8
NIMHANS बेंगलुरु 15 7
CCMB हैदराबाद 15 2
एनआईवी पुणे 50 1
एनआईबीजी कियानी 7 1
जीआईबी दिल्ली 6 1

आइसोलेशन सेंटर से हर महिला में नई स्ट्रेन मिली

ब्रिटेन से लौटी आंध्र प्रदेश की एक महिला में कोरोना का नया स्ट्रेन मिला है। 21 दिसंबर को दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरने के बाद उसे आइसोलेशन सेंटर भेजा गया था। वहाँ से भागकर वह विशेष ट्रेन से अपने घर राजमुंदरी पहुंची थी। महिला के साथ उसका बेटा भी था हालांकि, बेटे की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।

9 से 22 दिसंबर के बीच देश लौटे टाइपों की जीनोम सीक्वेंसिंग जरूरी है
नए स्ट्रेन के मामले सामने आने के बाद केंद्र सरकार समीक्षा मोड में आ गई है। स्वास्थ्य मिनिस्ट्री ने मंगलवार को बताया कि 9 से 22 दिसंबर के बीच भारत आए इंटरनेशनल एक्सपेंजर्स, जो सिम्प्टोमैटिक या संस्थानों पाए गए हैं, उनकी जीनोम सीक्वेंसिंग अनिवार्य होगी।

33 हजार मरीज हाल ही में ब्रिटेन से आए थे
25 नवंबर से 22 दिसंबर के बीच ब्रिटेन से लगभग 33 हजार यात्री भारत आए। इनमें से अब तक 114 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। ये केरल, आंध्र, गोवा, गुजरात, कर्नाटक, तेलंगाना, हिमाचल और पंजाब में हैं। सभी संक्षेपण में हैं। इधर, मध्यप्रदेश में ब्रिटेन से लौटे 372 यात्रियों के सैंपल लिए गए हैं। इनमें से पांच सैंपल दिल्ली भेजे गए हैं। ये सैंपल भोपाल के एक, इंदौर के दो और ग्वालियर-जबलपुर के एक-एक पॉजिटिव यात्रियों के हैं।

जीनोम सिक्वेंसिंग क्या है?
जीनोम सीक्वेंसिंग किसी वायरस की पूरी जानकारी है, जिसमें वायरस का पूरा डेटा होता है। वायरस क्या है? कैसा लग रहा है? इसकी जानकारी जीनोम में मिलती है। वायरस के बड़े समूह को जीनोम कहा जाता है। वायरस के बारे में जानने की पूरी को जीनोम सीक्वेंसिंग कहा जाता है। इसी के माध्यम से कोरोना के नए स्ट्रेन के बारे में पता लगाया जा रहा है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments