Home मध्य प्रदेश धार्मिक पर्यटन: 116 करोड़ से बनेगी जिले की सड़कें, ओरछा हेरिटेज सिटी...

धार्मिक पर्यटन: 116 करोड़ से बनेगी जिले की सड़कें, ओरछा हेरिटेज सिटी में शामिल हैं

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

टीकमगढ़35 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

जिले में उद्योग जगत को छोड़कर स्थानीय लोगों को आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ाने के साथ-साथ ओरछा पर्यटन नगरी को यूनेस्को ने हेरिटेज सिटी में शामिल किया है। टीकमगढ़ जिले की इस बार के बजट में मेडिकल कॉलेज सहित लोगों की सुविधाओं के हिसाब से उद्योग कारोबार पर नजर थी, लेकिन ऐसा कुछ अस्वीकार नहीं हुआ।

स्वास्थ्य के लिए लोगों को महानगरों की ओर जाना पड़ेगा। साथ ही बुंदेलखंड का पिछड़ा जिला होने पर यहां के सबसे ज्यादा लोग मजदूरी के लिए पलायन करते हैं। इसके लिए सरकार गंभीर नजर नहीं आई। कोरोना को देखते हुए आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ावा देने के लिए सरकार बजट में शामिल किया गया है। बजट सत्र में जिले में सबसे ज्यादा नवीन सड़कों की स्वीकृति दी गई है। जिले की सड़कें दुरुस्त होने से लोगों को आने जाने में सुविधाएं बढ़ेगी।

सबसे ज्यादा खर्च टीकमगढ़-झांसी मार्ग से धरमपुरा खुरई से वाया उत्तरी कारी से भगवंतपुरा खेरा वाया गोर कैलागुवां उप्र सीमा तक सड़क निर्माण में 14 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इसके अलावा बल्देवगढ़-टीकमगढ़ मुख्य मार्ग पर ज्यादातर जाम लगने से यहां लंबे समय से बायपास की जरूरी थी। जिसको बनाने के लिए स्वीकृति दी गई है। यह विंध्यवासिनी मंदिर से होते हुए निकलेगा।

बल्देवगढ़ बायपास मार्ग 13 करोड़ रुपये की लागत से बनाया जाएगा। इसके अलावा उत्तरप्रदेश की सीमा से जोड़ने के लिए जनून ग्राम से 6 करोड़ की लागत से पुल निर्माण होगा। निवाड़ी रेलवे स्टेशन चुरारा मार्ग से मुदरा एनएच 39 बायपास मार्ग 6 करोड़ से निर्माण होगा। उनके लिए जल्द ही टेंडर प्रक्रिया शुरू होगी। वही ओरछा को यूनेस्को ने विश्व हेरिटेज सिटी का मामला प्रचलन में है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments