Home देश की ख़बरें नई दिल्ली: राजनीति सेवा का काम है, राबर्ट वाड्रा पहले उन किसानों...

नई दिल्ली: राजनीति सेवा का काम है, राबर्ट वाड्रा पहले उन किसानों के बारे में सोचें, जिनकी जमीन हड़पें: पंजाब सरकार


राबर्ट वाड्रा ने जयपुर में गुरुवार को गणेश मंदिर में विधि-विधान से पूजा की थी, जिस पर भाजपा ने तंज कसा है।

भाजपा नेता अलका गुर्जर ने राबर्ट वाड्रा को नसीहत देते हुए कहा है कि राजनीति सेवा का काम है और वाड्रा इसे नहीं करेंगे। बीजेपी की राष्ट्रीय मंत्री ने कहा कि वाड्रा को पहले उन किसानों की भलाई के बारे में सोचना चाहिए, जिनकी उन्होंने जमीनें हड़प ली हैं।

  • News18Hindi
  • आखरी अपडेट:26 फरवरी, 2021, दोपहर 12:31 बजे IST

नई दिल्ली। बीजेपी की राष्ट्रीय मंत्री अलका गुर्जर ने रॉबर्ट वाड्रा को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि राबर्ट वाड्रा राजनीति में आते हैं, लेकिन उन्हें यह समझना होगा कि राजनीति सेवा का काम है और उन्हें उन किसानों की भलाई करने के बारे में कुछ सोचना चाहिए, जिनकी जमीनें हड़प लीं। मूल में, बीकानेर जमीन स्कला मामले में राबर्ट वाड्रा पेशी पर आरक्षित आए हैं और इस बीच उन्होंने वहां के एक मंदिर को भी ले लिया। बता दें कि गुरुवार को पेशी पर जयपुर पहुंचे रॉबर्ट वाड्रा ने गणेश मंदिर में दर्शन कर विधि विधान से पूजा अर्चना की और भगवान से आशीर्वाद लिया था।

अलका गुर्जर ने कहा कि ‘यह अच्छी बात है कि रॉबर्ट वाड्रा को परेशानी के समय देव दर्शन का समय मिल गया
हो गया। जहां तक ​​राजनीति में आने की बात कर रहे हैं तो राजनीति सेवा का काम है। उन्हें यह बात समझनी चाहिए। रेटेड पेशी के लिए आए हैं और वह उस पेशी के लिए आए हैं। जिसमें बीकानेर के किसानों की जमीन हड़पने के लिए हैं। पहले उन किसानों की भलाई के बारे में वाड्रा को कुछ सोचना चाहिए। राजनीति सेवा का काम है, परिवार को आगे बढ़ाने के लिए और जो गलत काम किए हैं। उसको बचाने के लिए राजनीति में आना चाहते हैं तो जनता सब देख रही है। कांग्रेस ने देश को बर्बाद किया है यह देश की जनता देख रही है।

रेटेड सरकार के पक्ष से मथुरा के रेप पीड़िता को दी जा रही सहायता पर अलका गुर्जर ने कहा कि राजस्थान में कानून में कानून नहीं है। अपराधियों की शरणस्थली है। महिला अपराध में नाराज नम्बर एक पर है। रेटेड में पीड़ित-माँ बेटी ने राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु की माँग करती है। सरकार उनकी कोई सुध नहीं ले रही। और अशोक गेहलोत आप पड़ोसी राज्य में सहायता भेजकर राजनीति कर रही है। अशोक गेहलोत यह घृणित काम है। जो राजनीति का विषय नहीं उसमें भी राजनीति करना गलत है, जनता सब कुछ समझ रही है। उन्होंने बजट में सिर्फ घोषणाओं की हैं, चार उप चुनाव होने की घोषणा की हैं। यह जनता अच्छे से समझ रही है और वह उपचुनाव में दिखेंगे।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments