Home मध्य प्रदेश नकली कत्थे की फैक्ट्री पर छापा: जीजा-साले 5 साल से बना रहे...

नकली कत्थे की फैक्ट्री पर छापा: जीजा-साले 5 साल से बना रहे थे प्रोडक्ट, 1 करोड़ रुपए की सलाना कमाई, 10 लाख का समान कमाई


विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इंदौर7 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

पानल कम्पाउण्ड लसूड़िया मोरी में देवास नाका इंदौर में बालाजी इंडस्ट्रीज फैक्ट्री में अवैध रूप से नकली कत्थे का निर्माण किया जा रहा है। फैक्ट्री में खैर लकड़ी की जगह अमानक पाउडर और अन्य रसायनल अवयवों का उपयोग कर मशीनों से कत्था बनाया जा रहा है। नकली कत्थे को पैक कर महाराष्ट्र जलगांव, राजस्थान, कटनी, जबलपुर, गुना और ग्वालियर सहित अन्य क्षेत्रों में सप्लाई किया जा रहा है। क्राइम ब्रांच इंदौर टीम को यह सूचना मुखबिर तंत्र से मिली थी के सूचना के बाद क्राइम ब्रांच इंदौर की टीम ने फूड एंड ड्रग के साथ संयुक्त कार्रवाई करते हुए फैक्ट्री पर छापामार, जहां बेहद गंदगी के माहौल में खैर की जगह रसायनल पाउडर की प्रयोग कर की मशीनें हैं। से कत्थे का निर्माण कर उसकी छपाई की जा रही थी। वही फैक्ट्री से 6 पेटी अवैध देशी शराब भी बरामद हुई है, घटनास्थल के आसपास चोरी छिपे इसकी बिक्री भी की जाती है। टीम को मौके पर संचालक नीरज कुमार पिता सुरेन्द्र कुमार माहेश्वरी (49) निवासी शक्ति नगर कनड़िया उपस्थित मिले।

रसायनल को मिलाकर बना रहे थे नकली कत्था
छापामार टीम ने बताया कि आरोपी ट्राईटलांटिक डाई ऑक्साइड, पोटेशियम मेटाबिसल्फेट, रिमोलियम, माईक्रोन्यूज्ड आदि रसायन पदार्थों के सम्मिश्रण कर अमानक मिलावटी और नकली सतथा बनाया जा रहा था। आरोपी ने बताया कि पिछले 05 वर्षों से इस प्रकार के मिलावटी कत्था बनाकर वह कई राज्यों में खपा रहा था। फैक्ट्री का पूर्वानुमान टर्नओवर एक करोड़ रुपए वार्षिक है।

फैक्ट्री से 10 लाख रुपए की सामग्री बरामद
आरोपी ने बताया कि वह इस प्रकार के पाउडर को रतनागिरी महाराष्ट्र से खरीदता था और कभी-कभी खैर की लकड़ी के साथ सम्मिश्रण कर भी कत्था बनाता था। ज्यादा मात्रा में उत्पादन करने के लिए समृद्धोलियम और पोटेशियम मेटाबिसल्फेट को मिलाता था। फैक्ट्री से लगभग 10 लाख रुपए कीमत की सामग्री बरामद की गई। जिसमें पेस्ट केआउटच, बोतल और डिब्बे आदि कई प्रकार की फिल्टर के करीबन 300 कार्टून सहित बड़ी मात्रा में बिना माल बरामद हुआ है।

बहार पेस्ट नाम से माल सप्लाय किया जाता है
पलार टीम ने बताया कि नकली कत्था बहार पेस्ट नाम से माल सप्लाई किया जाता था। फैक्टरी में लाखों रुपए कीमत की मशीने लगी हैं। फैक्ट्री मालिक और संचालक जीजा-साले हैं। फैक्ट्री से मिला सभी माल फा और मिलावटी है। खाद्य एवं औषधि विभाग की टीम ने सैंपल के लिए, जिनकी जांच रिपोर्ट के आधार पर वर्तमान में संचालक को हिरासत में लेकर थाना लसूड़िया में प्रकरण दर्ज करवाया है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments