Home मध्य प्रदेश नेताजी सुभाष चंद्र बोस: राष्ट्रवाद और युवा सरोकार विषय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी...

नेताजी सुभाष चंद्र बोस: राष्ट्रवाद और युवा सरोकार विषय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी पांच मार्च को, नेताजी के भतीजे और केरल के राज्यपाल अतिथि होंगे


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जबलपुरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिस्ट

नेताजी की 125 वीं जयंती पर जबलपुर में राष्ट्रीय संगोष्ठी में लाउंज होंगे नेताजी के भतीजे।

  • 125 वीं जयंती पर नेताजी को लेकर जबलपुर में आयोजित किया जा रहा है विविध कार्यक्रम
  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र, संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार का आयेाजन

शहीद स्मारक सभा भवन, गोलबाजार, जबलपुर में पांच मार्च को ‘नेताजी सुभाष चंद्र बोस: राष्ट्रवाद और युवा सरोकार’ विषय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन होगा। इस संगोष्ठी में नेताजी के भतीजे चंद्र कुमार बोस लाउंज के रूप में शामिल होंगे। केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान मुख्य अतिथि होंगे।

नेताजी की 125 वीं जयंती पर आयोजित इस संगोष्ठी में मेजर जनरल जीडी बख्शी, प्रो.कपिल कुमार (दिल्ली), डॉ.राघव शरण शर्मा (बनारस), एस प्रेमानंद शर्मा (मन्नूर), देवेंद्र शर्मा (जयपुर) और रवींद्र बाजपेई (जबलपुर) शामिल हैं। हैं। इसके अलावा सिंगापुर से मनीष त्रिपाठी वर्ग अपनी बात रखेगा।

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान।

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान।

केरल के राज्यपाल करेंगे राष्ट्रीय संगोष्ठ का उद्धरणाटन
इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र के बेट्सी जबलपुर निवासी आलोक जैन ने बताया कि नेताजी की 125 वीं जयंती के उपलक्ष्य में इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र, संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार के तत्वावधान में आयोजित इस एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का उद्धाटन पांच मार्च को सुबह 10 बजे से होगा। केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान के मुख्य आतिथ्य में होगा। केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रहलाद पटेल की सर्वोच्च इच्छा।
दो वैचारिक सत्र के साथ प्रदर्शनी का भी आयोजन
विभागाध्यक्ष संरक्षण विभाग और कार्यक्रम के प्रभारी स्थिर पंड्या ने बताया कि प्रथम सत्र में ‘युवाओं के प्रेरणास्रोत नेताजी विषय पर सुबह 11.30 से दोपहर 12.30 बजे तक व्याख्यान होंगे। इसके बाद दोपहर दो से तीन बजे तक ‘नेताजी का राष्ट्रवाद विषय पर देश के प्रतिष्ठित लाउंज अपनी बात रखेंगे। दो वैचारिक सत्रों के बाद समापन सत्र दोपहर साढ़े तीन से साढ़े चार बजे तक आयोजित होगा। राष्ट्रीय संगोष्ठी के अलावा प्रो.कपिल कुमार के निर्देशन में नेताजी सुभाष चंद्र बोस के व्यक्तित्व-कृतित्व पर केंद्रित प्रदर्शनी का भी आयोजन किया जाएगा।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments