Home देश की ख़बरें पश्चिम बंगाल चुनाव में भाजपा उम्मेदवारों के नाम दिलली से तय होंगे:...

पश्चिम बंगाल चुनाव में भाजपा उम्मेदवारों के नाम दिलली से तय होंगे: दिलीप घोष


पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष। (फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनावों (पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव) में भाजपा (भाजपा) ने हर सीट पर 4-5 नाम चयनित किए हैं, लेकिन केंद्रीय चुनाव समिति की दिलनाली में होने वाली बैठक में उम्मेदवारों के बारे में अंतिम फैसला होगा। ऐसी उम्मी है कि बृहस्पतिवार को 60 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम तय किए जाएंगे।

कलक। पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष (दिलीप घोष) ने बुधवार को कहा कि पार्टी की राज्य इकाई ने राज्य के विधानसभा चुनाव (पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव) के विजेताओं को दो चरणों में हर सीट पर औसतन 4-5 नामों को छांटा है और इनमें से अंतिम नाम पर निर्णय चार मार्च को होगा। कौन सा उम्मीदवार किस सीट से चुनाव लड़ेगा इस पर अंतिम निर्णय लेने वाली पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति (सीईसी) की बृहस्पतिवार को नई दिल्ली में बैठक होगी जिसमें 60 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम तय किए जाएंगे।

पश्चिम बंगाल में 27 मार्च और एक अप्रैल को क्रमशः: पहले और दूसरे चरण के विधानसभा चुनावों में 30-30 सीटों पर चुनाव होने हैं। दूसरे चरण में जिन सीटों पर चुनाव होना है उनमें तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और प्रदेश की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की नंदीग्राम विधानसभा सीट भी आती है। घोष ने कहा, “हमें अपनी जिला इकाइयों से पहले दो चरणों के लिए 120-140 नाम प्राप्त हुए हैं। उनके अलावा सैकड़ों और नाम हैं। हमने 20-25 नाम प्रत्येक सीट के लिए रखे और उनमें से हर सीट के लिए 4-5 नाम छांटे। कुछ और नाम हटाए जाएंगे और उसके बाद, पार्टी नेतृत्व को अंतिम नाम तय करना है। ”

ये भी पढ़ें मिशन बंगाल के लिए बीजेपी का मेगा प्लान, पीएम मोदी की होगी तार्थतोड़ रैलियां

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “यह दर्शाता है कि समाज के विभिन्न वर्गों के लोग हमसे जुड़ने को लेकर बेहद इच्छुक हैं।” बंगाल के चुनाव में टीएमसी और भाजपा के बीच कड़े की अपेक्षा जताई जा रही है। ये चुनाव 27 मार्च से 29 अप्रैल के बीच आठ चरणों में होंगे। मतगणना दो मई को होनी चाहिए। यह भी पढ़ें पश्चिम बंगाल चुनाव 2021: क्या बंगाल के रण में ममता बनर्जी को मात दे देंगे ‘हिंदू हृदय सम्राट’?

प्रदेश भाजपा के सूत्रों के मुताबिक पार्टी ने हाल में हुई अपनी कोर समिति की बैठक के दौरान कई युवा चेहरों और पेशेवरों को खड़ा करने का फैसला किया है। पूर्व मंत्री राजीव बनर्जी और शुभेंदु अधिकारी सहित तृणमूल कांग्रेस से भगवा दल का दामन थामने वाले 19 विधायकों को उनके पुराने विधानसभा क्षेत्रों से ही टिकट दिए जाने के अलावा पार्टी द्वारा बंगाली फिल्म जगत से जुड़े कई लोगों को भी टिकट देने की उम्मीद है।

सूत्रों ने कहा कि घोष को खड़गपुर सदर सीट से खड़ा किए जाने की चर्चा है जिस पर उन्होंने 2016 में जीत हासिल की थी। हालांकि उन्होंने 2019 में गोपीबल्लुपुर लोकसभा सीट से चुनाव जीतने के बाद विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। बाद में खड़कपुर सीट पर हुए उपचुनाव के दौरान भाजपा उम्मीदवार को टीएमसी उम्मीदवार से शिकस्त झेलनी पड़ी थी। पार्टी हालांकि अभी भी इस बात को लेकर दुविधा में है कि अधिकारी को नंदीग्राम सीट से खड़ा किया जाए या नहीं। पिछले साल दिसंबर में रिजफा देकर भाजपा में शामिल होने से पहले वह इस सीट से विधायक थे। भाजपा 2019 के लोकसभा चुनावों में पश्चिम बंगाल की 42 में से 18 सीटों पर जीत हासिल करने वाले सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस की मुख्य प्रतिद्वंद्वी बनकर उभरी हैं। राज्य में पिछले कुछ वर्षों में भाजपा का प्रभाव बढ़ा है और उसके नेताओं को दावा है कि वे ममता बनर्जी के 10 सालों के शासन का इस विधानसभा चुनाव में अंत कर देंगे।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments