Home उत्तर प्रदेश पुरातन छात्रों ने अपना अनुभव साझा किया

पुरातन छात्रों ने अपना अनुभव साझा किया


स्कूल, एसडीएम, छात्र, बीएसए, कोविद 19
– फोटो: बांदा

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनना

बबेरू / ओरन। प्राथमिक व पूर्व प्राथमिक विद्यालयों में मंगलवार को आयोजित कार्यक्रम में पुरातन छात्रों को सम्मानित किया गया। सीनियर छात्रों के अनुभव साझा किए गए। प्राथमिक विद्यालय (अधोना) में उप जिलाधिकारी महेंद्र प्रताप, पूर्व माध्यमिक विद्यालय (औगासी) में तहसीलदार विपिन कुमार, पूर्व माध्यमिक विद्यालय (काजीटोला) में खंड शिक्षाधिकारी कैलाश सिंह ने पुरातन छात्रों को मंडल पहनाकर सम्मानित किया।
उच्च प्राथमिक विद्यालय, मुंशीपुरवा (बिसंडा) में जिला विद्यालय निरीक्षक विनोद कुमार ने पुरातन छात्र हरिओम, दीनदयाल, रोशनी, अराधना, शिवदेवी, अभिलाषा, अंजू, सुमन को सम्मानित किया। प्रधानाध्यापक आशा गौतम, सहायक अध्यापक पुरुषोत्तम द्विवेदी आदि मौजूद रहे। उधर, कोरोना काल के बाद पहली मार्च को खुले परिषदीय स्कूलों में बच्चों के शिक्षकों ने रोली-चंदन का टीका लगाया। विद्यालयों को फूल, गुब्बारों आदि से खिलौने गया था। खंड शिक्षाधिकारी ने बताया कि स्कूलों में शासन की गाइडलाइन के अनुसार अभिभावकों की अनुमति से 50 प्रति बच्चों को बुलाया जा रहा है। इस मौके पर एडीओ अनिल कुमार, सचिव सत्येंद्र सिंह आदि मौजूद रहे।

बबेरू / ओरन। प्राथमिक व पूर्व प्राथमिक विद्यालयों में मंगलवार को आयोजित कार्यक्रम में पुरातन छात्रों को सम्मानित किया गया। सीनियर छात्रों के अनुभव साझा किए गए। प्राथमिक विद्यालय (अधोना) में उप जिलाधिकारी महेंद्र प्रताप, पूर्व माध्यमिक विद्यालय (औगासी) में तहसीलदार विपिन कुमार, पूर्व माध्यमिक विद्यालय (काजीटोला) में खंड शिक्षाधिकारी कैलाश सिंह ने पुरातन छात्रों को मंडल पहनाकर सम्मानित किया।

उच्च प्राथमिक विद्यालय, मुंशीपुरवा (बिसंडा) में जिला विद्यालय निरीक्षक विनोद कुमार ने पुरातन छात्र हरिओम, दीनदयाल, रोशनी, अराधना, शिवदेवी, अभिलाषा, अंजू, सुमन को सम्मानित किया। प्रधानाध्यापक आशा गौतम, सहायक अध्यापक पुरुषोत्तम द्विवेदी आदि मौजूद रहे। उधर, कोरोना काल के बाद पहली मार्च को खुले परिषदीय स्कूलों में बच्चों के शिक्षकों ने रोली-चंदन का टीका लगाया। विद्यालयों को फूल, गुब्बारों आदि से खिलौने गया था। खंड शिक्षाधिकारी ने बताया कि स्कूलों में शासन की गाइडलाइन के अनुसार अभिभावकों की अनुमति से 50 प्रति बच्चों को बुलाया जा रहा है। इस मौके पर एडीओ अनिल कुमार, सचिव सत्येंद्र सिंह आदि मौजूद रहे।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments