Home फ़िल्मी दुनिया प्रकाश जावड़ेकर बोले, ओटीटी प्लेटफार्मों के नियमन के लिए जल्द ही जारी...

प्रकाश जावड़ेकर बोले, ओटीटी प्लेटफार्मों के नियमन के लिए जल्द ही जारी करेंगे


नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने वेब सीरीज (वेब ​​सीरीज) के योगदान के बारे में बढ़ते विवाद का स्थायी समाधान करने का फैसला किया है। केंद्र सरकार जल्द ही ओटीटी प्लेटफॉर्म (ओटीटी प्लेटफॉर्म) और ऑनलाइन स्ट्रीमिंग कंटेंट का नियमन की व्यवस्था करने जा रही है। जल्द ही उनके रेगुलेशन की गाइडलाइंस जारी कर दी जाएगी।

केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (प्रकाश जावड़ेकर) ने रविवार को कहा कि मंत्रालय जल्द ही ओवर द टॉप (ओटीटी) प्लेटफार्मों के लिए दिशा-निर्देश जारी करेगा, क्योंकि यहां उपलब्ध कुछ सीरीज के खिलाफ बहुत सारी शिकायतें मिली हैं। हाल ही में ‘तांडव’ वेब सीरीज, मिर्जापुर वेब सीरीज और ओटीटी पर रिलीज की गई फिल्म ‘ए सूक्तिबल बॉय’ को लेकर विवाद इतना बढ़ गया था कि उनके खिलाफ कई मुकदमे दर्ज करा दिए गए।

जावड़ेकर ने मीडियाकर्मियों से कहा कि, ‘हमें ओटीटी प्लेटफार्मों (ओटीटी प्लेटफार्मों) पर उपलब्ध कुछ वेब सीरीजों के खिलाफ बहुत सारी शिकायतें मिली हैं। ओटीटी प्लेटफार्मों पर रिलीज फिल्में और सीरियल्स, डिजिटल समाचार पत्र, केबल टेलीविजन नेटवर्क्स (रेगुलेशन) एक्ट या सेंसर बोर्ड के दायरे में नहीं आते हैं। ‘ जल्द ही इन सबके नियमन के लिए कुछ दिशा-निर्देश जारी किए जाएंगे।

मंत्री ने यह भी घोषणा की है कि 1 फरवरी से सिम्माहॉलों में पूरी सीट भरने की अनुमति दे दी गई है, लेकिन इसके साथ ही कोविड -19 से संबंधित सभी प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। ओटीटी प्लेटफार्मों पर सामग्री ने हाल ही में कई विवादों को जन्म दिया है, जिसके कारण विवाद हुआ है और इन कार्यक्रमों के निर्माताओं को लाभ मिल है।

ओटीटी कंटेंट के विवाद पर दर्ज किए गए ढेर सारे मुकदमे हैं
उत्तर प्रदेश के लखनऊ, ग्रेटर नोएडा और शाहजहाँपुर में तीन एफआईआर दर्ज की गई हैं। मध्य प्रदेश में दो शैमिकी दर्ज की गई, जबकि एक आलमिकी कर्नाटक और बिहार में दर्ज की गई है। ओटीटी पर प्रसारित सामग्री के बारे में एफआईआर के अलावा, कम से कम तीन अन्य आपराधिक शिकायतें क्रमशः महाराष्ट्र, दिल्ली और चंडीगढ़ में विभाजित हैं।

‘तांडव’ वेब सीरीज में प्रधानमंत्री की भूमिका निभाने वाले एक एक्टर पर उत्तर प्रदेश पुलिसकर्मियों, भगवान के कथित अनुचित चित्रण के लिए एफआईआर दर्ज की गई है। इससे पहले, बॉम्बे हाईकोर्ट ने ‘तांडव’ वेब सीरीज के डायरेक्टर अली अब्बास ज़फर, निर्माता हिमांशु मेहरा, लेखक गौरव सोलंकी और पुरोहित को पंडित प्री-हेस्ट ज़िशन दी थी। इन लोगों के खिलाफ लखनऊ में एक मामला दर्ज किया गया है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments