Home कैरियर फर्टिलाइजर कंपनियों को इसी महीने मिलेगा सब्सिडी का पूरा बकाया! टेक्सटाइल्स सेक्टर...

फर्टिलाइजर कंपनियों को इसी महीने मिलेगा सब्सिडी का पूरा बकाया! टेक्सटाइल्स सेक्टर को GST में मिल सकती है राहत


फर्टिलाइजर कंपनियों को खाद सब्सिडी का पूरा बकाया भुगतान जल्‍द कर दिया जाएगा

फर्टिलाइजर, फुटवेयर, फर्नीचर और टेक्‍सटाइल कंपनियों के लिए अच्छी खबर है. फर्टिलाइजर कंपनियों (Fertilizer Companies) के सब्सिडी पेमेंट में जहां तेजी (Subsidy Payments) आई है, वहीं बाकी को वस्‍तु व सेवा कर (GST) में बड़ी राहत की उम्‍मीद बन रही है.

नई दिल्‍ली. केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Modi Government) कोरोना संकट के कारण आर्थिक चुनौतियों का सामना कर रहे सेक्‍टर्स को उबारने की हरसंभव कोशिश कर रही है. इसी कड़ी में अब फर्टिलाइजर (Fertilizer), फुटवियर (Footwear), फर्नीचर (Furniture) और टेक्सटाइल्स (Textile) कंपनियों के लिए अच्छी खबर है. दरअसल, केंद्र सरकार फर्टिलाइजर कंपनियों को मार्च 2021 के आखिर तक खाद सब्सिडी (Fertilizer Subsidy) का पूरा बकाया भुगतान कर सकती है. बता दें कि फर्टिलाइजर कंपनियों को अब तक सब्सिडी का 86 फीसदी भुगतान किया जा चुका है.

फरवरी 2021 में किया था 19 हजार करोड़ रुपये का भुगतान
फर्टिलाइजर कंपनियों को खाद सब्सिडी के भुगतान में काफी तेजी आई है. फरवरी 2021 में कंपनियों को 19,000 करोड़ रुपये सब्सिडी का भुगतान (Subsidy Payments) किया गया है. सीएनबीसी-आवाज़ को सूत्रों से मिली जाजानकारी के मुताबिक, अब मार्च 2021 में करीब 21,000 करोड़ रुपये का सब्सिडी भुगतान करने की तैयारी है. कारोबारी साल में अब तक कुल आवंटन का 86 फीसदी सब्सिडी भुगतान हो चुका है. सब्सिडी के 136 करोड़ रुपये में से करीब 117 करोड़ रुपये बकाया दिया जा चुका है. सबसे ज्यादा 75 फीसदी सब्सिडी यूरिया बनाने वाली कंपनियों को मिली है. ज्यादा सब्सिडी पाने वाली कंपनियों में आरसीएफ (RCF), चंबल फर्टिलाइजर (Chambal Fertilizer), जुआरी ग्‍लोबल (Zuari Global), कोरोमंडल (Coromandal), यूपीएल (UPL) और इफको (IFFCO) शामिल हैं.

ये भी पढ़ें- Gold Price Today: सोने के दाम में तेजी, फिर भी 46 हजार से बना हुआ है नीचे, चांदी हुई महंगी, देखें लेटेस्‍ट भावकच्‍चे माल पर भारी जीएसटी से कारोबार में आ रहीं दिक्‍कतें

केंद्र सरकार फुटवेयर, फर्नीचर और टेक्सटाइल्स सेक्टर को भी बड़ी राहत दे सकती है. जीएसटी काउंसिल (GST Council) की बैठक में इन तीनों उद्योगों से जुड़ी कंपनियों को वस्‍तु व सेवा कर में राहत की उम्‍मीद है. सूत्रों के मुताबिक, सरकार का इनवर्टेड ड्यूटी स्ट्रक्चर दुरुस्त करने पर जोर है. कच्चे माल पर भारी जीएसटी से कारोबार में दिक्कतें आ रही हैं. फुटवेयर के कच्चे माल पर 12 फीसदी से 18 फीसदी जीएसटी लगता है. फिलहाल 1000 से कम के फुटवियर पर 5 फीसदी जीएसटी है. सरकार इसमें राहत दे सकती है.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments