Home देश की ख़बरें फारुख अब्दुल्ला के खिलाफ PIL खारिज: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- सरकार की...

फारुख अब्दुल्ला के खिलाफ PIL खारिज: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- सरकार की राय से अलग विचार रखना राजद्रोह नहीं; पिटीशनर्स पर 50 हजार रुपए का जुर्माना


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली2 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

धारा 370 हटाने के खिलाफ फारुख अब्दुल्ला के बयानों पर आपत्ति जताते हुए उनके खिलाफ जनहित याचिका दायर की गई थी– फाइल फोटो।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि सरकार की राय से अलग विचारों को राजद्रोह नहीं कहा जा सकता है। जस्टिस किशन कौल और हेमंत गुप्ता की बेंच ने यह कमेंट जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला के खिलाफ दायर जनहित याचिका (PIL) को खारिज करते हुए किया। यह पीआईएल जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के खिलाफ अब्दुल्ला के बयानों को लेकर दायर की गई थी। पिटीशन में कहा गया कि अब्दुल्ला ने देश के खिलाफ बयान दिया था, इसलिए उन्हें संसद से हटा देना चाहिए।

कोर्ट ने अब्दुल्ला के खिलाफ दायर अर्जी खारिज करते हुए साथ ही पिटीशनर्स पर 50,000 रुपए का दबाव भी लगाया है। पिटीशनर रजत शर्मा और कुछ अन्य लोग फारुख अब्दुल्ला के खिलाफ कोर्ट पहुंचे थे। उन्होंने दावा किया कि अब्दुल्ला ने धारा 370 हटाने के खिलाफ चीन और पाकिस्तान से मदद मांगने की बात कही थी।

कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि फारुख अब्दुल्ला ने एक टीवी इंटरव्यू में कहा था कि चीन की मदद से कश्मीर में धारा 370 फिर से लागू की जाएगी। हालाँकि उनकी पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस (NC) ने इस दावे को खारिज कर दिया था।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments