Home उत्तर प्रदेश फिर खंगाली जाने लगी माफिया की कुंडली, गुर्गों की भी बन रही...

फिर खंगाली जाने लगी माफिया की कुंडली, गुर्गों की भी बन रही लिस्ट


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

* सिर्फ ₹ 299 सीमित अवधि की पेशकश के लिए वार्षिक सदस्यता। जल्दी से!

ख़बर सुनता है

पिछले कुछ महीनों में ताथतोड़ कार्रवाई करने के बाद जिला पुलिस ने एक बार फिर माफिया की कुंडली खंगालने में जुट गई।]पंचायत चुनावों के मद्दनेजर न सिर्फ निशान माफिया, बल्कि उनके सहयोगियों के सक्रिय सदस्यों व अन्य गुर्गों की भी मौजूदा गतिविधियों की जानकारी जुटाई जा रही है।

पंचायत चुनाव के संबंध में पुलिस की ओर से तैयारी शुरू कर दी गई है। जिसके तहत आपराधिक छवि वाले लोगों पर विशेष नजर रखी जा रही है। चुनाव में किसी तरह का खलल न हो और यह शांतिपूर्वक संपन्न हो, इसके लिए माफिया की कुंडली नए सिरे से खंगाले जाने का काम शुरू हो गया है। जिले के चार निशान माफिया के साथ ही पंजीकृत गिरोहों व उनके सक्रिय सदस्यों की मौजूदा गतिविधियों की जानकारी जुटाई जा रही है।

समूह के मददगारों का भी पता लगाया जा रहा है। पता लगाया जा रहा है कि अपराधियों की मौजूदा गतिविधियां क्या हैं। वह जेल में हैं या फिर जमानत पर हैं। जमानत पर छूटने केबाद उनकेखिलाफ कहीं कोई शिकायत लंबित है या नहीं। देहात क्षेत्र केसभी थाना प्रतिद्वंद्वियों को निर्देशित कर इस संबंध में जानकारी मांगी गई है।

पंचायत चुनाव के नोडल अफसर एसपी क्राइम आशुतोष मिश्रा ने बताया कि माफिया के साथ ही उनके गुर्गों पर दर्ज मुकदमे, उनकी वर्तमान स्थिति और अन्य गतिविधियों की जानकारी नए सिरे से जुटाई जा रही है। ऐसे लोगों की सूची बनाई जा रही है जिससे पंचायत चुनाव में खलल की आशंका है। पाबंद करने सहित अन्य कार्रवाई केसाथ ही उनके खिलाफ जिला बदर की भी कार्रवाई की जाएगी।

26 तने हैं
पुलिस अफसरों ने बताया कि पंचायत चुनाव का असर जिले के 27 थाना क्षेत्रों में होना है। ये मुख्यत: यमुनाप व गंगापार केथाने शामिल हैं। सभी थानों में निशान माफिया के अलावा गुंडा, गैंगस्टर के आरोपितों की सूची नए सिरे से बनवाई जा रही है।

पिछले कुछ महीनों में ताथतोड़ कार्रवाई करने के बाद जिला पुलिस ने एक बार फिर माफिया की कुंडली खंगालने में जुट गई।]पंचायत चुनावों के मद्दनेजर न सिर्फ निशान माफिया, बल्कि उनके सहयोगियों के सक्रिय सदस्यों व अन्य गुर्गों की भी मौजूदा गतिविधियों की जानकारी जुटाई जा रही है।

पंचायत चुनाव के संबंध में पुलिस की ओर से तैयारी शुरू कर दी गई है। जिसके तहत आपराधिक छवि वाले लोगों पर विशेष नजर रखी जा रही है। चुनाव में किसी तरह का खलल न हो और यह शांतिपूर्वक संपन्न हो, इसके लिए माफिया की कुंडली नए सिरे से खंगाले जाने का काम शुरू हो गया है। जिले के चार निशान माफिया के साथ ही पंजीकृत गिरोहों व उनके सक्रिय सदस्यों की मौजूदा गतिविधियों की जानकारी जुटाई जा रही है।

समूह के मददगारों का भी पता लगाया जा रहा है। पता लगाया जा रहा है कि अपराधियों की मौजूदा गतिविधियां क्या हैं। वह जेल में हैं या फिर जमानत पर हैं। जमानत पर छूटने केबाद उनकेखिलाफ कहीं कोई शिकायत लंबित है या नहीं। देहात क्षेत्र केसभी थाना प्रतिद्वंद्वियों को निर्देशित कर इस संबंध में जानकारी मांगी गई है।

पंचायत चुनाव के नोडल अफसर एसपी क्राइम आशुतोष मिश्रा ने बताया कि माफिया के साथ ही उनके गुर्गों पर दर्ज मुकदमे, उनकी वर्तमान स्थिति और अन्य गतिविधियों की जानकारी नए सिरे से जुटाई जा रही है। ऐसे लोगों की सूची बनाई जा रही है जिससे पंचायत चुनाव में खलल की आशंका है। पाबंद करने सहित अन्य कार्रवाई केसाथ ही उनके खिलाफ जिला बदर की भी कार्रवाई की जाएगी।

26 तने हैं

पुलिस अफसरों ने बताया कि पंचायत चुनाव का असर जिले के 27 थाना क्षेत्रों में होना है। ये मुख्यत: यमुनाप व गंगापार केथाने शामिल हैं। सभी थानों में निशान माफिया के अलावा गुंडा, गैंगस्टर के आरोपितों की सूची नए सिरे से बनवाई जा रही है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments