Home कैरियर फेक न्यूज़ एक्सपोज़: एकाउंटेंट, एलडीसी, ऑपरेटर और नर्स के 12 हजार पदों...

फेक न्यूज़ एक्सपोज़: एकाउंटेंट, एलडीसी, ऑपरेटर और नर्स के 12 हजार पदों पर सरकारी नौकरी देने का दावा कर रही वेबसाइट, पड़ताल में फर्जी निकली


  • Hindi News
  • No fake news
  • Fact Check: Website Claiming To Give Government Jobs In The Positions Of Accountant, LDC, Computer Operator, And Nurse, Found Fake

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

3 महीने पहले

  • कॉपी लिंक

क्या हो रहा है वायरल : नौकरी का एक नोटिफिकेशन सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। ये नोटिफिकेशन स्वास्थ्य एवं जनकल्याण संस्थान ने जारी किया है। दावा है कि एकाउंटेंट, डेटा एंट्री ऑपरेटर, यूडीसी समेत 10 तरह के कुल 12435 पदों पर भर्ती की जा रही है। नोटिफिकेशन जारी करने वाली संस्था को सरकारी बताया जा रहा है। यही वजह है कि बड़ी संख्या में कैंडिडेट्स इसे सरकारी नौकरी का विज्ञापन मानकर आवेदन कर रहे हैं, और फीस भी भर रहे हैं।

नोटिफिकेशन देखने के लिए यहां क्लिक करें
आवेदन करने के लिए जनरल कैटेगरी के कैंडिडेट्स से 500 रुपए फीस भी ली जा रही है। आरक्षित कैटेगरी के स्टूडेंट्स को फीस में छूट दी गई है।

स्वास्थ्य एवं जन कल्याण संस्थान की ऑफिशियल वेबसाइट पर दावा किया गया है कि इसकी स्थापना केंद्र सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने की है। सोशल मीडिया पर कई स्टूडेंट यूजर नौकरी के इस नोटिफिकेशन की सत्यता जांचने के लिए पोस्ट कर रहे हैं।

और सच क्या है?

  • भारत सरकार की ऑफिशियल वेबसाइट्स के यूआरएल के अंत में gov.in लिखा होता है। लिहाजा इस वेबसाइट के यूआरएल से ही स्पष्ट हो रहा है कि ये सरकारी नहीं है।
  • पड़ताल के दौरान हमें सोशल मीडिया पर कुछ स्टूडेंट्स की शिकायतें भी मिलीं। जिनमें बताया जा रहा है कि वेबसाइट पर फीस भरने के बाद एप्लीकेशन प्रोसेस आगे ही नहीं बढ़ती।
  • केंद्र सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ऑफिशियल वेबसाइट चेक करने पर हमें ऐसा कोई अपडेट नहीं मिला। जिससे पुष्टि होती हो कि हाल में नौकरी का कोई नोटिफिकेशन जारी हुआ है।
  • केंद्र सरकार के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पीआईबी फैक्ट चेक से ट्वीट कर इस वेबसाइट को फर्जी बताया जा चुका है।
  • इन सबसे साफ है कि स्वास्थ्य एवं जनकल्याण संस्था केंद्र सरकार के अंतर्गत काम नहीं करती। जैसा कि वेबसाइट पर दावा किया जा रहा है। ये संस्था जिन पदों पर भर्ती का दावा करके कैंडिडेट्स से फीस वसूल रही है, वह पद भी सरकारी नहीं हैं।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments