Home तकनीक और ऑटो फेसबुक, ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के लिए सरकार ने सख्त नियम...

फेसबुक, ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के लिए सरकार ने सख्त नियम बनाए हैं, व्हाट्सएप पर सबसे ज्यादा असर पड़ेगा


सोशल मीडिया पलेटफॉर्मास के लिए जारी नई गाइडलाइन्स

सरकार ने सोशल मीडिया के लगभग सभी पीलेटलेटोर्मास के लिए नई गाइडलाइंस जारी कर दी गई है। नई गाइडलाइंस के दायरे में फेसबुक, सैटेलाइट, वाट्सएप जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्सस और नेटफ्लिकस, ऐमजॉन प्राइम, हिटलर जैसे ओटीटी पीलेटफॉर्मास आएंगे।

  • News18Hindi
  • आखरी अपडेट:26 फरवरी, 2021, सुबह 9:50 बजे IST

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की ओर से गुरुवार को सोशल मीडिया के लगभग सभी पीलीटॉर्फार्मस के लिए नई गाइडलाइंस जारी कर दी गई है। नई गाइडलाइंस के दायरे में फेसबुक, ट्विटर, वाट्सएप जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्सस और नेटफ्लिकस, ऐमजॉन प्राइम, हेलिस्टार जैसे ओटीटी पीलेटलेटोर्मास आएंगे। सरकार की ओर से इस संबंध में दिशानिर्देश तैयार किए गए हैं और जल्द ही उन्हें लागू किया जाएगा। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, रविशंकर प्रसाद ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उनके बारे में जानकारी दी।

सोशल मीडिया के लिए जारी की गई नई गाइडलाइन्स
नई गाइडलाइंस के मुताबिक, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को किसी को भी आपत्तिजनक कंटेंट की शिकायत होने पर उसे 36 घंटे के भीतर डिलीट करना होगा। साथ ही डिजिटल मीडिया को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की तरह ही सेल्फ रेगुलेशन करना होगा। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का भारत में व्यापार करने का स्वागत है, सरकार आलोचना के लिए तैयार है।

तीन महीने में लागू नए नियम होंगेसोशल मीडिया के लिए जो गाइडलाइन्स जारी की गई हैं, वो 3 महीने में लागू कर दी जाएंगी। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि आपके पास शिकायत आई है तो उसको रजिस्टर करना और उसका निकास करना आपकी जिम्मेदारी है। यदि आप इसका पालन नहीं करते हैं तो आईटीएक्ट में जो व्यवस्था है उसके तहत कार्रवाई होगी।

ये भी पढ़ें: नेटफ्लिक्स-अमेजन प्राइम पर रेटिंग के आधार पर दिखाए जाएंगे कॉन्टेंट, सरकार ने बनाया नियम

सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि भारत में सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या 140 करोड़ है। ये नए नियम उपयोगकर्ता की संख्या के आधार पर और सख्त होंगे।

भारत में इन प्लेटफॉर्म पर बहुत उपयोगकर्ता हैं
WhatsApp – 53 करोड़
YouTube – 44 करोड़
फेसबुक – 41 करोड़
इंस्टाग्राम – 21 करोड़
ट्विटर – 1.75 करोड़

24 घंटे में दर्ज शिकायत की जाएगी
प्रसाद के मुताबिक, सोशल मीडिया बिचौलियों के लिए शिकायत अधिकारी नियुक्त करना होगा। उन्हें 24 घंटे के भीतर शिकायतें दर्ज कर 15 दिनों के भीतर समस्या का समाधान करना होगा। प्लेटफॉर्म्स को भारत में अपने नोडल ऑफिसर, रेजिडेंट ग्रीवांस ऑफिसर की तैनाती करनी होगी। इसके अलावा हर महीने कई शिकायतों पर एक्शन हुआ, इसकी जानकारी देनी होगी।

ये भी पढ़ें: क्रेडिट कार्ड: क्रेडिट कार्ड की सीमा बढ़ानी चाहिए, जानें फायदे और नुकसान

यूजर्स का परिवर्तन भी आवश्यक है
प्रेस कॉन्फ्रेंस में रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर करने जा रहे कंटेंट को लेकर गाइडलाइन्स बनाने के लिए कहा था। निर्देश के आधार पर भारत सरकार ने इसको लेकर गाइडलाइन्स तैयार की हैं। रविशंकर प्रसाद बोले कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स को यूजर्स का वेरिफेकशन करना चाहिए, फिर भी सरकार इसमें हस्तक्षेप नहीं करेगी बल्कि प्लेटफॉर्म्स को ये खुद करना चाहिए।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments