Home देश की ख़बरें बंगाल चुनाव में प्रशांत किशोर की एंट्री: ममता के रणनीतिकार बोले- यह...

बंगाल चुनाव में प्रशांत किशोर की एंट्री: ममता के रणनीतिकार बोले- यह चुनाव देश में लोकतंत्र बचाने की लड़ाई, भाजपा के लिए 10 सीटों पर जीतना भी मुश्किल है


  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • पश्चिम बंगाल चुनाव 2021 समाचार और अपडेट | प्रशांत किशोर ने कहा कि बंगाल चुनाव देश में लोकतंत्र को बचाने के लिए है

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कलक4 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर पश्चिम बंगाल में टीएमसी की जीत के लिए रणनीति तैयार कर रहे हैं।

पश्चिम बंगाल चुनाव में ममता बनर्जी के लिए काम कर चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने शनिवार सुबह सोशल मीडिया पर अपनी रणनीति का खुलासा किया। प्रशांत किशोर ने लिखा कि देश में लोकतंत्र बचाने के लिए बंगाल का चुनाव बेहद महत्वपूर्ण है।

प्रशांत किशोर ने चुनाव अभियान के लिए TMC के क्लोगन का फोटो भी शेयर किया। इसमें बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की फोटो के साथ एक नारा लिखा है- बंगला प्राइवेटर मेय की चेन यानी बंगाल को केवल उसकी अपनी बेटी पर भरोसा है।

प्रशांत किशोर ने 21 दिसंबर को किए एक ट्वीट के बारे में भी याद दिलाया। तब उन्होंने दावा किया था कि बंगाल में भाजपा दहाई के आंकड़े से आगे नहीं बढ़ पाएगी। प्रशांत किशोर ने शनिवार को कहा कि 2 मई को नतीजे आने के बाद आप मेरे पिछले ट्वीट पर बात कर सकते हैं।

TMC छोड़ने वाले नेताओं ने प्रशांत पर लगाए गए आरोप थे
प्रशांत किशोर ने पिछले साल बिहार चुनाव के बीच में ममता बनर्जी के लिए चुनाव प्रचार का काम संभाला था। इसके बाद से ममता की पार्टी TMC छोड़ने वाले नेताओं ने बार-बार प्रशांत किशोर के काम करने के तरीकों पर सवाल उठाए थे। ज्यादातर ने भाजपा में शामिल होने के बाद कहा कि टीएमसी में प्रशांत किशोर ने पूरी बगडोर संभाल ली है।

ममता बनर्जी और उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी पर किशोर का इतना प्रभाव है कि पार्टी में पुराने नेताओं की सुनी नहीं जा रही है। थल में राज्यसभा में टीएमसी छोड़ने का ऐलान करने वाले दिनेश त्रिवेदी ने आरोप लगाया है कि प्रशांत किशोर के लोग उनके इंटरनेट हैंडल से ट्वीट करते हैं। थे। त्रिवेदी ने कहा- मेरे ट्विटर हैंडल से प्रधानमंत्री और राज्यपाल जैसे संवैधानिक पद पर बैठे लोगों पर आपत्तिजनक टिप्पणियाँ की गई।

चुनाव से जुड़े हर फैसले में प्रशांत किशोर का दखल
बंगाल में इस बार सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी के बीच कड़ा मुकाबला है। प्रशांत किशोर टीएमसी की जीत के लिए रणनीति तैयार कर रहे हैं। न सिर्फ नेताओं के चयन, बल्कि कई नेताओं के भाजपा में शामिल होने के बाद पार्टी में बगावत रोकने की जिम्मेदारी भी उन्हें दी गई है। इस समय ममता बनर्जी के सामने सबसे बड़ी चुनौती पार्टी से दूर होने के साथ वोटरों को रोकने की है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments