Home ब्लॉग बजट बिगाड़ू महंगाई: भारत इंक को कीमत बढ़ाने पर मजबूर कर रहा...

बजट बिगाड़ू महंगाई: भारत इंक को कीमत बढ़ाने पर मजबूर कर रहा है।


विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

7 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

फ्यूल एक्सपायर होने से कई सेक्टर की मैन्युफैक्चरिंग कॉस्ट बढ़ रही है, जिससे उपभोक्ताओं को ज्यादा कीमत चुकाना पड़ रहा है। आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने भी गुरुवार को कहा था कि विदेशी फ्यूल लागत बढ़ाने वाला होगा। पिछले कुछ महीनों में ट्रक भाड़ा 10-12% तक बढ़ा है और ज्यादातर रिपोर्टरों और संबंधित कंपनियों में माल भाड़े को लेकर सुलझाने वाली हो रही है।

कोविड -19 के बाद से डीजल का मूल्य 65 गुना 30% से बहुत बढ़ा

एमजी मोटर इंडिया जैसी कंपनियों की कीमत बढ़ाने के बारे में सोच रही हैं। एमजी मोटर के प्रेसिडेंट और एमडी राजीव छाबा ने कहा, ‘कारों की लागत में 2-2.5% का हिस्सा माल भाड़े का होता है। लेकिन समुद्री भाड़े में उछाल और ट्रक भाड़े में 10-12% की वृद्धि के कारण हमें कारों की कीमत 2-3% तक बढ़ाना पड़ेगा। ‘ कंपनी वर्तमान में संकायों के साथ सहायक करने वाली है। ट्रक वालों की लागत का लगभग 45% हिस्सा फुल का होता है। कोविड -19 के बाद से फुल का मूल्य 65 गुना में 30% से ज्यादा बढ़ा है।

माल भाड़ा 15-20% नहीं तो तो ट्रकर इंडस्ट्री को बड़ी मुश्किल होगी

लॉजिस्टिक स्टार्टअप रिविगो के एक्टिवर और सीर्इओक गर्ग के मुताबिक माल भाड़ा बहुत है। इसमें 15-20% तक की कमी नहीं आने वाली ट्रकर इंडस्ट्री को बड़ी मुश्किल होगी। अमेजन इंडिया और फ्लिपकार्ट जैसी ई-टेलर्स के साथ काम करने वाली ईकॉम एक्सप्रेस के मालिक और सीईओ टीए कृष्णन के मुताबिक, कॉस्ट बढ़ाने के लिए ईकॉमर्स कंपनियों से बात चल रही है।

पार्टनर का पेमेंट बढ़ाएंगी स्विगी, नया पेमेंट स्ट्रक्चर प्राप्त करना

मामले के जानकार सूत्र ने कहा है कि ऑनलाइन फूड ऑफरिंग फर्म स्विगी अपने नोट पार्टनर के लिए नए पेमेंट स्ट्रक्चर को अंतिम रूप दे रही है। जोमातो ने गुरुवार को कहा था कि वह नोट पार्टनर को फुल की बढ़ी लागत झेलने में मदद के लिए उनकी पेमेंटएगी करेगी। लेकिन क्या बढ़ी लागत का बोझ कस्टमर पर डाला जाएगा यह देखने वाली बात होगी।

कच्चे माल और प्याज की लागत बढ़ने से कुल लागत में इजाफा हो रहा है

फुल के दाम में वृद्धि के साथ बेहिसाब माल वगैरह एक्सप्रेस होने से ज्यादातर कंपनियों की लागत बढ़ी है। पार्ले प्रॉडक्ट्स के हेड हेड मयंक शाह के मुताबिक, कच्चे माल और आंख की लागत बढ़ने से कुल लागत में इजाफा हो रहा है। शाह कहते हैं, ‘मैटीरियल पेट प्रॉडक्ट्स से निकलते हैं। उसकी कीमत बढ़ने से प्रॉफिट में कमी आ रही है। वर्तमान में हम हालात पर नजर रख रहे हैं। लेकिन कीमत घटने नहीं तो प्रॉडक्ट का दाम बढ़ा देंगे। ‘

5-7% के बीच प्रॉडक्ट का मूल्य बढ़ा सकता है

पार्ले प्रॉडक्ट्स में 5-7% के बीच मूल्य वृद्धि हो सकती है। शाह के मुताबिक, ‘कोई कीमत नहीं बढ़ाना चाहता है क्योंकि सभी मांग में सुधार चाहते हैं। लेकिन अगर लागत जल्द नहीं बढ़ती है तो कंपनियां अगले दो महीने में मूल्य बढ़ाने पर मजबूर हो जाएंगी। ‘ डीजल का दाम जुलाई 2020 के बाद से 11.3% बढ़ा है जिसके कारण माल भाड़े में इजाफा हुआ है।

एक रुपये प्रति किलो बढ़ी हुई सब्जियों और सब्जियों की ढुलाई की लागत

खेत से घर तक सामान पहुंचाने वाली सप्लाई चेन कंपनी वेकुलर कंपनियों के मुताबिक, फ्यूल एक्सपायरिंग से पैरों और सब्जियों की ट्रैकिंग की लागत एक रुपये प्रति किलो बढ़ गई है। कंपनी के को-एक्टिवर कार्तिक जयरमन के मुताबिक, ‘खेत से शहरी केंद्रों तक फसल लाने का खर्च 55 पैसे प्रति किलो और गोदाम से रिटेल सेंटर पर ले जाने का खर्च लगभग 25 पैसे प्रति किलो बढ़ा है।’

ज्यादा सतर्कता खरीदने वाले फैमिली का बिल 1-2% बढ़ सकता है

जयरमन कहते हैं, ‘शुरुआत में लॉजिस्टिक्स पार्टनर ने लागत में वृद्धि का बोझ संभाल लिया। लेकिन कॉस्ट 10-15% बढ़ने पर उनसे बात करनी चाहिए। जो लोअर मिडिल क्लास फैमिली के घर ज्यादा सतर्कताएं आती हैं, उनका बिल 1-2% बढ़ सकता है। वर्तमान में तो महंगाई ज्यादा नहीं चुभेगी लेकिन हालात नहीं बदले तो बजट बिगड़ जाएगा। ‘

एटीएफ । मूल्य वृद्धि है एयर बुकिंग भी हो गई है 30% जब तक

एयर कंडीशनिंग भी महंगी हो गई है क्योंकि एयरलाइन कंपनियों की लागत में फुल का हिस्सा 40% होता है। 1 जून 2020 को दिल्ली के टी 3 पर 1000 लीटर जेट फुल की कीमत 26,860 रुपये जबकि मुंबई टर्मिनल पर 26,456 रुपये थी। 1 जनवरी 2021 को टी 3 पर 1000 लीटर जेट फुल का रेट 40,783 रुपए और मुंबई में 39,267 रुपए था। लेकिन इसकी कीमत तब से बहुत अधिक बढ़ गई है। इसके चलते दिल्ली से मुंबई के बीच एक तरफ का किराया बिना जीएसटी 3,500-10,000 रुपए से बढ़कर 3,900-13,000 रुपए हो गया है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments