Home देश की ख़बरें बजट सत्र से पहले योगी काउंटर का विस्तार तय, 6 नए चेहरे...

बजट सत्र से पहले योगी काउंटर का विस्तार तय, 6 नए चेहरे होंगे शामिल, मंत्री बन सकते हैं अरविंद शर्मा


योगीजल का विस्तार होगा। (फाइल)

योगी मंत्रिमंडल विस्तार: नए मंत्रियों के लिए विधानसभा में कक्ष भी तैयार किए जा रहे हैं। गुजरात कैडर के आईएएस रहे अरविंद शर्मा बड़ी जिम्मेदारी मिल सकते हैं।

  • News18Hindi
  • आखरी अपडेट:30 जनवरी, 2021, 11:44 PM IST

लखनऊ। बजट सत्र से पहले उत्तर प्रदेश में योगी मंत्रिमंडल (योगी मंत्रिमंडल) का विस्तार तय माना जा रहा है। छह नए मंत्रियों को इटली में शामिल किया जा सकता है। इसके साथ ही परफॉर्मेंस के आधार पर वैज्ञानिकों के अधिकारों में कटौती करने की भी अटकलें हैं। नए मंत्रियों के लिए विधानसभा में कक्ष भी तैयार किए जा रहे हैं। गुजरात कैडर के आईएएस रहे अरविंद शर्मा (अरविंद शर्मा) बड़ी जिम्मेदारी मिल सकते हैं।

चेतन चौहान और कमला रानी वरुण की मौत के बाद 2 काउंटरिस्ट्स सीट खाली हुई थी। जानकारी के मुताबिक, फरवरी के पहले सप्ताह 4 फरवरी को हो सकता है कालिया का विस्तार।

सरकार का बड़ा फैसला

गांव में घर है लेकिन उसका मालिकाना हक नहीं है। आज के समय के बाद पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर तैयार की गई योजना को पूरा किया गया ग्रामीण आबादी में बने घरों के असली मालिकों को मालिकाना हक देंगे। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केंद्र सरकार की इस योजना को अमली जामा पहनाने के लिए पूरे प्रदेश के 75 जिलों में सर्वे शुरू करा दिया है। विजेताओं के दौर में प्रत्येक जिले के 20-20 गांवों को चुना गया है जहां विकास शुरू किया गया है। खतौनी की तर्ज पर घरों के रिकार्ड के लिए घरौनी तैयार की जाएगी।ये भी पढ़ें: गणतंत्र दिवस की हिंसा: दिल्ली पुलिस को 1700 वीडियो क्लिप और सीसीटीवी फुटेज मिले

प्रदेश के सभी जिलों के 20-20 गांवों में उत्पत्ति योजना के तहत आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करते हुए डेवलपर शुरू करा दिया गया है। पहले चरण में वास्तविक ग्रामीण आबादी में मौजूदा सभी घरों, उनके क्षेत्र आदि का सर्वे कर घरों के मालिकों की सूची तैयार कर घरौनी बनाई जाएगी। इसके बाद सभी मतदाताओं की आप अधिकारियों का निस्तारण करने के बाद अंतिम रूप से मालिकाना अधिकार घोषित किया जाएगा। इसके अलावा ग्रामीण आबादी सभी घरों की नम्बरिंग की वसीयत में मौजूद है। इसका सबसे बड़ा फायदा पट्टीदारों के बीच विवाद समाप्त होने के साथ ही घरों का मालिकाना हक मिलने से उन पर बैंक लोन आदि भी मिल सकेगा।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments