Home उत्तर प्रदेश बांदा की बेटी के सिर में भारत प्रिसेंज का ताज

बांदा की बेटी के सिर में भारत प्रिसेंज का ताज


मैडल, लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे को अवकाश मवेशियों, बेटी, डॉक्टर, मिस्सा पेरणा द्वारा बनाया गया था
– फोटो: बांदा

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

* सिर्फ ₹ 299 लिमिटेड पीरियड ऑफर के लिए वार्षिक सदस्यता। जल्दी से!

ख़बर सुनता है

बांदा। बुंदेलखंड की बेटी ने सौंदर्य क्षेत्र में भी अपना परचम लहरा दिया। बॉलीवुड और नेटवर्किंग क्षेत्रों से आईं सुंदर श्रेणियों को मात देते प्रतियोगिता का दूसरा खिताब कांस्य पदक (क्राउन मेडल) के साथ जीता।
प्रदेश की राजधानी लखनऊ में दो दिवसीय मिस इंडिया ताज प्रतियोगिता का आयोजन एक ग्रुप ने किया था। इसमें देश के दिल्ली, मुंबई, आगरा, प्रयागराज सहित बॉलीवुड और मॉडल शामिल थे। बांदा से रिया रैकवार ने भाग लिया। वह यहाँ श्रेया रक्षकष इंस्ट्टीयूट की नृत्य छात्रा हैं। इस मॉडलिंग प्रतियोगिता में शासक ने शानदार प्रदर्शन किया, भारत सक्रिय प्रिसेंज का दूसरा खिताब जीता। उसे कांस्य पदक दिया गया। सिर पर चमकता ताज पहनाया गया। डॉयरेक्टरों में डॉ। नीमा पंत सहित कई सदस्य शामिल हैं।
प्रतियोगिता का खिताब जीतकर बुधवार को बांदा लौटी प्रमुख का श्रेया रूपश इंस्टीट्यूट में स्वागत हुआ। उन्होंने बताया कि उनके इस शौक को मां सुधा रैकवार ने पूरा सहयोग दिया। सुधा स्वयंसेवी संगठन चलातीं हैं। पिता चरित्र हैं। प्रधान ने बताया कि नेटवर्किंग और डांस का उसे बचपन से ही शौक और सपना था। उसकी तमन्ना मिस यूनिवर्स बनने की है। प्रधान ने बताया कि नेटवर्किंग में कैसे वॉक करना चाहिए? कै से उठना बैठना है और डाइट प्लान इत्यादि सब कुछ यू-ट्यूब से देखा। श्रेया इंस्ट्टीयूट की निर्देशक अंजू डेमेले उसे पूरा सपॉर्ट करती हैं।

बांदा। बुंदेलखंड की बेटी ने सौंदर्य क्षेत्र में भी अपना परचम लहरा दिया। बॉलीवुड और नेटवर्किंग क्षेत्रों से आईं सुंदर श्रेणियों को मात देते हुए प्रतियोगिता का दूसरा खिताब कांस्य पदक (क्राउन मेडल) के साथ जीता।

प्रदेश की राजधानी लखनऊ में दो दिवसीय मिस इंडिया ताज प्रतियोगिता का आयोजन एक ग्रुप ने किया था। इसमें देश के दिल्ली, मुंबई, आगरा, प्रयागराज सहित बॉलीवुड और मॉडल शामिल थे। बांदा से रिया रैकवार ने भाग लिया। वह यहां श्रेय रक्षाश इंस्ट्टीयूट की नृत्य छात्रा हैं। इस मॉडलिंग प्रतियोगिता में शासक ने शानदार प्रदर्शन किया, भारत सक्रिय प्रिसेंज का दूसरा खिताब जीता। उसे कांस्य पदक दिया गया। सिर पर चमकता ताज पहनाया गया। डॉयरेक्टरों में डॉ। नीमा पंत सहित कई सदस्य शामिल हैं।

प्रतियोगिता का खिताब जीतकर बुधवार को बांदा लौटी प्रमुख का श्रेया रूपश इंस्टीट्यूट में स्वागत हुआ। उन्होंने बताया कि उनकी इस शौक को मां सुधा रैकवार ने पूरा सहयोग दिया। सुधा स्वयंसेवी संगठन चलातीं हैं। पिता चरित्र हैं। प्रधान ने बताया कि नेटवर्किंग और डांस का उसे बचपन से ही शौक और सपना था। उसकी तमन्ना मिस यूनिवर्स बनने की है। प्रधान ने बताया कि नेटवर्किंग में कैसे वॉक करना चाहिए? कै से उठना बैठना है और डाइट प्लान इत्यादि सब कुछ यू-ट्यूब से देखा। श्रेया इंस्ट्टीयूट की निर्देशक अंजू डेमेले उसे पूरा सपॉर्ट करती हैं।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments