Home मध्य प्रदेश बेटी के लिए मांगा न्याय: इंजीनियर बेटी की मौत के बाद से...

बेटी के लिए मांगा न्याय: इंजीनियर बेटी की मौत के बाद से फरार आरोपी को जल्द गिरफ्तार करने की मांग, पिता बोले – ससुराल वाले कहते हैं शादी में 10 लाख खर्च हुए थे, उसने आ के बारे में

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इंदौर11 घंटे पहले

इंजीनियर मेघा गौड़ का शव 25 नवंबर 2020 को फंदे पर मिला था।

इंजीनियर मेघा गौड़ की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के बाद फरार चल रहे आरोपी की गिरफ्तारी की मांग करते हुए परिजन मंगलवार को आबादीुनवाई में पहुंचे। उन्होंने आवेदन देते हुए बेटी के मामा ससुर को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की। उनका कहना है कि मामा ससुर के कहने पर ही ससुरालवाले बेटी को दहेज में 10 लाख रुपए लाने के लिए प्रताप कर रहे थे। दहेज नहीं लाने पर उन्होंने ही बेटी को मारकर फंदे पर लटका दिया था। पुलिस ने परिजनों को बताया कि आरोपी पर 2 हजार का इनाम घोषित किया गया है। उसके बैंक खाते सीज कर दिए गए हैं। जल्द ही उनकी गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

नादिया नगर में रहने वाली गर्भवती महिला इंजीनियर मेघा गौड़ का शव 25 नवंबर 2020 को फंदे पर मिला था। मायके वालों का आरोप है कि उसके गले पर खून के निशान थे, उसकी हत्या की गई है। मां सरिता ने बताया कि 26 जनवरी 2018 को उसकी शादी सूरज गौड़ से हुई थी। सूरज, उसके पिता, मां, ननद और उसके मामा ससुर बालमुकंद गौड़ सहित अन्य उसे परेशान करते थे। कहते थे कि शादी में 10 लाख रुपए खर्च किए जाते हैं, जबकि लाकर दे। उसे धमकाते थे कि कभी पुलिस को शिकायत भी की जाए तो कुछ नहीं।

हमसे बात तक नहीं कर रहे थे

मां का कहना है कि शादी के दूसरे दिन से ही उसे प्रताडित किया जाना था। वे कहते हैं कि दहेज में हमें कुछ नहीं मिला। हार नहीं आई। चूड़ी पहनकर नहीं I धीरे-धीरे हमें बात करवाना बंद कर दिया। मोबाइल भी छीन लिया। हम तो उससे मिल भी नहीं थे। जैसे-तैसे मायके भेजना शुरू किया तो कहते थे कि 5 हजार के बारे में आते हैं, 10 हजार के बारे में आते हैं। इसके बाद 10 लाख रुपये तक मांग पहुंच गई। पति उसका कुछ नहीं करता था, हमें धोके में रखकर शादी की थी। मामा ससुर तो बेटी से कहता था कि तुम्हारा माता-पिता के साथ कुछ भी करवा दूंगा। तुम्हारा भाई-बहन का कैटर खराब करवा दूंगा। बेटी को अस्पताल में छोड़कर भाग गए थे, हमें तो अस्पताल से कॉल आया था।

मामा ससुर के कहने पर ही प्रताड़ित करते थे
मेघा के पिता महेश गौड़ का आरोप है कि पति और ससुराल वाले घर पर आते थे और रुपयों की डिमांड करते थे। बेटी को कहा था कि बेटा लॉकडाउन के कारण अभी तक परेशानी में है। धंधा शुरू हो जाएगा तो मैं व्यवस्था करूंगा। उन्होंने 10 लाख रुपये की डिमांड की थी। पिता का कहना है कि पूरे मामले में मुख्य षड़यंत्रकारी बालमुकुंद गौड़ था। उसकी कहने पर ही बेटी को प्रताद किया जाता था। अब तक चार लोगों को पकड़ा जा चुका है। वहीं, बालमुकुंद फरार है, हमें पता चला है कि वह बड़ौदा में है। वह कहता है कि मेरी बहुत पहुंच है, मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकता। वह रुपए के मामले से नाम हटवाने का कहना है। हमने पुलिस से कहा कि बालमुकुंद को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा। वह हमें धमका रहा है। पुलिस ने हमें बताया कि बैंक खाता सीज किए हैं। उस पर दो हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया गया है।

अक्टूबर में भी उसे भगा दिया था, थाने में राजीनामा कर साथ ले गए थे
मेघा के परिजनों की माने तो शादी के बाद समय-समय पर उन्होंने उन्हें भी दिया, लेकिन ससुरालों की भूख कम ही नहीं हो रही थी। ससुराल वालों ने शादी के कुछ समय बाद मेघा की नौकरी भी छुड़वा दी थी। वह जब भी निराशा में बात करता है तो उसे धमकाया जाता था। अक्टूबर में उसे घर से भगा दिया गया था। फिर उसने पुलिस को शिकायत की थी, तब पति व ससुराल वालों ने थाने में लिखकर दिया था कि अब उसे नहीं सताएंगे … यह वादा कर उसे साथ ले गए थे।

मामले में अब तक चार लोग पुलिस गिरफ्त में
परिजनों ने आरोप लगाया कि 25 नवंबर 2020 को मेघा की हत्या कर दी गई थी और उसे उसके ससुराल वाले निजी अस्पताल में छोड़कर भाग रहे थे। इस पूरे मामले में एमआईजी पुलिस ने पति, सास, ननद, मौसी सास और मामा ससुर बालमुकंद के खिलाफ मामला दर्ज किया था। मामले में अब तक चार आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं। वहीं, मेघा का मामा ससुर बालमुकुंद अब भी फरार है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments